दिल्ली में आईवीएफ के लिए बेस्ट डॉक्टर, और जानिए इसकी लागत!

GoMedii

किसी भी महिला को गर्भधारण करने से पहले बहुत सारी योजना और सावधानिया रखने की आवश्यकता होती है। वहीं तमाम सावधानियां बरतने के बाद भी कई बार गर्भधारण करना मुश्किल हो जाता है। यह समस्या शरीर में कमजोरी या पुरुष या महिला में किसी प्रकार की चिकित्सीय कमी के कारण हो सकती है।

ऐसे में वैज्ञानिकों ने गर्भधारण करने के लिए ‘आईवीएफ’ नाम की तकनीक की खोज की है। इसे इन विट्रो फर्टिलाइजेशन कहते हैं। जिसकी मदद से महिला माँ और पुरुष पिता बन सकता है। लेकिन इसके लिए आपको सही डॉक्टर का चुनाव करना बहुत जरुरी हैं। तो चलिए आपको दिल्ली में आईवीएफ (IVF) के लिए बेस्ट डॉक्टर के बारे में बताते हैं।

 

 

दिल्ली में आईवीएफ (IVF) के लिए बेस्ट डॉक्टर? (Best doctor for IVF in Delhi in Hindi)

 

यदि आप दिल्ली में आईवीएफ (IVF) के लिए बेस्ट डॉक्टर ढूढ़ रहें यहीं तो इसके लिए आप हम से संपर्क कर सकते हैं। एक बार जब आप  GoMedii को चुनते हैं तो हम आपको इसके लिए आपकी जरूरत के अनुसार बेस्ट डॉक्टर खोजने में आपकी मदद करेंगे। इतना ही नहीं हम आपको कम खर्च में आईवीएफ का ट्रीटमेंट (IVF treatment) भी प्राप्त कराने की कोशिश करेंगे।

 

 

दिल्ली में आईवीएफ उपचार की लागत कितनी है? (How much does IVF treatment cost in Delhi in Hindi)

 

यदि आप दिल्ली में आईवीएफ उपचार की लागत की तलाश कर रहे हैं तो यह लगभग 2,55,000 रुपय से 2,92,000 रुपय तक होगी। आपको बता दें की आईवीएफ ट्रीटमेंट का खर्च कम या ज्यादा हो सकता है।

 

 

आईवीएफ क्या है? (What is IVF In Hindi)

 

आईवीएफ एक ऐसी प्रक्रिया है, जिसे प्रयोगशाला में पुरूष के शुक्राणु और महिला के अंडाणु को मिलकर भ्रूण (embro) बनाया जाता है और उस भ्रूण को कृत्रिम तरीके से जरूरतमंद महिला के गर्भाशय में डाला जाता है, ताकि वह गर्भधारण कर सके।

आपको बता दें कि ‘बांझपन’ महिलाओं में ही नहीं बल्कि पुरुषों में भी होता है, जो बच्चे के जन्म को प्रभावित करता है। इस प्रक्रिया का फैसला लेने से पहले पुरूष और महिला दोनों के बहुत सारे टेस्ट किए जाते हैं। आईवीएफ प्रणाली में मेल फर्टिलिटी (पुरूष बांझपन) और फीमेल फर्टिलिटी (महिला बांझपन) की जांच की जाती है। डॉक्टर इसमें पुरूष के वीर्य (सीमेन) विश्लेषण किया जाता है, तो वहीं दूसरी ओर फीमेल फर्टिलिटी में महिला के हॉर्मोन समस्या, ओवुलेशन अनियमितताओं की भी जांच की जाती है। दरअसल इन टेस्टों से संतान न होने के कारण का पता लगाया जाता है।

 

 

आईवीएफ के ट्रीटमेंट के लिए दिल्ली के सबसे अच्छे हॉस्पिटल? (Best hospitals in Delhi For IVF treatment in Hindi)

 

आपको बता दें कि दिल्ली में आईवीएफ (IVF) का इलाज आसानी से उपलब्ध है इसके लिए आप हमें चुन सकते हैं हम आपको सबसे सस्ती कीमत पर इसका इलाज उपलब्ध कराने की पूरी कोशिश करेंगे। आप इनमें से किसी भी अस्पताल में इलाज करवा सकते हैं:

 

  • बीएलके-मैक्स सुपर स्पेशलिटी अस्पताल, राजिंदर नगर, दिल्ली (Blk Super Speciality Hospital, Rajinder Nagar, Delhi)

 

  • इंद्रप्रस्थ अपोलो अस्पताल, सरिता विहार, दिल्ली (Indraprastha Apollo Hospitals, Sarita Vihar, Delhi)

 

  • फोर्टिस हार्ट अस्पताल, ओखला, दिल्ली (Fortis Heart Hospital, Okhla, Delhi)

 

  • मैक्स सुपर स्पेशलिटी अस्पताल, साकेत, दिल्ली (Max Super Speciality Hospital, Saket, Delhi)

 

यदि आप इस अस्पताल में इलाज करवाना चाहते हैं तो हमसे व्हाट्सएप (+91 9654030724) पर संपर्क कर सकते हैं।

 

 

आईवीएफ की प्रक्रिया कैसे की जाती है? (How is the IVF procedure is done in Hindi)

 

आईवीएफ प्रक्रिया में निम्नलिखित क्रम शामिल हैं:

 

  • पहला चरण: मासिक धर्म को रोकना: इस प्रक्रिया में, महिला को उसके मासिक धर्म को रोकने के लिए सबसे पहले कुछ दवाएं दी जाती हैं क्योंकि यह उसके गर्भधारण की प्रक्रिया में बाधा उत्पन्न कर सकती है।

 

  • दूसरा चरण : अंडे की आपूर्ति बढ़ाएं: इस प्रक्रिया के शुरू होने से कुछ दिन पहले, महिला को प्रजनन दवाएं दी जाती हैं ताकि उसके गर्भाशय में अधिक अंडे विकसित हो सकें। उनके गठन की निगरानी अल्ट्रासाउंड के माध्यम से की जाती है।

 

  • तीसरा चरण: अंडा निकालना: जब अंडे पूरी तरह से बन जाते हैं, तो उन्हें विशेष सुइयों के साथ हटा दिया जाता है, एक प्रक्रिया जिसे अंडा पुनर्प्राप्ति कहा जाता है, जिसे अल्ट्रासाउंड की मदद से किया जाता है।

 

  • चौथा चरण: अंडे और शुक्राणु का मिश्रण: इस प्रक्रिया में, विकसित अंडे को पुरुष के शुक्राणु के साथ मिलाया जाता है, इसे निषेचन कहा जाता है। इनसे बने भ्रूणों को 3 से 5 दिनों तक सुरक्षित रखा जाता है और उनकी निगरानी की जाती है।

 

  • पांचवा चरण : भ्रूण स्थानांतरण: यह भ्रूण उस महिला के गर्भाशय में स्थानांतरित किया जाता है जो गर्भ धारण करना चाहती है।

 

 

डॉक्टर आईवीएफ उपचार का सुझाव कब देते हैं? (When do doctors suggest IVF treatment in Hindi)

 

आईवीएफ उपचार उन महिलाओं के लिए निर्धारित है जो इनमें से किसी भी समस्या का सामना कर रही हैं:

 

  • फैलोपियन ट्यूब ब्लॉकेज

 

  • गर्भाशय फाइब्रॉएड

 

  • ओव्यूलेशन में असामान्यताएं

 

  • शुक्राणु उत्पादन में कमी

 

  • निषेचित कोशिकाओं का संरक्षण

 

  • एंडोमेट्रियोसिस

 

यदि आप कम खर्च में थैलेसीमिया के ट्रीटमेंट की तलाश कर रहे हैं या इससे सम्बंधित किसी भी तरह की जानकारी हासिल करना चाहते हैं तो यहाँ क्लिक करें आप हमसे व्हाट्सएप (+91 9654030724) पर संपर्क कर सकते हैं। इसके अलावा आप हमारी सेवाओं के संबंध में हमें Connect@gomedii.com पर ईमेल भी कर सकते हैं। हमारी टीम जल्द से जल्द आपसे संपर्क करेगी।


Doctor Consutation Free of Cost=

Disclaimer: GoMedii  एक डिजिटल हेल्थ केयर प्लेटफार्म है जो हेल्थ केयर की सभी आवश्यकताओं और सुविधाओं को आपस में जोड़ता है। GoMedii अपने पाठकों के लिए स्वास्थ्य समाचार, हेल्थ टिप्स और हेल्थ से जुडी सभी जानकारी ब्लोग्स के माध्यम से पहुंचाता है जिसको हेल्थ एक्सपर्ट्स एवँ डॉक्टर्स से वेरिफाइड किया जाता है । GoMedii ब्लॉग में पब्लिश होने वाली सभी सूचनाओं और तथ्यों को पूरी तरह से डॉक्टरों और स्वास्थ्य विशेषज्ञों द्वारा जांच और सत्यापन किया जाता है, इसी प्रकार जानकारी के स्रोत की पुष्टि भी होती है।