किडनी स्टोन का इलाज: शॉक वेव लिथोट्रिप्सी

Treatment In India

 

अगर आपके किडनी में पथरी की समस्या है, तो आप इसके लिए शॉक वेव लिथोट्रिप्सी ट्रीटमेंट का इलाज करा सकते है। ये एक नॉन सर्जिकल ट्रीटमेंट है। इस ट्रीटमेंट में किडनी की पथरी पर दबाव के साथ तरंगें छोड़ी जाती हैं, जिससे पथरी टूट जाती हैं और पेशाब के रास्ते से बाहर निकल जाती हैं।

 

शॉक वेव लिथोट्रिप्सी ट्रीटमेंट के द्वारा बहुत बड़ी पथरी का इलाज नहीं किया जा सकता है। इस तकनीक से आमतौर पर 2 सेन्टीमीटर से कम आकार की पथरी का इलाज किया जा सकता है। शॉक वेव लिथोट्रिप्सी ट्रीटमेंट गर्भवती महिलाओं के लिए सुरक्षित नहीं होता है, इसलिए उन्हें इसे नहीं करवाना चाहिए। लेकिन, इस ट्रीटमेंट को लेने से पहले संबंधित डॉक्टर को अपनी हेल्थ हिस्ट्री जरूर बताएं।

 

 

शॉक वेव लीथोट्रिप्सी का इलाज कैसे किया जाता है ?

 

 

इसका इलाज दो तरीकों से किया जा सकता है-

 

  • एक्स्ट्राकोर्पोरियल शॉक वेव लिथोट्रिप्सी (ईएसडब्ल्यूएल) (Extractoropic Shock Wave Lithotripsy (ESWL)) ।

 

  • इंडोस्कोपिक लिथोट्रिप्सी (Endoscopic Lithotripsy)।

 

 

एक्सट्रॉकोर्पोरियल शॉक वेव लिथोट्रिप्सी (ESWL) (Extracorporeal Shock Wave Lithotripsy) 

 

  • इस प्रक्रिया में, रोगी को पहले पानी से भरे कुशन पर रखा जाता है। फिर पथरी (किडनी के स्टोन) के सटीक स्थान का पता लगाने के लिए एक्स-रे का उपयोग किया जाता है और कभी-कभी सही स्थान जानने के लिए अल्ट्रासाउंड परीक्षण भी किया जा सकता है फिर शॉक वेव्स ट्रीटमेंट के माध्यम से पत्थरों को बारीक कणों में तोड़ दिया जाता है, जो मूत्र के साथ शरीर से बाहर निकल जाते हैं।

 

 

इंडोस्कोपिक लिथोट्रिप्सी (Endoscopic Lithotripsy)

 

जिन रोगियों में पत्थरों (किडनी स्टोन) के सही स्थान का पता नहीं चलता, उन रोगियों में इस प्रकार का लिथोट्रिप्सी किया जाता है। इस प्रक्रिया को एक कैमरा के साथ एक ट्यूब डालकर किया जाता है और प्रकाश को इसकी नोक से मूत्रमार्ग में बांधा जाता है और फिर धीरे-धीरे ऊपर की तरफ उस स्थान पर रखा जाता है, जहां पत्थर (किडनी स्टोन) स्थित होता हैं। फिर पत्थरों को तोड़ने के लिए शॉक वेव पास की जाती हैं।

 

इंडोस्कोपिक लिथोट्रिप्सी (Endoscopic Lithotripsy) चार प्रकार की होती है, जो तरंगों के प्रकार और स्रोत के आधार पर होती है, जैसे की –

 

  • लेजर लिथोट्रिप्सी (Laser lithotripsy)

 

  • मैकेनिकल लिथोट्रिप्सी (Mechanical lithotripsy)

 

  • इलेक्ट्रोहाईड्रॉलिक लिथोट्रिप्सी (Electrohydraulic lithotripsy)

 

  • अल्ट्रासोनिक लिथोट्रिप्सी (Ultrasonic lithotripsy)

 

 

अगर आपको अपने सेहत में कोई भी परिवर्तन नजर आ रहा हो, तो इसका इलाज सही समय पर करा ले, नहीं तो बाद में किडनी के साथ-साथ शरीर के दूसरे अंग भी काम करना बंद कर देते हैं और फिर आपको बहुत सारी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है।

 

 

किडनी से संबंधित कोई भी समस्या होने पर तुरंत ही डॉक्टर से सम्पर्क करे।

 

 


Doctor Consutation Free of Cost=

Disclaimer: GoMedii  एक डिजिटल हेल्थ केयर प्लेटफार्म है जो हेल्थ केयर की सभी आवश्यकताओं और सुविधाओं को आपस में जोड़ता है। GoMedii अपने पाठकों के लिए स्वास्थ्य समाचार, हेल्थ टिप्स और हेल्थ से जुडी सभी जानकारी ब्लोग्स के माध्यम से पहुंचाता है जिसको हेल्थ एक्सपर्ट्स एवँ डॉक्टर्स से वेरिफाइड किया जाता है । GoMedii ब्लॉग में पब्लिश होने वाली सभी सूचनाओं और तथ्यों को पूरी तरह से डॉक्टरों और स्वास्थ्य विशेषज्ञों द्वारा जांच और सत्यापन किया जाता है, इसी प्रकार जानकारी के स्रोत की पुष्टि भी होती है।