धूम्रपान से शरीर के कौन-से अंगों को नुकसान होता है?

 

 

वैसे तो सेहत के लिए किसी भी चीज का बहुत अधिक सेवन नुकसानदायक होता है। लेकिन हम यहाँ बात कर रहें हैं धूम्रपान करने वाले लोगों  के बारे में कि धूम्रपान से शरीर के कौन-से अंगों को नुकसान होता है? धूम्रपान से कोई एक नुकसान नहीं होता है इसके बहुत से नुकसान हैं। सिगरेट में निकोटीन और तंबाकू दोनों होता है। धूम्रपान करने वाले ऐसे बहुत से लोग है जो केवल शौक-शौक में धूम्रपान शुरू करते हैं, लेकिन धीरे-धीरे उनका ये शौक कब लत में बदल जाता है उन्हें इसका पता भी नहीं चलता है।

 

आपको बता दें की तंबाकू से 70 प्रतिशत तक कैंसर के रसायन पैदा होते हैं। धूम्रपान शरीर में लगभग हर अंग को नुकसान पहुँचाता है, जिससे कई बीमारियां होती हैं और इसकी वजह से आपको विभिन्न तरह की स्वास्थ्य समस्याएं होती हैं।

 

 

 

धूम्रपान से किन अंगों को होता है नुकसान

 

 

जोड़ों में दर्द

 

आपके जोड़ों में दर्द और सूजन का कारण धूम्रपान ही है। धूम्रपान करने वालों को ये समस्या होने की संभावना ज्यादा होती है। ऐसा होने पर कोई दवाएं धूम्रपान करने वाले लोगों पर काम नहीं करती हैं। यदि आप धूम्रपान करते हैं तो ये आपके जोड़े के लिए बहुत नुकसान दायक है।

 

 

 

दिल

 

धूम्रपान हृदय रोग का एक प्रमुख कारण है, जो बहुत से लोगों में कैंसर के कारकों को भी जन्म देता है। धूम्रपान करने की वजह से दुनिया में सबसे ज्यादा अमेरिका में लोग मरते हैं। दरअसल सिगरेट आपकी धमनियों को सख्त और संकरा कर देता है और यह आपके रक्त को गाढ़ा  कर देता है जिसकी वजह से आपके शरीर में रक्त के थक्के बनने लगते हैं जिसकी वजह से दिल का दौरा भी पड़ सकता है।

 

 

 

त्वचा

 

आपके चेहरे पर उम्र बढ़ने से पहले अगर झुर्रियों दिखाई देने लागे तो इसके पीछे सिगरेट एक मुख्य कारण हो सकती है। धूम्रपान आपकी त्वचा की उम्र बढ़ने की प्रक्रिया को तेज कर देता है। यह आपकी त्वचा को बहुत नुकसान पहुँचाता है और ये त्वचा कैंसर सहित कई त्वचा के रोगों का कारण बनता है।

 

 

 

दिमाग

 

यदि आप धूम्रपान करते हैं, तो आपको धूम्रपान न करने वाले लोगों की तुलना में स्ट्रोक होने की अधिक संभावना है। वास्तव में, धूम्रपान करने से आपके स्ट्रोक का जोखिम कम से कम 50% तक बढ़ जाता है, जिससे दिमाग को बहुत नुकसान होता है और मृत्यु हो सकती है और धूम्रपान करने से आप स्ट्रोक से मरने के जोखिम को दोगुना कर देते हैं।

 

 

 

रक्त संचार में कमी

 

जब आप धूम्रपान करते हैं, तो आपकी सिगरेट में टार आपके रक्त में प्रवेश करता है। आपके खून में ये जहर की तरह काम करता है, ये आपके खून को गाढ़ा करता है और थक्का बनने की संभावना को बढ़ाता है। ये आपके रक्तचाप और हृदय गति को बढ़ाता है, जिससे आपका हृदय को सामान्य से अधिक काम करना पड़ता है। ये आपकी धमनियों को संकरा कर देता है और ऑक्सीजन की मात्रा को कम करता है जिसकी वजह से सभी अंगों में रक्त संचार में कमी होने लगती है।

 

 

 

आंखें

 

आपकी आँखें आपके लिए बेहद महत्वपूर्ण हैं इसकी वजह से ही आप अपने दिन के ज्यादातर काम कर पाते हैं। बिना आँखों के जीवन जीना बहुत ही मुश्किल है धूम्रपान से आपको मैकुलर डिजनरेशन होने की संभावना दोगुना बढ़ जाती है। धूम्रपान से आपकी आँखों की दृष्टि को कम होने लगती है। जिससे आपको पढ़ने, लिखने और अन्य काम करने में दिक्कत होने लगती है। ये मोतियाबिंद के कारको को भी जन्म देता है।

 

 

 

इम्यून सिस्टम

 

प्रतिरक्षा प्रणाली जिसे अंग्रेजी में इम्यून सिस्टम कहा जाता है धूम्रपान से आपका इम्यून सिस्टम कमजोर होने लगता है। ये निमोनिया और इन्फ्लूएंजा जैसे संक्रमणों के जोखिम को पैदा करता है। एक बार जब आपका इम्यून सिस्टम कमजोर होता है तो उसके बाद आपको अनेक तरह की स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं होने लगती हैं।

 

 

 

सेक्स ऑर्गन्स

 

यह सच है कि पुरुष के धूम्रपान करने से उनके सेक्स ऑर्गन कमजोर होते हैं और जब वह जरूरत से ज्यादा धूम्रपान करते हैं तो उन्हें सेक्स के दौरान कई तरह की समस्याएं होने लगती है वह अपने पार्टनर के साथ लंबे समय तक संबंध नहीं बना पाते हैं। धूम्रपान करने वाले पुरुषों में भी वृषण कैंसर (Testicular cancer) होने की संभावना अधिक होती है जबकि महिलाओं का धूम्रपान करना उनमें सर्वाइकल कैंसर होने के खतरे को जन्म देता है।

 

 

 

मसूड़ों

 

मसूड़ों से खून आना या दर्द होना, चुभन महसूस होना, मुँह से बदबू आना ये सभी धूम्रपान करने वाले व्यक्ति के साथ होता है। धूम्रपान और तंबाकू का सेवन मुँह के कैंसर को जन्म देता है। यदि आप धूम्रपान करते हैं, तो आपके साथ ऐसा होने की संभावना दोगुनी बढ़ सकती है और जितना अधिक आप धूम्रपान करते हैं, उतना ही अधिक आपका लिए ये नुकसानदायक होता है।

 

 

 

फेफड़ों का कैंसर

 

धूम्रपान पुरुषों और महिलाओं में समान रूप से कैंसर से होने वाली मौतों का सबसे बड़ा कारण है। धूम्रपान करने से मुँह, किडनी, लीवर, मूत्राशय, अग्न्याशय, पेट, कोलन और मलाशय के कैंसर सहित कई अन्य कैंसर की संभावना बढ़ जाती है। यह सीओपीडी (क्रॉनिक ऑब्सट्रक्टिव पल्मोनरी डिजीज) का एक प्रमुख कारण है, इसके साथ ही ये फेफड़ों के कैंसर का भी एक प्रमुख कारण बनती है

 

 

धूम्रपान से होने वाले अंगों को नुकसान के बारे में आपको पता चल ही गया होगा उसके बावजूद लोग धूम्रपान करते हैं। ऐसा भी बहुत से लोग हैं जो धूम्रपान छोड़ना भी चाहते हैं, लेकिन छोड़ने में असमर्थ हैं। इसके लिए आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है आप चाहें तो इसके लिए आप हमारे डॉक्टर से सलाह लें सकते हैं


Doctor Consutation Free of Cost=

Disclaimer: GoMedii  एक डिजिटल हेल्थ केयर प्लेटफार्म है जो हेल्थ केयर की सभी आवश्यकताओं और सुविधाओं को आपस में जोड़ता है। GoMedii अपने पाठकों के लिए स्वास्थ्य समाचार, हेल्थ टिप्स और हेल्थ से जुडी सभी जानकारी ब्लोग्स के माध्यम से पहुंचाता है जिसको हेल्थ एक्सपर्ट्स एवँ डॉक्टर्स से वेरिफाइड किया जाता है । GoMedii ब्लॉग में पब्लिश होने वाली सभी सूचनाओं और तथ्यों को पूरी तरह से डॉक्टरों और स्वास्थ्य विशेषज्ञों द्वारा जांच और सत्यापन किया जाता है, इसी प्रकार जानकारी के स्रोत की पुष्टि भी होती है।