योनि में यीस्ट संक्रमण के लक्षण, कारण और बचने के उपाय

Safe20

 

 

योनि में यीस्ट संक्रमण होने पर महिलाओं को योनि में जलन, बेचैनी और तीव्र खुजली होती है। आपको बता दें की इसे योनि कैंडिडिआसिस (vaginal candidiasis) भी कहा जाता है, योनि में यीस्ट संक्रमण उनके जीवनकाल में कुछ महिलाओं को बहुत ज्यादा प्रभावित करता है। कई महिलाओं को इसका अनुभव करना पड़ता है।

 

योनि में यीस्ट संक्रमण एक यौन संचरित संक्रमण नहीं है। दरअसल नियमित यौन गतिविधि के समय योनि में यीस्ट संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है। महिला जननांग में नम वातावरण के कारण इस फंगस को बढ़ने का मौका मिलता है। पुरुषों को भी इसका अनुभव करना पड़ सकता है, लेकिन यह महिलाओं में सबसे आम है।

 

दवाएं प्रभावी रूप से योनि में यीस्ट संक्रमण का इलाज कर सकती हैं। यदि आपको बार-बार ये संक्रमण नहीं होता है – एक वर्ष के भीतर चार या अधिक बार आपको एक लंबा उपचार की आवश्यकता हो सकती है।

 

 

 

योनि में यीस्ट संक्रमण के लक्षण

 

 

योनि में यीस्ट संक्रमण के लक्षण हल्के से मध्यम तक हो सकते हैं, और इसमें शामिल हैं:

 

 

  • योनि में खुजली और जलन

 

 

  • सेक्स करते वक़्त जलन या पेशाब करते समय

 

 

  • लाली और योनि में सूजन

 

 

  • योनि में दर्द और खराश होना (soreness)

 

 

  • योनि में दाने (rash)

 

 

 

योनि में यीस्ट संक्रमण के कारण

 

 

योनि में यीस्ट संक्रमण तब होता है जब नए यीस्ट को योनि क्षेत्र में प्रवेश होता है, या जब सामान्य बैक्टीरिया की मात्रा योनि में पहले से मौजूद यीस्ट की मात्रा में वृद्धि होती है। उदाहरण के लिए, जब एंटीबायोटिक दवाओं द्वारा सामान्य, बैक्टीरिया का उन्मूलन किया जाता है। पेशाब, पथ, श्वसन (साँस), या अन्य प्रकार के संक्रमण का इलाज करने के लिए लिया जाता है) या इम्युनोसप्रेसिव दवाओं द्वारा, यीस्ट ऊतकों (tissues) पर हमला कर सकता है और पहले से होने वाली जलन को और बढ़ा सकते हैं।

 

योनि में यीस्ट संक्रमण भी आंतरिक योनि में चोट के परिणामस्वरूप भी हो सकता है, जैसे कि कीमोथेरेपी (chemotherapy)। इसके अलावा, ये महिलाओं की प्रतिरक्षा प्रणाली पर भी असर डालती है, जब इसका प्रभाव बढ़ता है। इसलिए आपको इसमें जरा सी भी लापरवाही नहीं करनी चाहिए आपको तुरंत अपने डॉक्टर से इसके बारे में बात करनी चाहिए। दरअसल जन महिलाओं की प्रतिरक्षा प्रणाली पहले से कमजोर होती है उन महिलाओं को योनि में यीस्ट संक्रमण होने का खतरा ज्यादा होता है।

 

 

योनि में यीस्ट संक्रमण विकसित करने के लिए महिलाओं को पूर्वगामी बनाने वाली अन्य स्थितियों में शामिल हैं :

 

  • मधुमेह

 

 

  • गर्भावस्था

 

 

  • गर्भ निरोधक गोलियां लेना

 

 

डॉचेस (douches) या परफ्यूम और अन्य स्प्रे के इस्तेमाल से भी योनि में यीस्ट संक्रमण होने का खतरा होता है।

 

 

क्या चीजे योनि में यीस्ट संक्रमण होने के जोखिम को बढ़ाती है ?

 

 

जिन महिलाओं की प्रतिरक्षा प्रणाली (immune system) कमजोर होती है, उनमें योनि में यीस्ट संक्रमण विकसित होने की संभावना दूसरों की तुलना में अधिक होती है। इनमें कैंसर से पीड़ित महिलाएं या कैंसर कीमोथेरेपी करवाने वाली महिलाएं और यौन संबंधी दवाएं लेने वाली महिलाएं शामिल हैं।

 

गर्भवती महिलाओं और गर्भनिरोधक लेने वाली महिलाओं में भी इसका जोखिम बढ़ जाता है। किसी भी कारण से एंटीबायोटिक लेने से योनि में सामान्य जीवाणु की संख्या में परिवर्तन हो सकता है और यीस्ट के कारणों को बढ़ावा दे सकते हैं। `

 

जननांग क्षेत्र में नमी को कम करने से भी महिलाओं को यीस्ट में संक्रमण विकसित होने की संभावना को कम  किया जा सकता है। कॉटन अंडरवियर या अंडरवियर को कॉटन क्रॉच के साथ पहनना, ढीले-ढाले पैंट या जीन्स पहनना, और लंबे समय तक वर्कआउट ना करना ये सभी उपाय हैं जो आपको इसके जोखिमों से बचा सकते हैं।

 

 

 

योनि में यीस्ट संक्रमण से बचाव के उपाय

 

 

योनि में यीस्ट संक्रमण के जोखिम को कम करने के लिए, महिलाओं को बहुत टाइट अंडरवियर पहनेने से बचना चाहिए और इन बातों का भी रखें ध्यान :

 

  • टाइट फिटिंग वाली पेंटीज ना पहने

 

 

  • डॉचिंग Douching, जो योनि में कुछ सामान्य बैक्टीरिया को हटाता है ये आपको संक्रमण से भी बचाता है

 

 

  • अधिक गर्म पानी से मत नहाएं

 

 

  • अपने अंडर ग्रामेन्ट्स को अच्छे से धुलें

 

 

  • अनावश्यक एंटीबायोटिक का उपयोग, जैसे कि जुकाम या अन्य वायरल संक्रमण के लिए डॉक्टर से  कोई भी दवा ना खाएं

 

 

  • गीले कपड़ों को पहनने से बचे

 

 

  • स्विमिंग सूट और वर्कआउट करने के बाद तुरंत कपड़े बदलें।

 

 

योनि में यीस्ट संक्रमण का इलाज करना सरल है, लेकिन इसके निदान के लिए आपको अपने डॉक्टर से सलाह लेना बहुत जरुरी है। क्योंकि अन्य संक्रमण इसके समान लक्षणों का कारण भी बन सकते हैं, लेकिन उनमें विभिन्न उपचारों की आवश्यकता होती है।

 

इसके लिए आपका डॉक्टर आपकी पेशाब का नमूना ले सकता है और माइक्रोस्कोप से उसकी जाँच करने के लिए आपकी योनि से कुछ स्त्राव को बाहर निकाल सकता है। यदि आपको योनि में किसी भी तरह की समस्या का अनुभव होता है तो उसमें आपको बिल्कुल भी लापरवाही नहीं करनी चाहिए। इसके लिए आप हमारे डॉक्टर से भी सलाह ले सकते हैं


Doctor Consutation Free of Cost=

Disclaimer: GoMedii  एक डिजिटल हेल्थ केयर प्लेटफार्म है जो हेल्थ केयर की सभी आवश्यकताओं और सुविधाओं को आपस में जोड़ता है। GoMedii अपने पाठकों के लिए स्वास्थ्य समाचार, हेल्थ टिप्स और हेल्थ से जुडी सभी जानकारी ब्लोग्स के माध्यम से पहुंचाता है जिसको हेल्थ एक्सपर्ट्स एवँ डॉक्टर्स से वेरिफाइड किया जाता है । GoMedii ब्लॉग में पब्लिश होने वाली सभी सूचनाओं और तथ्यों को पूरी तरह से डॉक्टरों और स्वास्थ्य विशेषज्ञों द्वारा जांच और सत्यापन किया जाता है, इसी प्रकार जानकारी के स्रोत की पुष्टि भी होती है।