डायबिटीज में शराब के सेवन से क्या नुकसान होता है?

GoMedii Offer

डायबिटीज एक ऐसी स्थिति है जिसमें शरीर भोजन से ग्लूकोज, या रक्त शर्करा को ठीक से नियंत्रित नहीं कर पता है। नतीजतन, रक्त में ग्लूकोज खतरनाक स्तर तक पहुँच सकता है और उस व्यक्ति को गंभीर स्वास्थ्य समस्याएं पैदा हो सकती है। जब आप इसमें लापरवाही करते हैं, तो डायबिटीज तंत्रिका, किडनी और हार्ट फैलियर को जन्म दे सकता है।

 

डायबिटीज में शराब का सेवन हृदय रोग के जोखिम को कम करने में मदद कर सकता है, लेकिन इसका सेवन ज्यादा करना भी आपके लिए नुकसानदायक हो सकता है। हालांकि डॉक्टर आमतौर पर डायबिटीज के रोगियों को बताते हैं कि थोड़ी सी शराब का सेवन उनके लिए  सुरक्षित है।

 

ऐसा नहीं है की शराब का सेवन से कोई अन्य बीमारी नहीं होती है लेकिन वो तब होती है जब कोई व्यक्ति बहुत अधिक सेवन करता है। लेकिन एक डायबिटीज में शराब का सेवन एक सीमित मात्रा में करना उनकी सेहत के लिए नुकसानदायक नहीं होता है।

 

शराब कैसे डायबिटीज रोगी को प्रभावित करती है

 

डायबिटीज के मरीजों को शराब के अधिक सेवन से बचना चाहिए। नेशनल इंस्टीट्यूट ऑन अल्कोहल एब्यूज एंड अल्कोहलिज्म द्वारा प्रकाशित एक रिपोर्ट के अनुसार, प्रति दिन शराब का सेवन डायबिटीज के मरीज में रक्त शर्करा को अनियंत्रित कर सकता है। शराब के अधिक सेवन से होते हैं ये नुकसान :

 

  • ज्यादा शराब पीने से इंसुलिन के प्रति शरीर की संवेदनशीलता कम हो सकती है, जिससे टाइप 2डायबिटीज का खतरा बढ़ता है।
  • क्रोनिक पैंक्रिएटिक बीमारी का कारण बन सकता है।
  • शराब का अधिक सेवन किसी भी वजन बढ़ सकता है, जिससे किसी व्यक्ति को मधुमेह होने का खतरा बढ़ जाता है।

 

डायबिटीज में कब नहीं करना चाहिए शराब का सेवन

 

रक्त शर्करा कम होने पर ना पिएं शराब

 

आपके लिवर का मुख्य कार्य ग्लाइकोजन को इकट्ठा करना है, जो कि ग्लूकोज से प्राप्त होता है जब आप कुछ भी खाते हैं। ऐसे में जब आप खाना नहीं खाएंगे तो आपके पास ग्लूकोज का एक स्रोत इकट्ठा रहेगा। जब आप शराब पीते हैं, तो आपके लिवर को रक्त शर्करा, या रक्त शर्करा को बनाने का काम करने के बजाय इसे अपने रक्त से निकालने के लिए काम करना पड़ता है। इस कारण से आपको कभी भी शराब नहीं पीनी चाहिए जब आपकी रक्त शर्करा पहले से कम हो।

 

खाली पेट शराब ना पिएं

 

डायबिटीज के मरीज को शराब का सेवन कभी भी खली पेट नहीं करना चाहिए इससे उसकी रक्त शर्करा अनियंत्रित हो सकती है। खाली पेट शराब आपको पेट से जुड़ी समस्या का कारण बन सकती है। यदि आप शराब पीना चाहते हैं तो कार्बोहाइड्रेट युक्त भोजन या स्नैक का सेवन जरूर करें।

 

शराब का सेवन सीमित मात्रा में करें

 

जब आप बहुत अधिक शराब पीते हैं तो इससे आपको तेज चक्कर और आपके रक्त में शुगर की मात्रा एक दम से बढ़ सकती है। जो आपकी डायबिटीज की स्थिति को और खराब कर सकती है इसलिए जब आप शराब पिएं तो किसी से भी ये ना बोले की मैं तुमसे ज्यादा शराब पी सकता हूँ। अपनी क्षमता पर ध्यान रखें क्योंकि आपकी जरा सी लापरवाही आपकी सेहत के लिए नुकसानदायक हो सकती है।

शराब से पहले करें ब्लड शुगर की जाँच

 

शराब आपके लिवर की ग्लूकोज का उत्पादन करने की क्षमता को काम करता है, इसलिए शराब पीने से पहले अपने रक्त शर्करा की जाँच जरूर करें। यदि उसमें कोई बदलाव महसूस होता है तो शराब का सेवन ना करें।

 

शराब हाइपोग्लाइसीमिया का कारण बन सकती है

 

शराब पीने के कुछ ही घंटो के भीतर आपके रक्त शर्करा के स्तर को गिरा सकता है। शराब का सेवन करने के बाद, एक बार अपने रक्त शर्करा के स्तर की जाँच भी करें। यदि आपका रक्त शर्करा कम है, तो ऐसी चीजों का सेवन करें जिससे आपका ब्लड शुगर बढ़ सके।

 

अपने डॉक्टर से सलाह लेते रहें ऐसा करने से आप डायबिटीज के कारण होने वाले अन्य खतरों और कई तरह की स्वास्थ्य समस्याओं से बचे रहेंगे। एक डॉक्टर आपको यह भी बता सकता है कि आपके शराब पीने की वजह से आपके स्वास्थ्य में को नुकसान हो रहा है या फायदा हुआ है, इसके लिए आप हमारे डॉक्टर से भी सलाह लें सकते हैं। आने वाले समय में इसके मरीजों की संख्या बहुत तेजी से बढ़ेगी इसलिए खुद को स्वस्थ रखने की जिम्मेदारी आपकी है।


Doctor Consutation Free of Cost=

Disclaimer: GoMedii  एक डिजिटल हेल्थ केयर प्लेटफार्म है जो हेल्थ केयर की सभी आवश्यकताओं और सुविधाओं को आपस में जोड़ता है। GoMedii अपने पाठकों के लिए स्वास्थ्य समाचार, हेल्थ टिप्स और हेल्थ से जुडी सभी जानकारी ब्लोग्स के माध्यम से पहुंचाता है जिसको हेल्थ एक्सपर्ट्स एवँ डॉक्टर्स से वेरिफाइड किया जाता है । GoMedii ब्लॉग में पब्लिश होने वाली सभी सूचनाओं और तथ्यों को पूरी तरह से डॉक्टरों और स्वास्थ्य विशेषज्ञों द्वारा जांच और सत्यापन किया जाता है, इसी प्रकार जानकारी के स्रोत की पुष्टि भी होती है।