पॉलीसिस्टिक किडनी के इलाज का खर्च कितना होगा और जाने इसके लिए बेस्ट हॉस्पिटल

GoMedii

पॉलीसिस्टिक किडनी डिजीज (पीकेडी) मरीज को उसके परिवार के किसी सदस्य से मिल सकती है, जिसमें कई सिस्ट मुख्य रूप से किडनी के अंदर विकसित होते हैं। ऐसा होने पर समय के साथ किडनी बड़ी होने लगती है और काम करना बंद कर देती है। दरअसल ये सिस्ट गैर-कैंसरयुक्त होते हैं जिनमें तरल पदार्थ होता है। वे आमतौर पर आकार में भिन्न होते हैं, और यदि इसका इलाज नहीं किया जाए तो वे समय के साथ बहुत बड़े हो सकते हैं। इसके आलावा यह पूरे स्वास्थ्य पर बुरा असर डालते हैं। आइये आपको बताते हैं कि पॉलीसिस्टिक किडनी के इलाज का खर्च कितना होगा?

 

 

पॉलीसिस्टिक किडनी के इलाज का खर्च कितना होगा? (What is the cost for polycystic kidney treatment in Hindi)

 

यदि आप पॉलिसिस्टिक किडनी के इलाज का खर्च जानना चाहते हैं तो इसके लिए आपको हमारे डॉक्टर से कंसल्ट करना होगा। यदि आप हमारे डॉक्टर से कंसल्ट करना चाहते हैं तो तो यहाँ क्लिक करें

 

 

पॉलीसिस्टिक किडनी के इलाज के लिए बेस्ट हॉस्पिटल (Best hospital for polycystic kidney treatment in Hindi)

 

 

 

यदी आप भारत में पॉलिसिस्टिक किडनी का इलाज कराना चाहते हैं तो आप हमारे द्वारा बताए गए इनमें से कोई भी हॉस्पिटल में अपना इलाज करवा सकते हैं:

 

पॉलिसिस्टिक किडनी के इलाज के लिए ग्रेटर नोएडा के बेस्ट अस्पताल

 

  • शारदा अस्पताल, ग्रेटर नोएडा

 

  • यथार्थ अस्पताल, ग्रेटर नोएडा

 

  • बकसन अस्पताल, ग्रेटर नोएडा

 

  • जेआर अस्पताल, ग्रेटर नोएडा

 

  • प्रकाश अस्पताल, ग्रेटर नोएडा

 

  • दिव्य अस्पताल, ग्रेटर नोएडा

 

  • शांति अस्पताल, ग्रेटर नोएडा

 

 पॉलिसिस्टिक किडनी के इलाज के लिए दिल्ली के बेस्ट अस्पताल 

 

  • बीएलके-मैक्स सुपर स्पेशलिटी अस्पताल, राजिंदर नगर, दिल्ली

 

  • इंद्रप्रस्थ अपोलो अस्पताल, सरिता विहार, दिल्ली

 

  • फोर्टिस हार्ट अस्पताल, ओखला, दिल्ली

 

  • मैक्स सुपर स्पेशलिटी अस्पताल, साकेत, दिल्ली

 

पॉलिसिस्टिक किडनी के इलाज के लिए गुरुग्राम के बेस्ट अस्पताल

 

  • नारायण सुपरस्पेशलिटी अस्पताल, गुरुग्राम

 

  • मेदांता द मेडिसिटी, गुरुग्राम

 

  • फोर्टिस हेल्थकेयर लिमिटेड, गुरुग्राम

 

  • पारस अस्पताल, गुरुग्राम

 

पॉलिसिस्टिक किडनी के इलाज के लिए हापुड़ के बेस्ट अस्पताल

 

  • शारदा अस्पताल, हापुड़

 

  • जीएस अस्पताल, हापुड़

 

  • बकसन अस्पताल, हापुड़

 

  • जेआर अस्पताल, हापुड़

 

  • प्रकाश अस्पताल, हापुड़

 

पॉलिसिस्टिक किडनी के इलाज के लिए मेरठ के बेस्ट अस्पताल

 

  • सुभारती अस्पताल, मेरठ

 

  • आनंद अस्पताल, मेरठ

 

पॉलिसिस्टिक किडनी के इलाज के लिए कोलकाता के सबसे अच्छे अस्पताल

 

  • रवींद्रनाथ टैगोर इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ कार्डिएक साइंस, मुकुंदपुर, कोलकाता

 

पॉलिसिस्टिक किडनी के इलाज के लिए मुंबई के सबसे अच्छे अस्पताल

 

  • नानावटी सुपर स्पेशलिटी अस्पताल, विले पार्ले वेस्ट, मुंबई

 

  • लीलावती अस्पताल और अनुसंधान केंद्र, बांद्रा, मुंबई

 

पॉलिसिस्टिक किडनी के इलाज के लिए चेन्नई के सबसे अच्छे अस्पताल

 

  • अपोलो प्रोटॉन कैंसर सेंटर, चेन्नई

 

पॉलिसिस्टिक किडनी के इलाज के लिए हैदराबाद के सबसे अच्छे अस्पताल

 

  • ग्लेनीगल्स ग्लोबल हॉस्पिटल्स, लकडी का पूल, हैदराबाद

 

पॉलिसिस्टिक किडनी के इलाज के लिए बैंगलोर के सबसे अच्छे अस्पताल

 

  • फोर्टिस अस्पताल, बन्नेरगट्टा रोड, बैंगलोर

 

  • अपोलो अस्पताल, बैंगलोर

 

पॉलिसिस्टिक किडनी के इलाज के लिए अहमदाबाद के सबसे अच्छे अस्पताल

 

  • केयर इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज, सोला, अहमदाबाद

 

यदि आप इनमें से कोई अस्पताल में इलाज करवाना चाहते हैं तो हमसे व्हाट्सएप (+91 9654030724) पर संपर्क कर सकते हैं।

 

 

पॉलिसिस्टिक किडनी के लक्षण (What are the symptoms of polycystic kidney in Hindi)

 

 

यह गुर्दा रोग बच्चे को उसके माता-पिता के जीन के माध्यम से पारित किया जा सकता है, लेकिन इसके लक्षण 30 वर्ष की आयु के बाद ही प्रकट होते हैं। पॉलीसिस्टिक किडनी रोग के लक्षण निम्नलिखित हैं:

 

  • पेट में तेज दर्द

 

  • पेशाब में खून आना

 

  • जल्दी-जल्दी पेशाब आना

 

  • बाजू में दर्द

 

  • यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन (UTI)

 

  • किडनी स्टोन

 

  • पीठ में दर्द या भारीपन

 

  • त्वचा से जुड़ी समस्या होना

 

  • त्वचा का रंग पीली होना

 

  • अधिक थकान महसूस होना

 

  • जोड़ों में दर्द रहना

 

  • नाखून से जुड़ी समस्याएं होना

 

पॉलीसिस्टिक किडनी रोग के लक्षण हल्के से लेकर गंभीर तक हो सकते हैं।

 

 

पीकेडी का निदान कैसे किया जाता है? (How PKD is diagnosed in Hindi)

 

 

आपका डॉक्टर आपके पारिवारिक इतिहास की समीक्षा करेगा। वे शुरू में एनीमिया या संक्रमण के संकेतों को देखने के लिए एक पूर्ण रक्त गणना का आदेश दे सकते हैं और आपके मूत्र में रक्त, बैक्टीरिया या प्रोटीन की जांच के लिए एक यूरिनलिसिस कर सकते हैं। तीनों प्रकार के पीकेडी का निदान करने के लिए, आपका डॉक्टर किडनी, लिवर और अन्य अंगों के सिस्ट देखने के लिए इमेजिंग टेस्ट की सलाह दे सकता है। पीकेडी का निदान करने के लिए उपयोग किए जाने वाले इमेजिंग टेस्ट में शामिल हैं:

 

  • पेट का अल्ट्रासाउंड: यह गैर-इनवेसिव परीक्षण आपके गुर्दे को अल्सर के लिए देखने के लिए ध्वनि तरंगों का उपयोग करता है।

 

  • पेट का सीटी स्कैन: यह परीक्षण गुर्दे में छोटे अल्सर का पता लगा सकता है।

 

  • पेट का एमआरआई स्कैन: यह एमआरआई आपके शरीर को गुर्दे की संरचना की कल्पना करने और अल्सर की तलाश करने के लिए मजबूत मैग्नेट का उपयोग करता है।

 

  • इंट्राविनास पाइलोग्राम (Intravenous pyelogram): यह परीक्षण आपके रक्त वाहिकाओं को एक्स-रे पर अधिक स्पष्ट रूप से दिखाने के लिए डाई का उपयोग करता है।

 

 

पीकेडी की साथ मरीज कितने दिन जीवित रह सकता है? (What is the survival rate of PKD in Hindi)

 

ऑटोसोमल प्रमुख पॉलीसिस्टिक किडनी रोग (एडीपीकेडी) एक हजार जीवित जन्मों में से लगभग एक में होता है, यह अनुमान है कि इनमें से आधे से भी कम मामलों का निदान रोगी के जीवनकाल के दौरान किया जाता है, क्योंकि इसका इलाज आसानी से उपलब्ध है। परिवार के इतिहास पर निर्भर करता है की मरीज को किडनी की कौन सी बीमारी हो सकती है। मरीज का ठीक होना पीकेडी के एक्स्ट्रारेनल एसोसिएशन पर निर्भर करता है जैसे इंट्रारेनल एन्यूरिज्म कहा जाता है।

 

 

पीकेडी के लिए उपचार के विकल्प? (Treatment options for PKD in Hindi)

 

पॉलीसिस्टिक किडनी रोग (पीकेडी) के उपचार के लिए कुछ उपलब्ध विकल्प हैं:

 

  • रक्तचाप नियंत्रण विशेष रूप से दवा और ब्लॉक रेनिन-एंजियोटेंसिन प्रणाली के साथ किया जा सकता है

 

  • नमक का सेवन सीमित करें

 

  • तरल पदार्थ का सेवन बढ़ाएं

 

  • अंतिम चरण में किडनी की बीमारी (ईसीआरडी) का इलाज या तो डायलिसिस / किडनी ट्रांसप्लांट

 

 

पीकेडी का क्या कारण है? (What is the cause of PKD in Hindi)

 

पीकेडी की बीमारी आमतौर पर परिवार के किसी सदस्य से मिल सकती है। कम सामान्यतः, यह उन लोगों में विकसित होता है जिन्हें गुर्दे की अन्य गंभीर समस्याएं होती हैं। पीकेडी तीन प्रकार के होते हैं।

 

 

क्या पीकेडी ठीक हो सकता है? (Can PKD be cured in Hindi)

 

विशेषज्ञों के अनुसार पॉलीसिस्टिक किडनी डिजीज (पीकेडी) का इलाज सिर्फ किडनी ट्रांसप्लांट ही है। इसके बाद मरीज अपना बचा हुआ जीवन बिना किसी समस्या के बिता सकता है।

 

यदि आपको पॉलीसिस्टिक किडनी डिजीज का इलाज या इससे सम्बंधित सलाह लेना चाहते हैं तो यहाँ क्लिक करें या आप हमसे व्हाट्सएप (+91 9654030724) पर संपर्क कर सकते हैं। इसके अलावा आप हमारी सेवाओं के संबंध में हमें Connect@gomedii.com पर ईमेल भी कर सकते हैं। हमारी टीम जल्द से जल्द आपसे संपर्क करेगी।

 
Doctor Consutation Free of Cost=

Disclaimer: GoMedii  एक डिजिटल हेल्थ केयर प्लेटफार्म है जो हेल्थ केयर की सभी आवश्यकताओं और सुविधाओं को आपस में जोड़ता है। GoMedii अपने पाठकों के लिए स्वास्थ्य समाचार, हेल्थ टिप्स और हेल्थ से जुडी सभी जानकारी ब्लोग्स के माध्यम से पहुंचाता है जिसको हेल्थ एक्सपर्ट्स एवँ डॉक्टर्स से वेरिफाइड किया जाता है । GoMedii ब्लॉग में पब्लिश होने वाली सभी सूचनाओं और तथ्यों को पूरी तरह से डॉक्टरों और स्वास्थ्य विशेषज्ञों द्वारा जांच और सत्यापन किया जाता है, इसी प्रकार जानकारी के स्रोत की पुष्टि भी होती है।