घर पर रह कर बालों की देखभाल कैसे करें

UPTO20

 

 

कई महिलाएं बालों की देखभाल करने के लिए तरह-तरह के प्रोडक्ट्स इस्तेमाल करती हैं और पार्लर भी जाती हैं। लेकिन उससे भी कोई खास फायदा नहीं होता है। इसके लिए आपको परेशान होने की जरुरत नहीं है आप घर पर रह कर अपने बालों की देखभाल कैसे करें इसके लिए हम आपको कुछ आसान टिप्स बताएंगे। दरअसल कई महिलाएं ऐसे भी हैं जिनके बाल समय से पहले बहुत तेजी से झड़ने लगते हैं।

 

घर पर रह कर बालों की देखभाल करना और भी आसान है, जैसे आप अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखते है उसी तरह आपको अपने बालों की भी देखभाल करनी पड़ती है। गर्मियां हो चाहे सर्दी आपको बाल से जुड़ी कई तरह की समस्या होती है खासकर की जब आप रोजाना बाहर जाते हैं। रोजाना बाहर जाने की वजह से आपके बालों को प्रदूषण, धूल, मिट्टी, तेज धूप का सामना करना पड़ता है। जिसकी वजह से आपके बाल बेजान और रूखे हो जाते हैं।

 

हमने इसके लिए सबसे अच्छे घरेलू उपचारों को इसमें शामिल किया है, जिन्हें आप आसानी से अपने घर पर रहकर कर सकते हैं। ऐसा भी हो सकता है की सभी चीजे आपके घर में पहले से हो। जब आप अपने फ्रिज के अंदर देखेंगे, तो आपको अंडे, मक्खन, दही और एवोकैडो मिलेगा। ऐसी ही कुछ और भी चीजें हैं जो जिनका इस्तेमाल आप अपने घर पर रहा कर कर सकते हैं।

 

 

चाय

 

यदि आप पहले से ही एक चाय पीते हैं तो यह घरेलू उपाय आपके लिए और भी आसान होगा। काली चाय कर्ल बालों को नुकसान होने से बचाती है। आपको थोड़ी सी काली चाय का काढ़ा बनाना है और इसके ठंडा होने का इंतजार करना हैं। जब यह ठंडा हो जाए उसके बाद आपको अपने बालों को इस चाय के पानी से धुलें और इसे 10 मिनट तक सूखने दें। उसके बाद अपने बाल धो लें इसके बाद आपके बाल काफी चमकदार हो जाएंगे।

 

 

 

मक्खन

 

घुंघराले बालों वाली महिलाओं के लिए, नेचुरली कर्ली हेयर्स के लिए मक्खन का उपयोग करना बहुत अच्छा होगा। इससे आपके बालों में नमी और चमक बढ़ेगी। सामान्य तापमान पर मक्खन के दो चम्मच लें और इससे अपने बालों की मालिश करें, इसे एक घंटे तक अपने बालों में लगाकर रखें। उसके बाद अपने बालों को पानी और शैम्पू से अच्छे से धोएं।

 

 

 

सेब का सिरका

 

सूखे और बेजान बालों को ठीक करने के लिए, ऐप्पल साइडर विनेगर बहुत अच्छा रहेगा। ये सुस्त पड़े बालों में जान डाल देगा। इसमें  विटामिन ई पाया जाता है। ये आपके बालों को भरपूर पोषण देने का काम करता है और ये आपके बालों को नरम बनाए रखता है। बालों को नेचुरल बनाए रखने के लिए सेब के सिरके का इस्तेमाल किया जाता है।

 

 

 

अंडे

 

रूखे बालों की कंडीशनिंग करने के लिए अंडे का उपयोग करें ये सफेद बालों का इलाज करने का तरीका है। इसके लिए अंडे के सफेद जर्दी का उपयोग करें। इससे आपके सूखे, उलझे हुए बाल मॉइस्चराइज हो जाएंगे। अंडे के मिश्रण के लिए लगभग 1/2 चम्मच उपयुक्त रहेगा। इससे आपके बाल साफ, नम रहेंगे लेकिन कुछ समय तक आपके बालों में से बदबू जरूर आएगी। अंडे को 20 मिनट तक अपने बालों में लगाकर रखें उसके बाद पानी और शैम्पू से धो लें।

 

 

 

निम्बू

 

2 चम्मच ताजा नींबू का रस, 2 चम्मच जैतून का तेल और 2 चम्मच पानी मिलाएं, और इसके बाद इससे अपने बालों पर अच्छे से मालिश करें। इस मिश्रण को 20 मिनट तक अपने बालों में लगाकर रखें, फिर अपने बालों को शैम्पू से धो लें। इस उपचार को हर दूसरे सप्ताह में करें, इससे आपके बालों से जुड़ी कई समस्याएं खत्म हो जाएगी ।

 

 

 

बियर

 

1 चम्मच सूरजमुखी या कैनोला के तेल के साथ थोड़ी बीयर डालें और इसे कुछ घंटों के लिए बाहर छोड़ दें, उसके बाद इसे अपने बालों में, 15 मिनट तक लगा कर रखें, फिर ठंडे पानी से अपने बालों को अच्छे से साफ़ करें। ऐसा करने से आपके बाल एक दम सिल्की हो जाएंगे और इससे आपके बाल उलझना कम हो जाएंगे।

 

 

 

शहद

 

शहद एक प्राकृतिक चीज है। साफ, नम और मुलायम बाल चाहते हैं तो लगभग 1/2 चम्मच लेकर उसे अपने बालों में लगाएं इसे अपने बालों में, 20 मिनट तक रखें, फिर गुनगुने पानी से अपने बाल धोएं। ज्यादा समय तक धूप में रहने की वजह से आपके बाल झड़ने लगते हैं। आपको बता दें कि  शहद में प्रोटीन भी होता है। दरअसल शहद आपके बालों को सूरज की यूवी किरणों से बचाता है। आपको इसके साथ एवोकाडो या अंडे की जर्दी मिलाकर लगाने से काफी फायदा होगा। इन उपचारों के साथ, आपके बाल पूरी तरह से नए और दोबारा मजबूत हो जाएंगे।


Doctor Consutation Free of Cost=

Disclaimer: GoMedii  एक डिजिटल हेल्थ केयर प्लेटफार्म है जो हेल्थ केयर की सभी आवश्यकताओं और सुविधाओं को आपस में जोड़ता है। GoMedii अपने पाठकों के लिए स्वास्थ्य समाचार, हेल्थ टिप्स और हेल्थ से जुडी सभी जानकारी ब्लोग्स के माध्यम से पहुंचाता है जिसको हेल्थ एक्सपर्ट्स एवँ डॉक्टर्स से वेरिफाइड किया जाता है । GoMedii ब्लॉग में पब्लिश होने वाली सभी सूचनाओं और तथ्यों को पूरी तरह से डॉक्टरों और स्वास्थ्य विशेषज्ञों द्वारा जांच और सत्यापन किया जाता है, इसी प्रकार जानकारी के स्रोत की पुष्टि भी होती है।