यूरिक एसिड क्यों होता है ? क्या खाना चाहिए ?

GoMedii

 

यूरिक एसिड की समस्या होने पर में जोड़ो में दर्द रहता है, या फिर पैरों की उंगलियों, एड़ियों और घुटनों में दर्द रहता है। शरीर में प्यूरिन के टूटने से यूरिक ऐसिड बनता है। जो की ब्लड के सहारे किडनी तक पहुंचता है। वैसे तो यूरिक ऐसिड यूरीन के रूप में शरीर के बाहर निकल जाता है। लेकिन, कभी-कभी यह शरीर में ही रह जाता है और जिस वजह से इसकी मात्रा शरीर में बढ़ने लगती है।

 

शरीर में यूरिक ऐसिड की मात्रा बढ़ने से- हार्ट डिजीज, हाइपरटेंशन , किडनी स्टोन और गठिया जैसी बीमारियों के होने की संभावना हो सकती है, इसलिए यूरिक ऐसिड की मात्रा को कन्ट्रोल में रखना बहुत ही महत्वपूर्ण होता है।

 

इसलिए, जानते है कुछ ऐसे फूड के बारे में जिनका सेवन करके आप यूरिक ऐसिड को नॉर्मल रख सकते हैं।

 

 

यूरिक एसिड में करे इन चीजों का सेवन 

 

 

नींबू पानी

 

यूरिक एसिड होने पर अगर आप निम्बू पानी का सेवन करते है तो यह गठिया की समस्‍या और शरीर के अंदर कैल्शियम कार्बोंनेट के गठन को रोकने में मदद करता है। नींबू पानी विटामिन सी का बहुत अच्‍छा स्रोत है जो जोड़ों के आस-पास के ऊतकों को मजबूत करने में मदद करता है।

 

 

बरडॉक रूट

 

बरडॉक रूट एक हर्बल उपचार है। जो खून से विषाक्‍त पदार्थों को साफ करता है। समस्‍या होने पर आप 20 से 30 बूंदें बरडॉक रूट की थोड़े से पानी में एक दिन में 3 से 4 बार सेवन करे, ऐसा करने से यूरिक एसिड की समस्या ठीक हो सकती है।

 

 

सेब का सिरका

एक प्राकृतिक क्लीन्जर और डेटॉक्सिफायर होने के कारण एप्पल साइडर सिरका शरीर से विषैले तत्‍व जैसे यूरिक एसिड को हटाने में मदद करता हैं। साथ ही यह यूरिक एसिड को भी कम करने में मदद करता है। रोज एक गिलास पानी में सेब साइडर सिरके की एक चम्‍मच मिलाकर दिन में दो से तीन बार जरूर इसका सेवन करे।

 

 

अल्‍फा-अल्‍फा

यह कई प्रकार के विटामिन और मिनरल का समृद्ध स्रोत है, जो की यूरिक एसिड के स्‍तर को कम करने में मदद करता हैं। यह गठिया की समस्‍या को रोकने का एक कारगर उपाय है। इसका सेवन बीज, पत्ते या गोलियों के रूप में किया जा सकता है।

 

 

ब्लैक चेरी

नींबू पानी और अल्‍फा-अल्‍फा की तरह खट्टी चेरी में भी अल्कलीजिंग गुण होते हैं। इसके अलावा ब्‍लैक चेरी में एंटीऑक्‍सीडेंट और एंटी इंफ्लेमेंटरी गुण भी होते हैं जो यूरिक एसिड को कम करने में मदद करते हैं।

 

 

ऑलिव ऑयल

वेजिटेबल ऑयल के स्‍थान पर ऑलिव ऑयल का इस्‍तेमाल करें। ऑलिव ऑयल में मोनोअनसचुरेटेड फैट गर्म करने के बाद भी मौजूद रहते है। इसके अलावा, ऑलिव ऑयल में विटामिन ई, एंटीऑक्‍सीडेंट और एंटी इंफ्लेमेंटरी गुण भी होते हैं, जो की यूरिक एसिड की समस्या को कम करने में मदद करते है।

 

 

जैतून के तेल

जैतून के तेल में बना आहार शरीर के लिए बेहद लाभदायक होता है। इसमें विटामिन ई की भरपूर मात्रा पायी जाती है जो की यूरिक ऐसिड का लेवल कम करता है।

 

 

हरी पत्तेदार सब्जियां

 

  • आलू, मटर, मशरूम, बैंगन और हरी पत्तेदार सब्जियां खाने से यूरिक ऐसिड नॉर्मल रहता है।

 

  • मसूर की दाल, बीन्स, सोयाबीन और टोफू आदि यूरिक ऐसिड को कम करते हैं।

 

  • ओट्स, ब्राउन राइस और जौ से भी यूरिक ऐसिड को नियंत्रित किया जा सकता है।

 

 

यूरिक एसिड में इन चीजों का ना करे सेवन

 

 

  • शराब का सेवन न करे, इसमें यीस्ट की मात्रा अधिक होती है, इसलिए इससे परहेज करे।

 

  • खाना खाते समय पानी न पीये, खाने से आधे घंटे पहले या फिर खाने के आधे घंटे बाद पीये ।

 

 

 

अक्सर हम उन छोटी चीजों पर ज्यादा ध्यान नहीं देते जो की हमें लगता हैं की यह छोटी समस्या हैं परंतु हमें इन बातों का ध्यान रखना चाहिए की हेल्थ से जुड़ी कोई समस्या छोटी नहीं होती। समय-समय पर हमें अपने शरीर की जाँच डॉक्टर से करवाते रहना चाहिए। जिससे बाद में हमें परेशानियों का सामना न करना पड़े और हमारा शरीर स्वस्थ रहे।

 

 

 
Doctor Consutation Free of Cost=

Disclaimer: GoMedii  एक डिजिटल हेल्थ केयर प्लेटफार्म है जो हेल्थ केयर की सभी आवश्यकताओं और सुविधाओं को आपस में जोड़ता है। GoMedii अपने पाठकों के लिए स्वास्थ्य समाचार, हेल्थ टिप्स और हेल्थ से जुडी सभी जानकारी ब्लोग्स के माध्यम से पहुंचाता है जिसको हेल्थ एक्सपर्ट्स एवँ डॉक्टर्स से वेरिफाइड किया जाता है । GoMedii ब्लॉग में पब्लिश होने वाली सभी सूचनाओं और तथ्यों को पूरी तरह से डॉक्टरों और स्वास्थ्य विशेषज्ञों द्वारा जांच और सत्यापन किया जाता है, इसी प्रकार जानकारी के स्रोत की पुष्टि भी होती है।