जाने अंगूठे में दर्द होने के कारण, लक्षण और उपाय।

Safe20

जब आपके अंगूठे के लिगामेंट में अत्यधिक खिंचाव होता है तो अंगूठे के दर्द की शिकायत होती है। अस्थि-बंधन नरम ऊतक से बने होते हैं जो किसी भी तरह के खिचाव के दौरान आपके अंगूठे को स्थिर रखते हैं।

 

आप जान ले की हमेशा अंगूठे के दर्द का कारण हमेशा लिगामेंट या हड्डी का फ्रैक्चर नहीं होता है, फिर भी यह दर्द बहुत तीव्र हो सकता है। आपको अपना अंगूठा हिलाने में बहुत परेशानी हो सकती है।

 

 

अंगूठे का दर्द तीन प्रकार का होता है।

 

हल्की मोच: यह वह स्थिति है जब लिगामेंट अधिक खिंच जाता है लेकिन टूटता नहीं है।

सामान्य मोच: यह वह स्थिति है जब लिगामेंट का कुछ हिस्सा इससे टूट जाता है।

गंभीर मोच: इस स्तर पर लिगामेंट टूट जाता है और पूरी तरह से हड्डी से अलग हो जाता है।

 

 

अंगूठे में दर्द के कारण।

 

  • जब पीठ के मांस को अत्यधिक खींचा जाता है तो अंगूठे में दर्द हो सकता है। यह अक्सर खेल या किसी अन्य दुर्घटना के दौरान लगी चोटों के कारण होता है।

 

  • अनजाने में अपने अंगूठे को एक कठिन सतह पर लगाने से भी अंगूठे में मोच आ सकती है जो दर्द का कारण बन सकती है।

 

  • जब वाहन चलाते समय कोई वाहन टकराता है, तब भी दर्द या मोच आ सकती है। ऐसा तब होता है जब स्टीयरिंग पर ड्राइवर का केवल अंगूठा बचा होता है।

 

  • जमीन पर गिरते समय यदि अंगूठा जमीन पर टिका हो, तो दर्द भी पैदा हो सकता है।

 

  • फुटबॉल, हॉकी क्रिकेट आदि के दौरान मैदान में अचानक पैर की टक्कर के कारण अंगूठे में चोट लगना आम है। खासकर विकेटकीपर को ऐसी चोटें आती हैं क्योंकि गेंद बहुत तेजी से उसकी ओर आती है और हाथ में होती है। जरा सी चूक होने पर हाथ के अंगूठे में चोट लग सकती है।

 

  • गठिया से भी अंगूठे और उसके आसपास के क्षेत्र में दर्द हो सकता है।

 

 

अंगूठे में दर्द के लक्षण।

 

अंगूठे का फट जाना : आप खुद इस बारे में नहीं जानते होंगे, लेकिन फटे अंगूठे को एक्स-रे या डॉक्टर द्वारा की गई किसी अन्य परीक्षा में देखा जा सकता है।

 

अंगूठे का अस्थिर हो जाना: गंभीर परिस्थिति में लिगामेंट टूट सकता है। लिगामेंट के टूटने पर अंगूठे का जोड़ स्थिर नहीं रहता। उसमें ढीलापन महसूस हो सकता है।

 

अंगूठे में सूजन और अकड़न: अंगूठे की चोट के कारण आपका अंगूठा सूज सकता है और कठोर व भरी महसूस हो सकता है।

 

अंगूठे की लाल या नीली त्वचा पड़ जाना: सूजन के कारण आपके अंगूठे की सतह लाल हो सकती है। रक्त के थक्के जमने पर यह नीला या काला भी हो सकता है।

 

अंगूठे और तर्जनी के बीच का दर्द: जब अंगूठे के जोड़ को किसी तरह का नुकसान होता है, तो आपकी तर्जनी और अंगूठे के बीच तेज दर्द होता है।

 

दैनिक कार्यों में कठिनाई: ऐसे सभी कार्यों को करने में कठिनाई होती है जिनमें अंगूठे का उपयोग किया जाता है। आपको लिखने, कुछ उठाने, या एक गिलास रखने में परेशानी हो सकती है।

 

कलाई में दर्द: अगर अंगूठे में दर्द होता है, तो कलाई में दर्द भी हो सकता है।

 

 

अंगूठे में दर्द का घरेलू उपचार।

 

हल्दी अंगूठे के दर्द का घरेलू उपचार

 

एक कप दूध को गैस पर गर्म करें। अब इसमें एक चम्मच हल्दी मिलाएं और दूध को उबालें। इसके बाद, गैस बंद कर दें और दूध को थोड़ा ठंडा होने के लिए रख दें। दर्द दूर होने तक गुनगुना हल्दी वाला दूध पिएं। हल्दी वाला दूध पीने से स्वास्थ्य को कई लाभ मिलते हैं।

 

 

सेंधा नमक अंगूठे के दर्द का इलाज

 

एक बर्तन में पानी गर्म करें और एक चम्मच सेंधा नमक डालें। अब प्रभावित अंगूठे को इस पानी में 5 से 10 मिनट तक डुबो कर रखें।

 

 

गर्म पानी

 

गर्म पानी से अंगूठे में होने वाले दर्द को भी ठीक किया जा सकता है। गर्म पानी को निचोड़ें और उसमें एक तौलिया डुबोकर निचोड़ें। अब इस तौलिए को 5 से 10 मिनट तक अंगूठे पर लपेटें। गर्म सिकाई के कारण प्रभावित क्षेत्र में रक्त प्रवाह बेहतर होता है, जिससे मांसपेशियों को भी आराम मिल सकता है।


Doctor Consutation Free of Cost=

Disclaimer: GoMedii  एक डिजिटल हेल्थ केयर प्लेटफार्म है जो हेल्थ केयर की सभी आवश्यकताओं और सुविधाओं को आपस में जोड़ता है। GoMedii अपने पाठकों के लिए स्वास्थ्य समाचार, हेल्थ टिप्स और हेल्थ से जुडी सभी जानकारी ब्लोग्स के माध्यम से पहुंचाता है जिसको हेल्थ एक्सपर्ट्स एवँ डॉक्टर्स से वेरिफाइड किया जाता है । GoMedii ब्लॉग में पब्लिश होने वाली सभी सूचनाओं और तथ्यों को पूरी तरह से डॉक्टरों और स्वास्थ्य विशेषज्ञों द्वारा जांच और सत्यापन किया जाता है, इसी प्रकार जानकारी के स्रोत की पुष्टि भी होती है।