तलवों में जलन का कारण और बचने के उपाय

Safe20

 

 

इंसान के शरीर में हमेशा कुछ न कुछ परेशानी होता ही रहती है। आज हम बात करेंगे जिन लोगों को तलवों में जलन के कारण चलने में भी बहुत दिक्कत होती है। लेकिन कुछ लोग ऐसे हैं जो इसे छोटा समझ अक्सर नजरअंदाज कर देते हैं। जबकि असल में इसके कारण ना सिर्फ असहनीय दर्द होता है, बल्कि खुजली जैसी अन्य परेशानी भी हो सकती है

 

कई बार तो इसके कारण चलना भी मुश्किल हो जाता है। हालांकि कुछ लोग इसके लिए दवाइयों या ठंडी क्रीम का सहारा भी लेते हैं। लेकिन इससे उन्हें केवल कुछ समय तक के लिए ही आराम मिलता है। आखिर तलवों में जलन का कारण क्या है इसे जानना बहुत जरुरी है तभी आप इससे बच सकते हैं।

 

 

 

तलवों में जलन का कारण

 

 

  • लम्बे समय तक एक ही जगह पर खड़े रहना

 

 

 

  • आपके शरीर का वजन ज्यादा होना

 

 

 

 

  • बहुत अधिक चलना

 

 

 

  • कुछ दवाओं का दुष्प्रभाव

 

 

 

  • तलवों की त्वचा का सुखना

 

 

 

  • क्रोनिक इन्फ्लेमेटरी डेमाइलेटिंग पॉलीन्यूरोपैथी (Chronic inflammatory demyelinating polyneuropathy)

 

 

 

  • अमाइलॉइड पोलीन्यूरोपैथी (Amyloid polyneuropathy)

 

 

 

 

 

 

  • धूम्रपान

 

 

 

  • शराब

 

 

 

  • डाइबिटिक न्यूरोपैथी (Diabetic neuropathy)

 

 

 

 

 

 

तलवो में जलन के कारण आपको अपने रोजमर्रा के कामों को करने में काफी दिक्कत होती है, इसलिए आप घर बैठे ही कुछ उपाय करके इससे छुटकारा पा सकते हैं।

 

 

 

तलवों में जलन से बचने के उपाय

 

 

 

तलवों में करें मसाज

 

तलवो में मसाज करने से रक्त का प्रवाह ठीक तरीके से होता है जो आपको काफी हद तक तलवों में होने वाली जलन से राहत देने का काम करता है। कभी-कभी जब आप लम्बे समय तक खड़े रहते हैं तो उसकी वजह से आपके तलवों में रक्त का प्रवाह बहुत कम हो जाता है।

 

 

 

मुल्तानी मिट्टी

 

हमने आपको तलवों में जलन का कारण बताया है ताकि आप उन बातों का ध्यान रखें। आपने मुल्तानी मिट्टी को चहरे पर तो कई बार लगाया होगा। लेकिन जब आपके तलवों में जलन हो तब भी आप मुल्तानी मिट्टी का लेप लगाएं, इससे तलवों में होने वाली जलन कुछ देर में दूर हो जाएगी।

 

 

 

मक्खन और मिश्री

 

सभी के घरों में ये दोनों चीजे होती हैं अगर नहीं भी है तो आपको किराने की दुकान पर आसानी से मिल सकती हैं। इन दोनों चीजों को बराबर मात्रा में मिलाकर अपने तलवों में लगाने से तलवों की जलन को दूर किया जा सकता है।

 

 

 

तलवों में मेहंदी लगाएं

 

मेहंदी जो की बिल्कुल प्राकृतिक चीजों में से एक है यदि आपके बाल जल्दी सफेद होते हैं तब आप अपने बालों में मेहंदी लगाते हैं। वही अगर आपके तलवों में काफी जलन होती है तब आप मेंहदी में सिरका या नींबू का रस मिलकर इसे अपने तलवों पर लगाएं, इससे आपके तलवों में होने वाली जलन खत्म हो जाएगी।

 

 

 

ठंडी चीजों का सेवन करें

 

कभी कभी जब आप बहुत अधिक मसालेदार भोजन करते हैं तो उसकी वजह से भी तलवों में जलन हो सकती है इसलिए आप कोशिश करें कि अपने खाने की चीजों में उन चीजों को शामिल करें, जिनकी तासीर ठंडी हो जैसे गन्ने का रस, दही, अनार, लस्सी, खीरा, नींबू पानी आदि इन चीजों के सेवन से भी काफी आराम मिलेगा।

 

 

 

लौकी का ज्यूस

 

लौकी को पहले घिस लें उसके बाद उस गूदे को निकाल कर अपने तलवों में कुछ समय तक लगा कर रखें। ऐसा करने से आपके तलवों की जलन दूर हो जाएगी।

 

 

 

धनिया

 

सूखे धनिये और मिश्री को बराबर मात्रा में लेकर पीस लें। फिर 2 चम्मच धनिया और 2 चम्मच मिश्री के साथ रोजाना इसे दिन में 4 बार ठंडे पानी से इसका सेवन करें, इससे आपके तलवों में होने वाली जलन दूर हो जााएगी।

 

 

 

ये समस्या आगे आने वाले समय में काफी लोगों में देखने को मिलती है खासकर बुजुर्गों में यदि आप इसे नजरअंदाज करते हैं, तो इससे आप अपने ही शरीर का नुकसान पहुँचाते हैं। एक समय के बाद जब आप इसका उपचार नहीं करते हैं तो ये आपकी मुश्किलों को और भी बढ़ा सकता है।

 

इसलिए समय रहते आप इन घरेलु उपायों को करके तलवों में होने वाली जलन को कम कर सकते हैं। यदि आपको इन घरेलु उपाय से फायदा नहीं मिलता है तब आप हमारे डॉक्टर से भी संपर्क कर सकते हैं


Doctor Consutation Free of Cost=

Disclaimer: GoMedii  एक डिजिटल हेल्थ केयर प्लेटफार्म है जो हेल्थ केयर की सभी आवश्यकताओं और सुविधाओं को आपस में जोड़ता है। GoMedii अपने पाठकों के लिए स्वास्थ्य समाचार, हेल्थ टिप्स और हेल्थ से जुडी सभी जानकारी ब्लोग्स के माध्यम से पहुंचाता है जिसको हेल्थ एक्सपर्ट्स एवँ डॉक्टर्स से वेरिफाइड किया जाता है । GoMedii ब्लॉग में पब्लिश होने वाली सभी सूचनाओं और तथ्यों को पूरी तरह से डॉक्टरों और स्वास्थ्य विशेषज्ञों द्वारा जांच और सत्यापन किया जाता है, इसी प्रकार जानकारी के स्रोत की पुष्टि भी होती है।