स्लीप एपनिया : खर्राटे लेने वाले लोगो को होता है कैंसर का खतरा

GoMedii Offer

 

स्लीप एपनिया एक ऐसा गंभीर विकार है, जिसमे जब कोई व्यक्ति सो रहा होता है तो उसे सांस लेने में परेशानी होती है,  इस समस्या को स्लीप एपनिया कहते है। जिन लोगो को इस बीमारी के बारे में पता नहीं होता, वो बिना इलाज कराये स्लीप एपनिया बीमारी को झेलते रहते है। इसलिए अगर आपको कैसी भी किसी भी प्रकार की समस्या हो रही हो, तो उसे नजरअंदाज न करे और अपने डॉक्टर से तुरंत संपर्क करे

 

आमतौर पर यह समस्या रात को नींद के दौरान होती है। इस समस्या की वजह से सोते समय व्यक्ति की सांस सैकड़ों बार रुक जाती है। श्वसन क्रिया में आने वाले इस अंतर को एपनिया कहा जाता है।

 

 

स्लीप एपनिया क्या है?

 

 

यह एक नींद विकार है, जो तब होता है जब नींद के दौरान किसी व्यक्ति की सांस रूक जाती है। इसका मतलब यह है कि सोते वक़्त पर्याप्त ऑक्सीजन न मिल पाना।

 

 

स्लीप एपनिया के लक्षण क्या हैं?

 

 

इसके लक्षणों में शामिल हैं –

 

 

  • नींद के दौरान सांस लेना बंद हो जाना

 

  • हाँफने की समस्या होना

 

  • शुष्क मुंह

 

 

  • नींद न आने की समस्या

 

  • दिन में अत्यधिक नींद आना (हाइपरसोमनिया)

 

  • ध्यान देने में कठिनाई

 

  • चिड़चिड़ापन

 

  • थकान

 

 

स्लीप एपनिया के प्रकार

 

 

तीन प्रकार के स्लीप एपनिया  होते हैं –

 

ऑब्सट्रक्टिव स्लीप एपनिया (Obstructive Sleep Apnea)

 

इस प्रकार की एपनिया का संबंध नींद और सांस दोनों से होता है। ऑब्सट्रक्टिव स्लीप एपनिया (Obstructive Sleep Apnea) वायुमार्ग की रुकावट के कारण होता है और जिस वजह से सोते समय नाक से आवाज आने लगती है।

 

 

सेंट्रल स्लीप एपनिया (Central sleep apnea)

 

यह एपनिया ओएसए के विपरीत है, इसमें वायुमार्ग अवरुद्ध हो जाती है, लेकिन श्वसन नियंत्रण केंद्र को नियंत्रित करने में असमर्थता के कारण मस्तिष्क मांसपेशियों को सांस लेने में संकेत देने में विफल रहता है।

 

 

कॉम्प्लेक्स स्लीप एपनिया सिंड्रोम (Complex sleep apnea syndrome)

 

इसे उपचार-आकस्मिक केंद्रीय स्लीप एपनिया के रूप में भी जाना जाता है, जो तब शुरू होता है जब किसी को ऑब्सट्रक्टिव स्लीप एपनिया और सेंट्रल स्लीप एपनिया दोनों होते हैं।

 

 

स्लीप एपनिया का इलाज

 

 

यहाँ स्लीप एपनिया के लक्षणों को कम करने के कुछ तरीके बताये गए है –

 

  • स्वस्थ वजन बनाए रखें

 

  • योग करने से स्लीप एपनिया की समस्या ठीक हो जाती है

 

  • नियमित रूप से व्यायाम करे

 

  • रात की भरपूर नींद ले

 

 

 

स्लीप एपनिया से बचने के लिए अपनाये ये उपाय 

 

 

स्लीप एपनिया के लक्षणों को कम करने के लिए यहां 5 वैकल्पिक उपचार दिए गए हैं।

 

स्वस्थ वजन बनाये रखे

 

हमेशा वजन कम करने के लिए स्लीप एपनिया से पीड़ित लोगों को सुझाव दिया जाता है की अपने वजन को नियंत्रण में रखे।

 

 

योग और एक्सरसाइज करे

 

रेगुलर एक्सरसाइज आपके एनर्जी लेवल को बढ़ा सकती है, आपके दिल को मजबूत कर सकती है और स्लीप एपनिया में सुधार कर सकती है।

 

 

स्लीप पोजीशन (Sleep position)

 

इस बीमारी से बचने के लिए स्लीप पोजीशन एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। नींद में, खर्राटे, नाराज़गी, और यहां तक ​​कि झुर्रियाँ। और कुछ स्थितियां दूसरों की तुलना में बेहतर हैं।

 

 

ह्यूमिडिफायर (Humidifier) का उपयोग करें

 

अगर आप स्लीप एपनिया से पीड़ित हैं, तो एक ह्यूमिडिफायर का उपयोग करें। फिर एक ह्यूमिडिफायर का उपयोग करने की कोशिश करें यह त्वचा, नाक, गले और होंठों के सूखापन के इलाज के लिए प्रभावी हो सकता है और आपको अधिक आराम देगा। यह फ्लू या सामान्य सर्दी के लक्षणों को भी कम कर सकता है।

 

 

शराब और धूम्रपान से परहेज करे

 

शराब और धूम्रपान करने से बचने की कोशिश करें क्योंकि इससे आपके फेफड़े और पेट दर्द की समस्या हो सकती है और इससे अन्य कई सारी समस्याएं भी हो सकती है।

 

 

भारतीय पुरुषों में नींद के दौरान सांस लेने में दिक्कत महिलाओं की अपेक्षा तीन गुना अधिक है यानी की महिलाओं की तुलना में पुरुषो में स्लीप एपनिया की समस्या अधिक होती है। अधिकतर लोग इस समस्या को हल्के में लेते हैं और डॉक्टर से चेकअप नहीं कराते जिस वजह से समस्या अधिक बढ़ जाती है और आगे चलकर फिर इसका कोई इलाज नहीं हो पता , इसलिए किसी भी समस्या को नजरअंदाज न करे और तुरंत ही डॉक्टर से सम्पर्क करे।

 

 

यहाँ, हमने उपरोक्त ब्लॉग स्लीप एपनिया के लक्षणों और इसके प्रकारों, चेतावनी के संकेतों, कारणों और इसके उपचार के तरीके के बारे में बताया है। इस विकार का प्रबंधन करने का सबसे अच्छा तरीका है कि आप अपने आहार का प्रबंधन खुद की उचित देखभाल करें। यदि आपकी स्थिति दिन-ब-दिन खराब होती जाती है, तो डॉक्टर से परामर्श करें और अपनी स्थिति के बारे में बताएं।

 

इस बीमारी से निजात पाने के लिए यहाँ से ख़रीदे : BIPAP Machine Online


Doctor Consutation Free of Cost=

Disclaimer: GoMedii  एक डिजिटल हेल्थ केयर प्लेटफार्म है जो हेल्थ केयर की सभी आवश्यकताओं और सुविधाओं को आपस में जोड़ता है। GoMedii अपने पाठकों के लिए स्वास्थ्य समाचार, हेल्थ टिप्स और हेल्थ से जुडी सभी जानकारी ब्लोग्स के माध्यम से पहुंचाता है जिसको हेल्थ एक्सपर्ट्स एवँ डॉक्टर्स से वेरिफाइड किया जाता है । GoMedii ब्लॉग में पब्लिश होने वाली सभी सूचनाओं और तथ्यों को पूरी तरह से डॉक्टरों और स्वास्थ्य विशेषज्ञों द्वारा जांच और सत्यापन किया जाता है, इसी प्रकार जानकारी के स्रोत की पुष्टि भी होती है।