पीरियड्स क्रैम्प होने पर इससे कैसे बचे

UPTO20

हर महिला को पीरियड्स में होने वाले दर्द बहुत परेशान करता है इसे ही हम पीरियड्स क्रैम्प कहते है। आज हम बात करेंगे पीरियड्स के दौरान होने वाले दर्द के बारे में, की उन्हें उस दौरान कितनी परेशानियां होती है। हर महिला में इसके लक्षण अलग तरह से देखे जाते है।

 

 

आपको बता दें की लगभग 80% महिलाएं अपने जीवनकाल में किसी न किसी अवस्था में इसका अनुभव करती हैं। शुरुआती किशोरावस्था से लेकर रजोनिवृत्ति तक की अवधि में महिलाओं को दर्द से गुजरना पड़ता है। कुछ महिलाओं को इस समय काफी असुविधा होती है।

 

 

दरअसल पीरियड्स के दौरान लगभग 5% से 10% महिलाओं को गंभीर दर्द होता है इसकी वजह से उनके स्वास्थ्य पर भी बुरा असर पड़ता है। जब पीरियड्स होता है तब महिलाओं के पेट में सूजन, एकाग्रता में कमी, अकड़न, मूड में बदलाव और थकान जैसी परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

 

 

 

पीरियड्स क्रैम्प के प्रकार

 

 

प्राथमिक डिसमेनोरिया : ये दर्द आमतौर पर पीरियड्स की शुरुआत में किशोरी और युवा महिलाओं में होता है। इस दर्द के कारण उसके गर्भ में खून की कमी होने लगती है। यह दर्द मुख्य रूप से पेट के निचले हिस्से को प्रभावित करता है। लेकिन यह दर्द बढ़ने पर पीठ के पीछे और जांघों के नीचे तक जा सकता है। इसकी वजह से कुछ महिलाओं को मतली भी आने लगती है।

 

 

माध्यमिक डिसमेनोरिया : ये दर्द एक सिमित समय के लिए नहीं हो सकता है। इस स्थिति में पीरियड्स के दौरान रक्तस्राव होने लगता है और ऐसा लंबे समय तक हो सकता है। माध्यमिक डिसमेनोरिया कुछ स्थितियों का संकेत हो सकता है।

 

 

 

पीरियड क्रैम्प्स से कैसे छुटकारा पाएं?

 

 

यहां हम पीरियड के दर्द से छुटकारा पाने के लिए कुछ सरल उपाय बता रहे हैं:

 

 

गर्म पानी की बॉटल 

 

पीरियड के दर्द से राहत पाने के लिए आप इसका इस्तेमाल कर सकते है। पेट और कमर के पास होने वाले इस दर्द से राहत पा सकते है।

 

 

 

ज्यादा पानी पिएं 

 

saavdhaan thanda paani peene se ho sakta hai aapki health ko khatra in hindi

 

ज्यादा पानी पीने से आपकी बॉडी हाइड्रेट रहती है। ऐसा करने से क्रैम्प्स में तो आराम मिलता ही है। बल्कि आपका पाचन भी सही रहता है।

 

 

 

अदरक 

 

 

अदरक का इस्तेमाल ठंड के दिनों में चाय के लिए ज्यादा किया जाता है। आपको बता दें की ये पीरियड्स के दर्द में भी राहत दिलाता है।

 

 

 

नींद पूरी करें

 

vishwa nind divas 2019

 

पीरियड्स के दौरान कुछ महिलाओं को तनाव होने लगता है, इसलिए उन्हें ऐसे में पूरा आराम करना चाहिए। उन्हें कम से कम 7-8 घंटे की नींद लेनी चाहिए।

 

 

 

जीरा

 

 

जीरा भी पीरियड्स के दर्द को कम करने में आपकी मदद कर सकता है। जब आपको पीरियड्स क्रैम्प होने लगे तो आप दर्द से राहत पाने के लिए चाय में जीरे का इस्तेमाल कर सकते हैं। ऐसा करने से आपको काफी आराम मिलेगा।

 

 

योग

 

 

योग भी आपको दर्द से राहत दिला सकता है दरअसल जब आपको पीरियड्स के दौरान दर्द होता है, तो आपको थोड़ा सा योग करने से आपके शरीर में रिलैक्स हार्मोन ज्यादा बनते है जो आपको दर्द से राहत दिलाता है।

 

 

 

तुलसी

 

health-benefits-of-spinach-juice , Order Medicine Online Online Pharmacy India Medicine Store Online Medical Store Purchase Medicine Online Medicine Online Online Pharmacy Noida Online Chemist Crossing Republic Online Medicines Buy Medicine Online India Online Pharmacy Gaur City

 

तुलसी का इस्तेमाल लोग तब ज्यादा करते है जब उन्हें सर्दी और जुकाम होता है इसी तरह, तुलसी पीरियड्स के दौरान होने वाले दर्द को भी कम कर सकती है और यह अनियमित पीरियड्स की समस्या को भी ठीक कर सकती है।

 

 

 

मेथी 

 

 

पीरियड्स क्रैम्प में मेथी का इस्तेमाल भी आपको इसके दर्द से काफी राहत दिला सकता है। इसका इस्तेमाल आप केवल मसाले के रूप में ही नहीं कर सकते है। इसका प्रयोग एक दवा के रूप में किया जाता है।

 

 

 

जीवन शैली में परिवर्तन

 

 

आप अपनी जीवन शैली में बदलाव करके पीरियड्स क्रैम्प को कम कर सकते है।

 

 

  • धूम्रपान करने से पीरियड के दर्द और बढ़ सकता है, इसलिए आप धूम्रपान बिल्कुल न करें।

 

 

  • शराब के सेवन से बचे।

 

 

  • उच्च फाइबर वाले खाद्य पदार्थ और सब्जियां का सेवन करें।

 

 

  • विटामिन ई के सेवन को बढ़ाए, इससे आपको दर्द में काफी आराम मिलेगा।

 

 

  • यदि आप नॉन वेज खाते है तो आपको लीन मीट खाना चाहिए।

 

 

  • चॉकलेट, केक, और बिस्कुट जैसी मीठे पदार्थो का सेवन न करें।

 

 

  • अपने भोजन में नमक की मात्रा कम करें।

 

 

  • शुगर युक्त पेय पदार्थो के बजाय शुद्ध फलों के ज्यूस का सेवन करें ये आपके लिए ऊर्जा का काम करेगा।

 

 

 

इंसान के शरीर के अंदर किसी भी दर्द को सहन करना बहुत मुश्किल भरा होता है और जब पीरियड्स के दौरान दर्द होता है तो यह उस महिला के स्वाभाव में भी परिवर्तन का एक कारण बनता है। हर महिला को अपने जीवन में इसका सामना करना पड़ता है। लेकिन यह जब असहनीय होता है या आप इस दौरान किसी ऐसी चीज का अनुभव करते हैं जो आपके साथ पहले कभी नहीं हुई हो, तो उस स्थति में आपको तुरंत डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए


Doctor Consutation Free of Cost=

Disclaimer: GoMedii  एक डिजिटल हेल्थ केयर प्लेटफार्म है जो हेल्थ केयर की सभी आवश्यकताओं और सुविधाओं को आपस में जोड़ता है। GoMedii अपने पाठकों के लिए स्वास्थ्य समाचार, हेल्थ टिप्स और हेल्थ से जुडी सभी जानकारी ब्लोग्स के माध्यम से पहुंचाता है जिसको हेल्थ एक्सपर्ट्स एवँ डॉक्टर्स से वेरिफाइड किया जाता है । GoMedii ब्लॉग में पब्लिश होने वाली सभी सूचनाओं और तथ्यों को पूरी तरह से डॉक्टरों और स्वास्थ्य विशेषज्ञों द्वारा जांच और सत्यापन किया जाता है, इसी प्रकार जानकारी के स्रोत की पुष्टि भी होती है।