बच्चों की सेहत और तेज दिमाग के लिए अपनाएं ये टिप्स

Safe20

आज के युग में, बच्चों के स्वास्थ्य के साथ तेज दिमाग भी मायने रखता है। सभी माता-पिता का सपना होता है कि उनका बच्चा स्वस्थ और बुद्धिमान हो। कुछ बच्चों का दिमाग तेज होता है और कुछ उनके दिमाग से बहुत कमजोर होते हैं, जिसके कारण वे अक्सर शिक्षा के मामले में पीछे रह जाते हैं। अगर आप भी अपने बच्चे का दिमाग तेज रखना चाहते हैं, तो आपको बच्चे की डाइट पर ज्यादा ध्यान दें। उन्हें ऐसी चीजें लें, जो दिमाग के लिए बहुत फायदेमंद साबित हों। आज हम आपको कुछ ऐसे खाद्य पदार्थों के बारे में बताएंगे, जो बच्चों की याददाश्त बढ़ाने में बहुत मददगार हैं।

 

बच्चो का तेज दिमाग के लिए अपनाएं ये टिप्स

 

बच्चो को दिमागी खेल खिलाना

 

बच्चों के मस्तिष्क को विकसित करने और उन्हें बुद्धिमान बनाने के लिए, बच्चों के साथ छोटे मस्तिष्क के खेल खेलना आवश्यक है। सबसे पहले, बच्चों, माता-पिता और घर के वातावरण के मानसिक विकास में उनकी महत्वपूर्ण भूमिका होती है। जैसे बच्चों के शारीरिक विकास के लिए उनका ध्यान रखा जाता है। इसी तरह, मानसिक विकास के लिए भी आपको बच्चों को एक अच्छे वातावरण और आपके प्यार और स्नेह की आवश्यकता होती है।

 

मारा पिता बच्चो को ज्यादा दुलार करे

 

दुलार वाशिंगटन विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं द्वारा किए गए एक अध्ययन के अनुसार, जो महिलाएं अपने नवजात शिशुओं को प्यार करती हैं और उन्हें पालती हैं, उनके बच्चों के दिमाग के हिप्पोकैम्पस क्षेत्र में अधिक तंत्रिका कोशिकाएं होती हैं। जिसके कारण बच्चे का दिमाग तेज हो जाता है। माँ के प्रति लगाव का बच्चों के मस्तिष्क विकास पर बहुत प्रभाव पड़ता है।

 

बच्चो से दिमागी कसरत करनी चाहिए

 

दिमाग को तेज करने का सबसे प्रभावी तरीका है दिमाग का व्यायाम करना। इसके लिए आप बच्चों के साथ कोई भी दिमागी खेल खेल सकते हैं जैसे – क्विज़, डिक्शनरी भरना या सही विकल्प चुनना। इस तरह के खेल दोस्तों की मदद से खेले जा सकते हैं। इससे बच्चे की याददाश्त बढ़ेगी और साथ ही याद रखने की इच्छा भी बनी रहेगी।

 

पर्याप्त नींद

 

पोषक तत्वों के अलावा, पर्याप्त नींद आवश्यक है। संयुक्त राज्य में किए गए एक अध्ययन के अनुसार, दोपहर में खाने के लगभग एक घंटे बाद भोजन करने से बच्चों की याददाश्त बढ़ती है। यूनिवर्सिटी ऑफ मैसाचुसेट्स के शोधकर्ताओं के अनुसार, दिमाग को मजबूत बनाने और सीखने के लिए दोपहर की नींद बहुत जरूरी है।

 

मनोरंजन और संगीत

 

मनोरंजन और संगीत से मानव मन को नयापन मिलता है। आपने भी अनुभव किया होगा कि जब आप कोई फिल्म देखते हैं या कोई गाना सुनते हैं तो आपके शरीर का हर हिस्सा सक्रिय रहता है। मन को मजबूत बनाने के लिए यह क्रिया सबसे अच्छी मानी जाती है।

 

बच्चों की याददाश्त बढ़ाने के उपाय

 

सेब

 

सेब स्वादिष्ट होने के साथ-साथ यह सेहत को भी स्वस्थ रखता है। इसमें कई पोषक तत्व, विटामिन और खनिज होते हैं जो हमें बीमारियों से बचाते हैं। सुबह खाली पेट सेब खाने से दिमाग की कोशिकाएं सही तरीके से काम करती हैं, जिससे सोचने और समझने की शक्ति बढ़ती है।

 

सोयाबीन

 

सोयाबीन में हार्मोन और विटामिन बी होते हैं जिन्हें फाइटोएस्ट्रोजेन कहा जाता है। सोयाबीन से बने पकवान खाने से याददाश्त बढ़ती है और मन की कमजोरी दूर होती है। हफ्ते में 2-3 बार सोयाबीन का सेवन करना चाहिए।

 

बादाम

 

बादाम में कॉपर, विटामिन बी, कैल्शियम, पोटैशियम, फॉस्फोरस, आयरन जैसे कई पोषक तत्व होते हैं जो बच्चों और बुजुर्गों दोनों के लिए फायदेमंद है। रात को 5 बादाम पानी में भिगो दें। सुबह इसे छीलकर पेस्ट बना लें और फिर इसे शहद के दूध के साथ पिएं

 

पालक

 

पालक शरीर में आयरन की कमी को पूरा करने में मदद करता है और याददाश्त बढ़ाने में भी मदद करता है। इसमें मैग्नीशियम, पोटेशियम, विटामिन बी, ई और कई पोषक तत्व होते हैं जो मस्तिष्क को तेज बनाते हैं और हमें कभी भी बीमार नहीं होने देते हैं।

 

गाजर और पत्तागोभी

 

गाजर और गोभी को अपने आहार में शामिल करना चाहिए। वर्ष में गाजर और गोभी का उपयोग अधिक करें। सलाद में हरा धनिया, सेंधा नमक, काली मिर्च और नींबू का रस डालकर खाएं।

 

घी या मक्खन

 

घी और मक्खन वसा से भरपूर होते हैं। बच्चों को इसका नियमित सेवन करना चाहिए। इसे दाल या रोटी में मिलाकर इसका सेवन किया जा सकता है।

 

क्रीम दूध – क्रीम दूध में पर्याप्त वसा पाया जाता है। बच्चों का वजन बढ़ाने के लिए इसका सेवन बहुत फायदेमंद होता है। अगर बच्चा दूध पीने से मना करता है, तो चॉकलेट पाउडर मिलाएं या मिलाएं और उसे खिलाने की कोशिश करें।

 

बनाना शेक – बनाना शेक ऊर्जा का एक उत्कृष्ट स्रोत है। यह कमजोर बच्चों के लिए बहुत फायदेमंद है। बनाना शेक या दूध और केला बच्चे को खिलाने से उनका वजन बढ़ता है।

 

पौष्टिक आहार

 

एक पौष्टिक आहार शरीर के लिए उतना ही आवश्यक है जितना कि मानसिक विकास के लिए। यदि बच्चों में उचित पौष्टिक आहार लिया जाता है, तो उनका मस्तिष्क तेजी से विकसित होता है। जिससे उनका दिमाग मजबूत होता है।


Doctor Consutation Free of Cost=

Disclaimer: GoMedii  एक डिजिटल हेल्थ केयर प्लेटफार्म है जो हेल्थ केयर की सभी आवश्यकताओं और सुविधाओं को आपस में जोड़ता है। GoMedii अपने पाठकों के लिए स्वास्थ्य समाचार, हेल्थ टिप्स और हेल्थ से जुडी सभी जानकारी ब्लोग्स के माध्यम से पहुंचाता है जिसको हेल्थ एक्सपर्ट्स एवँ डॉक्टर्स से वेरिफाइड किया जाता है । GoMedii ब्लॉग में पब्लिश होने वाली सभी सूचनाओं और तथ्यों को पूरी तरह से डॉक्टरों और स्वास्थ्य विशेषज्ञों द्वारा जांच और सत्यापन किया जाता है, इसी प्रकार जानकारी के स्रोत की पुष्टि भी होती है।