राष्ट्रीय चिकित्सक दिवस पर डॉक्टर ने रखी अपनी बात

Safe20

 

 

1 जुलाई को राष्ट्रीय चिकित्सक दिवस (National Doctor’s Day) के तौर पर मनाया जाता है, अगर हम आज के समय की बात करें तो इस महामारी के चलते हेल्थकेयर डिपार्टमेंट में काम करने वाले सभी लोगों को काफी लंबे समय तक काम करना पड़ रहा है। उन सभी लोगों को पूरे-पूरे दिन पीपीई सूट पहन कर काम करना पड़ रहा है।

 

जो की सबसे कठिन होता है इस सूट को पहनने के बाद शरीर को थोड़ी सी भी हवा नहीं लगती है और आपका पूरा शरीर पसीने में भीगा रहता है। इसके साथ ही उन्हें उन लोगों का इलाज भी करना है और खुद को भी इस खतरानक संक्रमण से बचाना भी है।

 

डॉक्टरों ने कभी नहीं सोचा होगा की उन्हें इतने लम्बे समय तक अपने परिवार वालों से दूर रहना पड़ेगा और अपनी सेहत के साथ दूसरों की सेहत का भी ध्यान रखना पड़ेगा। राष्ट्रिय चिकत्सक दिवस (National Doctor’s Day) पर हम उन डॉक्टरों और हेल्थकेयर डिपार्टमेंट में काम करने वाले सभी लोगों के जज्बे को सलाम करते हैं।

 

 

 

1 जुलाई को क्यों मनाया जाता है राष्ट्रीय चिकित्सक दिवस (National Doctor’s Day)

 

 

आपको बता दें की डॉ बिधान चंद्र रॉय की जन्म और पुण्यतिथि की याद में 1 जुलाई को राष्ट्रीय चिकित्सक दिवस (National Doctor’s Day) के अवसर पर मनाया जाता है। आज के दिन उन सभी योद्धा को सलाम करना चाहिए, जो कोविड-19 (Covid-19) के खिलाफ लड़ रहें हैं और मरीजों की देखभाल कर रहें हैं।

 

गीतम मेडिकल कॉलेज में माइक्रोबायोलॉजी विभाग के प्रमुख और कोविड नोडल अधिकारी डॉ हेमा प्रकाश कुमारी ने कहा, “हमारे सामने आने वाली कुछ सबसे कठिन चुनौतियां हैं इस वायरस से निरंतर लड़ते रहना और खुद भी सावधान रहना। हमे अपने परिवार और समाज की सुरक्षा के लिए उनसे दूर रहना पड़ रहा है, वहीं उनका कहना है की अगर हमे कुछ हो जाएं तो हमारे परिवार का क्या होगा ?

 

वहीं जिला क्वारंटाइन सेंटर की हेड ऑफ़ दी डिपार्टमेंट ऑफ़ कम्युनिटी की प्रभारी और केजीएच-एएमसी (KGH-AMC) की सामुदायिक चिकित्सा विभाग की प्रमुख डॉ देवी माधवी का कहना है की कोविड -19 से खुद भी सुरक्षित रहना है और मरीजों का भी ध्यान रखना है। जबकि लोग इस बात को समझ नहीं रहे हैं और बिलकुल भी सावधानी नहीं बरत रहे हैं। पहले के मुकाबले संक्रमण तेजी से फैल रहा है।

 

अगर हम पहले की बात करें तो “जब मामले कम थे, तो लोग काफी घबरा गए थे। लेकिन अब मामलें बहुत तेजी से बढ़ रहें है, तो जनता अति-आत्मविश्वास वाला रवैया दिखा रही है। जबकि डॉक्टर अपनी क्षमता से परे काम कर रहे हैं, लेकिन जनता हर कदम पर लापरवाही कर रही हैं, जिसका नतीजा ये है की दिनों दिन संक्रमण तेजी से फैल रहा है।

 

राष्ट्रिय चिकत्सक दिवस पर कोविड के विशेष अधिकारी “डॉ पीवी सुधाकर” ने कहा कि डॉक्टरों के साथ अच्छा व्यवहार नहीं किया जा रहा है। उन्होंने कहा की “हमें लोगों की ताली या फूलों की बारिश से खुद की प्रशंसा नहीं चाहिए। बस हम ये चाहते हैं की हमारे साथ अछूतों जैसा व्यवहार न किया जाए और डॉक्टरों का मनोबल तोड़ा न जाए, बल्कि उन्हें हमरी मदद करनी चाहिए।


Doctor Consutation Free of Cost=

Disclaimer: GoMedii  एक डिजिटल हेल्थ केयर प्लेटफार्म है जो हेल्थ केयर की सभी आवश्यकताओं और सुविधाओं को आपस में जोड़ता है। GoMedii अपने पाठकों के लिए स्वास्थ्य समाचार, हेल्थ टिप्स और हेल्थ से जुडी सभी जानकारी ब्लोग्स के माध्यम से पहुंचाता है जिसको हेल्थ एक्सपर्ट्स एवँ डॉक्टर्स से वेरिफाइड किया जाता है । GoMedii ब्लॉग में पब्लिश होने वाली सभी सूचनाओं और तथ्यों को पूरी तरह से डॉक्टरों और स्वास्थ्य विशेषज्ञों द्वारा जांच और सत्यापन किया जाता है, इसी प्रकार जानकारी के स्रोत की पुष्टि भी होती है।