यूपी, आदमी के शरीर के कुछ अंग गलत जगह पर पाए गए

 

इससे पहले तो आपने ऐसी खबर शायद न ही पढ़ी होगी और न ही सुनी होगी, क्यूंकि इस वाकिये से पूरा कुशीनगर भी हैरन है, दरअसल कुशीनगर के पडरौना इलाके में एक व्यक्ति रहता है जिसका नाम जमालुद्दीन है और इस इंसान के शरीर के अंग गलत जगह है लेकिन दिखने में वो बिलकुल आपकी और हमारी तरह है।

 

अब आपको जो बात हम बताने जा रहे है उसे सुन कर शायद आपके होश उड़ जाएंगे। जमालुद्दीन के शरीर में उसका दिल दाई तरह है, तो वहीं लिवर और गॉलब्लेडर बाई तरफ है। जब ये देख डॉक्टर भी हैरान रह गए तो आप सबका हैरान होना तो लाज़मी है।

 

जमालुद्दीन को पेट में दर्द रहने लगा था जिसके बाद उसने गोरखपुर के डॉक्टर को दिखाया, तब डॉक्टर ने उसका X रे (X Ray) और अल्ट्रासाउंड करवाया। X रे (X Ray) और अल्ट्रासाउंड की रिपोर्ट सामने आने के बाद डॉक्टर आश्चर्यचकित रह गए।

 

गोरखपुर के डॉ. शशिकांत दीक्षित जो की बेरियाट्रिक लेप्रोस्कोपिक सर्जन है,उन्होंने बताया की जमालुद्दीन के पित्ताशय में पथरी है, गॉलब्लेडर बाई तरफ होने की वजह से डॉक्टर को ऑपरेशन करने में काफी दिक्कत हुई थी, लेकिन ऑपरेशन बिल्कुल सफल रहा। डॉक्टर ने बताया की उनकी सर्जरी करने के लिए तीन डायमेंशनल लेप्रोस्कोपिक मशीनों की सहायता लेनी पड़ी। आपको बता दें की सर्जरी के बाद जमालुद्दीन का स्वास्थ्य में अब सुधर है और वो जल्दी ही दोबारा स्वस्थ हो जाएंगे।

 

जिसके बाद डॉ. शशिकांत दीक्षित ने बताया की उन्होंने ऐसा पहली बार देखा है और न ही इससे पहले ऐसा कही सुना था की किसी भी व्यक्ति के शरीर में अंग उलटी तरफ हो। वैसे आपको बता दें की ऐसा ही एक वाकिया साल 1643 में देखने को मिला था दरअसल ऐसे मामलों में लोगों का इलाज करना मुश्किल हो जाता है, वो भी तब, जब उन्हें सर्जरी की आवश्यकता होती है।


Doctor Consutation Free of Cost=

Disclaimer: GoMedii  एक डिजिटल हेल्थ केयर प्लेटफार्म है जो हेल्थ केयर की सभी आवश्यकताओं और सुविधाओं को आपस में जोड़ता है। GoMedii अपने पाठकों के लिए स्वास्थ्य समाचार, हेल्थ टिप्स और हेल्थ से जुडी सभी जानकारी ब्लोग्स के माध्यम से पहुंचाता है जिसको हेल्थ एक्सपर्ट्स एवँ डॉक्टर्स से वेरिफाइड किया जाता है । GoMedii ब्लॉग में पब्लिश होने वाली सभी सूचनाओं और तथ्यों को पूरी तरह से डॉक्टरों और स्वास्थ्य विशेषज्ञों द्वारा जांच और सत्यापन किया जाता है, इसी प्रकार जानकारी के स्रोत की पुष्टि भी होती है।