स्तन कैंसर से जुड़े प्रोटीन की हुई पहचान, अब इलाज होगा आसान

वैज्ञानिकों ने एक ऐसे प्रोटीन की खोज की है जिसके तेजी से दूसरे अंगों तक फैलने वाले स्तन कैंसर (Breast Cancer) से जुड़े होने के ठोस प्रमाण मिलते हैं। वैज्ञानिक इस प्रोटीन के जरिए भविष्य में इस घातक बीमारी के कारगर इलाज की संभावना बढ सकती है |

 

 

 

क्या काम करता है एचआईएफ प्रोटीन (HIF Protein)

 

 

 

अमेरिका की यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्सास साउथवेस्टर्न मेडिकल सेंटर के असिस्टेंट प्रोफेसर वीबो ल्यू ने कहा कि जेडएमवाईएनडी 8 प्रोटीन के बढे हुए स्तर और स्तन कैंसर के मरीजों के जिंदा न बच पाने के बीच में संबंध है।

 

 

 

क्या कहती है रिसर्च-

 

 

पूर्व में हुए अनुसंधानों (Research Center) में देखा गया कि स्तन कैंसर की कोशिकाएं ऑक्सीजन की कमी या हाइपोक्सिक वातावरण में ज्यादा आक्रामक हो जाती हैं। हाइपोक्सिया इंड्यूसिबल फैक्टर (एचआईएफ) नामक प्रोटीन समूह हाइपोक्सिया (Hypoacusia) के प्रति दी जाने वाली प्रतिक्रियाओं को नियंत्रित करता है और उन मागरें में फेरबदल करता है जो कैंसर की कोशिकाओं के फैलने और विकसित होने के लिए जिम्मेदार होता है। ल्यू ने कहा, ‘‘हमारा अनुसंधान दिखाता है कि जेडएमवाईएनडी 8 एक ऐसा नियंत्रक है जो स्तन कैंसर कोशिकाओं में एचआईएफ पर निर्भर सैकड़ों कैंसर कारकों को सक्रिय करता है।

 

 

Doctor Consutation Free of Cost=

Disclaimer: GoMedii  एक डिजिटल हेल्थ केयर प्लेटफार्म है जो हेल्थ केयर की सभी आवश्यकताओं और सुविधाओं को आपस में जोड़ता है। GoMedii अपने पाठकों के लिए स्वास्थ्य समाचार, हेल्थ टिप्स और हेल्थ से जुडी सभी जानकारी ब्लोग्स के माध्यम से पहुंचाता है जिसको हेल्थ एक्सपर्ट्स एवँ डॉक्टर्स से वेरिफाइड किया जाता है । GoMedii ब्लॉग में पब्लिश होने वाली सभी सूचनाओं और तथ्यों को पूरी तरह से डॉक्टरों और स्वास्थ्य विशेषज्ञों द्वारा जांच और सत्यापन किया जाता है, इसी प्रकार जानकारी के स्रोत की पुष्टि भी होती है।