बोन मैरो ट्रांसप्लांट की लागत कितनी है और यह क्यों किया जाता है?

GoMedii

बोन मैरो ट्रांसप्लांट (बीएमटी) या स्टेम सेल ट्रांसप्लांट एक ऐसी प्रक्रिया है जिसमें एक रोगग्रस्त या क्षतिग्रस्त बोन मैरो को स्वस्थ रक्त-उत्पादक बोन मैरो से बदल दिया जाता है। दरअसल किसी व्यक्ति को इसकी आवश्यकता तब होती है जब उसका बोन मैरो ठीक से काम नहीं करता है। ऐसा होने पर पर्याप्त स्वस्थ रक्त कोशिकाओं का उत्पादन नहीं शरीर में नहीं होता है।

आपको बता दें कि बोन मैरो ट्रांसप्लांट दो तरह से किया जाता है, एक वह है जिसे अपने ही शरीर से ब्लड सेल्स लेकर बोन मैरो ट्रांसप्लांट करना होता है और दूसरा दूसरे के शरीर से ब्लड सेल्स लेकर ट्रांसप्लांट करना होता है। पहले प्रकार को ऑटोलॉगस ट्रांसप्लांट और दूसरे प्रकार को एलोजेनिक ट्रांसप्लांट कहा जाता है। आइए अब आपको बताते हैं कि बोन मैरो ट्रांसप्लांट की लागत कितनी है।

 

 

भारत में बोन मैरो ट्रांसप्लांट की लागत कितनी है? (How much does bone marrow transplant cost in India in Hindi)

 

भारत में बोन मेरौ ट्रांसप्लांट कराने का कुल खर्च लगभग 1000000 रुपय से 2000000 रुपय तक है। भारत में बहुत से बड़े अस्पताल के डॉक्टर है जो का बोन मेरौ ट्रांसप्लांट करते है। लेकिन सभी अस्पतालों में बोन मेरौ ट्रांसप्लांट का खर्च अलग हो सकता है। अगर आप अच्छे अस्पतालों में बोन मेरौ ट्रांसप्लांट करवाना चाहते हैं तो हम आपको इसके लिए बेस्ट हॉस्पिटल्स का सुझाव देंगे।

 

 

बोन मैरो ट्रांसप्लांट के लिए दिल्ली के सबसे अच्छे हॉस्पिटल? (Best hospitals in Delhi For Bone Marrow Transplant in Hindi)

 

आपको बता दें कि दिल्ली में बोन मैरो ट्रांसप्लांट आसानी से उपलब्ध है इसके लिए आप हमें चुन सकते हैं हम आपको सबसे सस्ती कीमत पर इसका इलाज उपलब्ध कराने की पूरी कोशिश करेंगे। आप इनमें से किसी भी अस्पताल में इलाज करवा सकते हैं:

 

  • बीएलके-मैक्स सुपर स्पेशलिटी अस्पताल, राजिंदर नगर, दिल्ली (Blk Super Speciality Hospital, Rajinder Nagar, Delhi)

 

  • इंद्रप्रस्थ अपोलो अस्पताल, सरिता विहार, दिल्ली (Indraprastha Apollo Hospitals, Sarita Vihar, Delhi)

 

  • फोर्टिस हार्ट अस्पताल, ओखला, दिल्ली (Fortis Heart Hospital, Okhla, Delhi)

 

  • मैक्स सुपर स्पेशलिटी अस्पताल, साकेत, दिल्ली (Max Super Speciality Hospital, Saket, Delhi)

 

यदि आप इस अस्पताल में इलाज करवाना चाहते हैं तो हमसे व्हाट्सएप (+91 9654030724) पर संपर्क कर सकते हैं।

 

 

बोन मैरो ट्रांसप्लांट के लिए गुरुग्राम के सबसे अच्छे हॉस्पिटल? (Best hospitals in Gurugram For Bone Marrow Transplant in Hindi)

 

  • नारायण सुपरस्पेशलिटी अस्पताल, गुरुग्राम (Narayana Superspeciality Hospital, Gurugram)

 

  • मेदांता द मेडिसिटी, गुरुग्राम (Medanta The Medicity, Gurugram)

 

  • फोर्टिस हेल्थकेयर लिमिटेड, गुरुग्राम (Fortis Healthcare Ltd., Gurugram)

 

  • पारस अस्पताल, गुरुग्राम (Paras Hospitals, Gurugram)

 

यदि आप इस अस्पताल में इलाज करवाना चाहते हैं तो हमसे व्हाट्सएप (+91 9654030724) पर संपर्क कर सकते हैं।

 

 

बोन मैरो ट्रांसप्लांट के लिए हैदराबाद के सबसे अच्छे हॉस्पिटल? (Best hospitals in Hyderabad For Bone Marrow Transplant in Hindi)

 

  • यशोदा सुपर स्पेशलिटी अस्पताल, सोमाजी गुडा, हैदराबाद (Yashoda Super Speciality Hospital, Somaji Guda, Hyderabad)

 

  • अपोलो हेल्थ सिटी, जुबिल हिल्स, हैदराबाद (Apollo Health City, Jubille Hills, Hyderabad)

 

  • कॉन्टिनेंटल हॉस्पिटल्स लिमिटेड, हैदराबाद (Continental Hospitals Limited, Hyderabad)

 

  • ग्लेनीगल्स ग्लोबल हॉस्पिटल्स, लकड़ी का पूल, हैदराबाद (Gleneagles Global Hospitals, Lakadi Ka Pool, Hyderabad)

 

यदि आप इस अस्पताल में इलाज करवाना चाहते हैं तो हमसे व्हाट्सएप (+91 9654030724) पर संपर्क कर सकते हैं।

 

 

कोलकाता में बोन मैरो ट्रांसप्लांट के लिए बेस्ट हॉस्पिटल? (Best hospitals in Kolkata For Bone Marrow Transplant in Hindi)

 

यदि आप कोलकाता में बोन मैरो ट्रांसप्लांट के लिए हॉस्पिटल की तलाश में हैं तो आप हम से संपर्क कर सकते हैं:

 

  • अमरी अस्पताल साल्ट लेक, साल्ट लेक, कोलकाता (Amri Hospital Salt Lake, Salt Lake, Kolkata)

 

  • अपोलो ग्लेनीगल्स अस्पताल, कडापारा, कोलकाता (Apollo Gleneagles Hospital, Kadapara, Kolkata)

 

  • सीके बिड़ला अस्पताल, अलीपुर, कोलकाता (Ck Birla Hospital, Alipore, Kolkata)

 

  • फोर्टिस अस्पताल, आनंदपुर, कोलकाता (Fortis Hospital, Anandapur, Kolkata)

 

यदि आप इनमें से किसी भी अस्पताल में ट्रीटमेंट करवाना चाहते हैं तो हमसे व्हाट्सएप (+91 9654030724) पर संपर्क कर सकते हैं।

 

 

बोन मैरो ट्रांसप्लांट क्यों किया जाता है? (Why is a bone marrow transplant done in Hindi)

 

ऑटोलॉगस और एलोजेनिक ट्रांसप्लांट निम्नलिखित कारणों से किए जाते हैं:

ऑटोलॉगस ट्रांसप्लांट (जिसमें स्टेम सेल आपके अपने शरीर से लिए जाते हैं)

 

  • हॉजकिन्स और नॉन-हॉजकिन्स लिंफोमा: उन मामलों के लिए जिनमें बीमारी वापस आती है या लाइलाज है, यह मानक चिकित्सा है और ज्यादातर मामलों में यह एकमात्र उपचारात्मक विकल्प है।

 

  • मायलोमा: हालांकि यह उपचारात्मक नहीं है, यह प्रारंभिक चिकित्सा के एक भाग के रूप में मानक उपचार है क्योंकि यह जीवन प्रत्याशा में काफी वृद्धि करता है।

 

  • ल्यूकेमिया: इस बीमारी के इलाज की संभावना को बढ़ाने के लिए एक्यूट ल्यूकेमिया मायलोइड का उपयोग समेकन चिकित्सा के एक भाग के रूप में किया जाता है।

 

  • एलोजेनिक ट्रांसप्लांट (जब स्टेम सेल किसी अन्य व्यक्ति से लिया जाता है)
    ए- थैलेसीमिया
  • (बी) अन्य विकृतियां, विशेष रूप से उनमें एक एकल जीन दोष शामिल है।
  • सी-अप्लास्टिक एनीमिया
  • द-हाई रिस्क एएमएल और रिप्लेस्ड एएमएल
  • Ch-Relapsed ALL (तीव्र लिम्फोसाइटिक ल्यूकेमिया)

 

 

बोन मैरो ट्रांसप्लांट में क्या होता है और यह कैसे काम करता है? (What Happens in a Bone Marrow Transplant and How It Works in Hindi)

 

ब्लड कैंसर, थैलेसीमिया सहित ब्लड की गंभीर बीमारियों से पीड़ि‍त मरीजों को बोन मैरो ट्रांसप्लांट की जरूरत पड़ती है। इसमें स्वस्थ व्यक्ति की बोन मैरो को मरीज की बोन मैरो से बदला जाता है। इसके बाद स्वस्थ को‍शिकाएं बनती हैं और संक्रमण से मुकाबला करती हैं। यह मरीज की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाता है। कुछ लोगों का यह मानना है कि बोन मैरो ट्रांसप्लांट में ऑपरेशन होता है, लेकिन ऐसा नहीं है। और ना ही यह सर्जरी है।

दरअसल यह खून बदलने की एक प्रक्रिया है। इसमें डोनर की हड्डी में बिना छेद किए परिधीय रक्त को स्टेम सेल्स की मदद से निकाला जाता है। डोनर को 4 से 5 दिन के लिए पीसीएस थैरेपी दी जाती है। फिर मरीज की नसों से खून लेकर उसे मशीनों में सर्कुलेट कर स्टेम सेल जमा किए जाते हैं।

जिसके बाद इन सेल्स को 4 डिग्री तापमान पर रखा जाता है। अगली प्रक्रिया में मरीज को हाई डोज कीमोथैरेपी दी जाती है ताकि उसके शरीर के खराब सेल्स पूरी तरह से खत्म हो जाएं। इस प्रक्रिया के बाद स्वस्थ स्टेम सेल्स मरीज के शरीर में इंजेक्ट कर दिए जाते हैं।

 

 

बोन मैरो ट्रांसप्लांट की प्रक्रिया में क्या होता है? (Procedure of Bone Marrow Transplant in Hindi)

 

ऑटोलॉगस बोन मैरो ट्रांसप्लांट (Autologous bone marrow transplant in Hindi): जिसमें इस्तेमाल की जाने वाली स्टेम सेल खुद मरीज की होती है। इन स्टेम कोशिकाओं को कीमोथेरेपी या विकिरण चिकित्सा से पहले लिया जा सकता है।

 

एलोजेनिक बोन मैरो ट्रांसप्लांट (Allogeneic bone marrow transplant in Hindi): जिसमें इस्तेमाल की जाने वाली स्टेम सेल किसी अन्य व्यक्ति की होती है, आमतौर पर एक करीबी रिश्तेदार। उनके स्टेम सेल की अनुकूलता की जांच के लिए कई परीक्षण किए जाते हैं।

 

अम्बिलिकल कॉर्ड ब्लड ट्रांसप्लांट (Umbilical cord blood transplant in Hindi): जिसमें जन्म के तुरंत बाद गर्भनाल से स्टेम सेल लिया जाता है। ये अपरिपक्व कोशिकाएं जो भी कोशिकाओं की आवश्यकता होती है उनमें अंतर कर सकती हैं। दाता के मामले में मानव ल्यूकोसाइट एंटीजन संगतता परीक्षणों का उपयोग करके अस्थि मज्जा का मिलान किया जाना है।

स्टेम सेल को एफेरेसिस या बोन मैरो हार्वेस्टिंग द्वारा एकत्र किया जा सकता है। एफेरेसिस में, एक डोनर सेल को एक पृथक्करण मशीन से जोड़ा जाता है जिसमें रक्त से स्टेम सेल को हटा दिया जाता है।

एफेरेसिस से एक सप्ताह पहले यह आवश्यक है; परिधीय रक्त प्रणाली से बाहर निकलने के लिए अस्थि मज्जा से स्टेम कोशिकाओं को उपयुक्त दवा दी जाती है। अस्थि मज्जा कटाई के मामले में, स्टेम सेल आमतौर पर एक सुई का उपयोग करके कूल्हे की हड्डी से एकत्र किए जाते हैं।

 

क्या बोन मैरो ट्रांसप्लांट के बाद मरीज सामान्य जीवन जी सकता है?

 

बिल्कुल, संक्रमण की संभावना को कम करके, स्वच्छता का पर्याप्त ध्यान रखना, संतुलित और पौष्टिक आहार अपनाना, स्वस्थ जीवन शैली के लिए हल्का व्यायाम करना, अत्यधिक तनाव से बचना, नियमित रूप से दवाएँ लेना, बताई गई बातों का पालन करना। अस्थि मज्जा प्रत्यारोपण के बाद पहले छह महीनों के बाद, मज्जा प्राप्त करने वाला व्यक्ति सामान्य जीवन जी सकता है और अपनी शिक्षा, पेशेवर और पारिवारिक जीवन जारी रख सकता है।

 

यदि आप कम खर्च में हड्डीयों के कैंसर के इलाज  की तलाश कर रहे हैं या इससे सम्बंधित किसी भी तरह की जानकारी हासिल करना चाहते हैं तो यहाँ क्लिक करें आप हमसे व्हाट्सएप (+91 9654030724) पर संपर्क कर सकते हैं। इसके अलावा आप हमारी सेवाओं के संबंध में हमें Connect@gomedii.com पर ईमेल भी कर सकते हैं। हमारी टीम जल्द से जल्द आपसे संपर्क करेगी।


Doctor Consutation Free of Cost=

Disclaimer: GoMedii  एक डिजिटल हेल्थ केयर प्लेटफार्म है जो हेल्थ केयर की सभी आवश्यकताओं और सुविधाओं को आपस में जोड़ता है। GoMedii अपने पाठकों के लिए स्वास्थ्य समाचार, हेल्थ टिप्स और हेल्थ से जुडी सभी जानकारी ब्लोग्स के माध्यम से पहुंचाता है जिसको हेल्थ एक्सपर्ट्स एवँ डॉक्टर्स से वेरिफाइड किया जाता है । GoMedii ब्लॉग में पब्लिश होने वाली सभी सूचनाओं और तथ्यों को पूरी तरह से डॉक्टरों और स्वास्थ्य विशेषज्ञों द्वारा जांच और सत्यापन किया जाता है, इसी प्रकार जानकारी के स्रोत की पुष्टि भी होती है।