बच्चों के मुंह में छाले को खत्म करने के घरेलू उपचार

Safe20

 

 

जब बच्चे छोटे होते हैं तो उनका ध्यान उनके माता पिता को रखना पड़ता है। जब बड़े बुजर्गो को किसी तरह की समस्या होती है तो वह अपनी समस्या के बारे में बता देते हैं। लेकिन छोटे बच्चे कुछ समस्याओं को समझ नहीं पाते जिनमें से एक है बच्चो के मुंह में छाले। अगर हम नवजात शिशुओं की  बात करें तो उन बच्चों को ऐसे में बहुत परेशानी होती है, इसे अंग्रेजी में ओरल थ्रश (Oral thrush) भी कहा जाता है। भले ही यह सामान्य लगे, लेकिन नवजात शिशु के लिए बहुत दर्दनाक हो सकता है।

 

आज हम आपको छोटे बच्चों के मुंह में छाले के घरेलू उपचार के बारे में ज्यादा से ज्यादा बातें बताने की कोशिश करेंगे। लेकिन आप इस बात का ध्यान रखें की इन उपायों का उपयोग डॉक्टर की सलाह पर ही किया जाना चाहिए

 

 

 

बच्चों के मुंह में छाले को खत्म करने के घरेलू उपचार

 

 

दही

 

जब बच्चों के मुंह में छालों का इलाज करना है तो आप दही या छाछ का इस्तेमाल भी कर सकते हैं। बच्चे को दही या छाछ से कुल्ला कराएं। यदि दही खट्टा है, तो छाला जल्द से जल्द ठीक हो जाएगा। दही में मौजूद अच्छे बैक्टीरिया कीटाणुओं को खत्म करने और फंगल संक्रमण को खत्म करने के लिए एक बहुत अच्छा उपचार है।

 

 

 

तुलसी

 

बच्चों के मुंह में छालों के उपचार के लिए तुलसी के एक पत्ता ही एक बेहतरीन उपचार हैं। दरअसल तुलसी में औषधीय गुण होते हैं, जो आपके बच्चे के मुंह के छालों को खत्म करने में मदद करते हैं। उपचार के लिए, अपने बच्चे को गुनगुने पानी के साथ तुलसी के पत्ते चबाने के लिए दें, ऐसा करने से उसे काफी आराम मिल जाएगा।

 

 

 

नारियल पानी

 

बच्चों के मुंह के छाले ठीक करने के लिए बच्चे को नारियल पानी दिया जा सकता है, ताकि उन्हें आराम मिले और जलन महसूस न हो। आप अपने बच्चे को पीने के लिए नारियल पानी दे या उसे नारियल के दूध से कुल्ला करने के लिए कह सकते हैं। अगर घर में नारियल नहीं है, तो छाले पर थोड़ा सा नारियल का तेल लगाएं। नारियल का तेल शिशुओं और 6 महीने तक के बच्चों के मुंह में छालों को खत्म करने के लिए विशेष रूप से बहुत फायदेमंद साबित होता है।

 

 

 

मुलैठी

 

यदि आपके बच्चे के मुंह में छाले हो रहे हैं तो यह पेट की बीमारी के कारण भी हो सकता है, तो ऐसे में आपको मुलैठी का पाउडर बहुत फायदा पहुँचा सकता है। मुलैठी के पाउडर को पानी और शहद में मिलाकर अपने बच्चे को दें, ऐसा करने से पेट साफ होता है और कुछ दिनों में मुंह के छाले भी ठीक हो जाते है।

 

 

 

नमक का घोल

 

यदि बच्चा बहुत दिनों से मुंह के छालों से परेशान है तो आप एक गिलास पानी में नमक या बेकिंग सोडा मिलाएं और अपने बच्चे को इस मिश्रण से कुल्ला करने को कहे। इस बात का ध्यान रखें कि कुल्ला करते समय बच्चे को इस मिश्रण को पीना नहीं है, क्योंकि उसे इससे जलन का अनुभव हो सकता है।

 

 

 

करी पत्ता

 

आपको बता दें की करी पत्ते में मौजूद एंटीबैक्टीरियल और एंटीफंगल गुण बच्चे के मुंह के छालों को प्रभावी रूप से ठीक कर सकते हैं। करी पत्ते को चबाने से मुंह के छालों में तुरंत आराम मिलने लगता है। दरअसल करी पत्ते में विटामिन ए, विटामिन बी, विटामिन सी और विटामिन ई जैसे तत्व होते हैं। अगर बच्चा विटामिन की कमी से पीड़ित है, तो करी पत्ते को अपने खाने में शामिल करने की कोशिश करें। यह उसके पूरे स्वास्थ्य के लिए अच्छा होगा।

 

 

देशी घी

 

मुंह में छाले वाले स्थान पर घी लगाना भी बहुत फायदेमंद होता है। खास बात यह है कि घी लगाने से बच्चे को कोई परेशानी नहीं होती है। ये इलाज बच्चों से लेकर बड़े तक करते हैं।

 

 

 

हल्दी और शहद

 

हल्दी में एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटीमाइक्रोबियल गुण होते हैं, जो किसी भी तरह के घाव को ठीक करने में सहायक होते है। अगर आपके बच्चे के मुंह में छाले हैं, तो हल्दी और शहद का पेस्ट बनाएं और इसे छाले पर लगाएं, उसे इससे बहुत आराम मिल जाएगा।

 

लहसुन

 

मुंह के छालों के लिए लहसुन बहुत फायदेमंद है। इसमें मौजूद एंटीफंगल गुण के कारण, इम्यूनिटी मुंह के बैक्टीरिया और फंगस को खत्म करके स्वस्थ रहने में मदद करता है। मुंह के छालों से छुटकारा पाने के लिए, लहसुन के तेल को बच्चे की जीभ पर लगाएं, इसके अलावा, कुछ लहसुन की कलियों को भी बच्चे को खिलाया जा सकता है।

 

 

 

रखें इन बातों का ध्यान

 

 

  • यदि आपका बच्चा बोतल से दूध पीता है, तो बोतल को अच्छी तरह से गर्म पानी से साफ करके रखें।

 

 

  • यदि बच्चे की माँ उसे स्तनपान कराती है, तो माँ को सबसे पहले सफाई का ध्यान रखना चाहिए । बच्चे को दूध पिलाने से पहले और बाद में निप्पल को अच्छी तरह से साफ करना चाहिए।

 

 

  • ज्यादातर बच्चे अक्सर खिलौने मुंह में लेते हैं। ऐसी स्थिति में बच्चों के खिलौने साफ़ नहीं होते हैं या वो नुकीले भी होते हैं जिससे उनके मुंह में चोट लग सकती है और वह बाद में छाले में भी बदल सकती है।

 

 

  • हमेशा इस बात का ध्यान रखें कि बच्चे को दूध पिलाने के बाद बच्चे के मुंह को साफ पानी से साफ जरूर करें।

 

 

 

ज्यादातर मामलों में, मुंह के घाव बिना किसी दुष्प्रभाव के अपने आप ठीक हो जाते हैं। हमारे द्वारा दिए गए उपाय आपके बच्चे के स्वास्थ्य में तेजी से सुधार कर सकते हैं और भविष्य में इसके होने की संभावना कम होती है। यदि आपके बच्चे को एक सप्ताह से अधिक समय तक मुंह के छालों की समस्या है, तो आपको तुरंत डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए


Doctor Consutation Free of Cost=

Disclaimer: GoMedii  एक डिजिटल हेल्थ केयर प्लेटफार्म है जो हेल्थ केयर की सभी आवश्यकताओं और सुविधाओं को आपस में जोड़ता है। GoMedii अपने पाठकों के लिए स्वास्थ्य समाचार, हेल्थ टिप्स और हेल्थ से जुडी सभी जानकारी ब्लोग्स के माध्यम से पहुंचाता है जिसको हेल्थ एक्सपर्ट्स एवँ डॉक्टर्स से वेरिफाइड किया जाता है । GoMedii ब्लॉग में पब्लिश होने वाली सभी सूचनाओं और तथ्यों को पूरी तरह से डॉक्टरों और स्वास्थ्य विशेषज्ञों द्वारा जांच और सत्यापन किया जाता है, इसी प्रकार जानकारी के स्रोत की पुष्टि भी होती है।