चेहरे पर दाने और खुजली हटाने के आसान उपाय

Safe20

यह गर्मी का मौसम है और ऐसे मौसम में कई तरह की त्वचा की समस्याएं उत्पन्न होती हैं जो कभी-कभी आपके अच्छे और सुंदर चेहरे को बदसूरत बना देती हैं। इस मौसम में त्वचा संबंधी समस्याएं जैसे कील मुंहासे, दाने, कालेपन की समस्या उत्पन्न होती है। कई बार, इस समस्या का इलाज करते समय, लोगों की अधिक समस्याएं उत्पन्न होती हैं, जिसे लोग शायद अनदेखा कर देते हैं।

 

दरसल, हम चेहरे के दाने के बारे में बात कर रहे हैं। वैसे, दाने किसी व्यक्ति के चेहरे को बदसूरत बनाने के लिए पर्याप्त है और माथे पर दानो का निकलना आपकी चमक को फीका कर देते है। ऐसा इसलिए है क्योंकि माथे पर इन छोटे दानों के कारण होने वाली गर्मी अक्सर होती है, फिर कभी-कभी प्रदूषण, मृत त्वचा कोशिकाओं और अधिक तेल के कारण, ये दाने हमारे माथे पर निकलने लगते हैं।

 

चेहरे पर दाने निकलने के कारण

 

  • चेहरे की एलर्जी

 

  • पेट की बीमारी के कारण

 

  • हार्मोन का असंतुलन

 

  • गैर जरूरी त्वचा का पोषण

 

  • तैलीय त्वचा पर पिंपल्स और कील मुंहासे जल्दी होते हैं

 

  • रासायनिक-समृद्ध क्रीम और सौंदर्य उत्पादों के दुष्प्रभाव

 

चेहरे पर दाने और खुजली हटाने के उपाय

 

1. त्वचा पर धूल मिट्टी के कणों के निर्माण के कारण चेहरे पर दाने होने के मुख्य कारणों में से एक है। इसलिए पिंपल्स और कील मुहासों को रोकने और ठीक करने के लिए फेशियल क्लींजिंग करें। गाय के दूध में रूई भिगोकर चेहरे को साफ करने से त्वचा के छिद्र खुल जाएंगे और चेहरे में निखार भी आएगा।

 

2. नीम के पत्ते पीस कर पिंपल्स पर लगाने से चेहरे से दाने समाप्त होने लगते है। इसके इलावा नीम के पत्तों को पानी में उबाल कर रख ले और हमेशा इसी से मुँह धोये।

 

3. तैलीय त्वचा पर दाने होने का खतरा अधिक होता है, इसके उपचार के लिए मुल्तानी मिट्टी में गुलाब जल और नीम पाउडर मिलाएं और इसे चेहरे पर लगाएं और 15 मिनट के बाद चेहरे को पानी से साफ कर लें। यह चेहरे पर दाने को ठीक करने का एक निश्चित तरीका है।

 

4. तुलसी में चेहरे के पिंपल्स को हटाने और चेहरे को सुंदर बनाने के प्राकृतिक गुण होते हैं। तुलसी के पत्तों को पानी में पीसकर उसका पेस्ट चेहरे पर लगाएं। यह उपाय चेहरे पर पिंपल्स के इलाज में मदद करता है।

 

5. चेहरे पर पिंपल्स, फुंसियां और दानों पर खुजली और जलन की समस्या को दूर करने के लिए त्वचा पर पुदीने को पीसकर लगाएं। यह नुस्खा कील मुहासों के उपचार और दाग धब्बों को साफ करने में भी मदद करता है।

 

6. गर्मी के कारण चेहरे पर दाने आने लगते हैं, उन्हें हटाने के लिए खीरे का इस्तेमाल करें। खीरे को पीसकर चेहरे पर लगाएं। दाने धीरे-धीरे साफ होने लगते हैं।

 

7. बेसन में नींबू का रस मिलाकर उसका पेस्ट चेहरे पर लगाने से चेहरा साफ हो जाता है, बार-बार होने वाले फोड़े-फुंसी और छोटे चकत्ते की समस्या से राहत मिलती है।

 

8. चेहरे पर दाने के उपचार में एलोवेरा रामबाण का काम करता है। इसके लिए एलोवेरा जेल में नींबू का रस मिलाएं और चेहरे पर लगाएं और 20 से 25 मिनट के बाद साफ करें।

 

9. चंदन चेहरे के लिए भी बहुत अच्छा होता है। चंदन में दूध और हल्दी मिलाकर इसका फेस पैक तैयार करें और इसे अपने चेहरे पर लगाएं। यह उपाय चेहरे के धब्बे और पिंपल्स के इलाज में भी मदद करता है।

10. चेहरे पर दाने निकलने से बचने के लिए, रात को सोने से पहले चेहरे का मेकअप साफ करें, फिर गुलाब जल, नींबू का रस और ग्लिसरीन मिलाकर चेहरे पर लगाएं। हर दिन, ये उपचार माथे और चेहरे पर दाने को रोकेंगे।

 

चेहरे के दाने से बचने के उपाय

 

  • फास्ट फूड और अधिक तली-भुनी चीजें खाने से बचें और अपने आहार में ऐसे खाद्य पदार्थ खाएं जो शरीर और त्वचा को आवश्यक विटामिन और पोषण दें।
  • पिंपल्स और कील मुंहासे निकलने पर इन्हें बार बार हाथ ना लगाए और ना ही इन्हें हाथ से फोड़े। इससे दाने ठीक होने के बाद इनका दाग रह जाता है।
  • अगर आपको बार-बार दाने की समस्या है, तो चेहरे पर विभिन्न प्रकार के क्रीम और सौंदर्य उत्पादों का उपयोग करने से बचें।
  • हर दिन 3 से 4 लीटर पानी पिएं, इसकी वजह से शरीर में जमा विषैले कण शरीर से बाहर निकल जाएंगे, जिससे त्वचा स्वस्थ रहेगी और चेहरा ग्लो करेगा।
  • ज्यादा तनाव न लें, अच्छी नींद लें, धूप और धूल मिट्टी से बचें। ये कुछ छोटे-छोटे उपाय हैं जिनका नियमित पालन करके चेहरे पर दाने और फोड़े फुंसी की समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है।

Doctor Consutation Free of Cost=

Disclaimer: GoMedii  एक डिजिटल हेल्थ केयर प्लेटफार्म है जो हेल्थ केयर की सभी आवश्यकताओं और सुविधाओं को आपस में जोड़ता है। GoMedii अपने पाठकों के लिए स्वास्थ्य समाचार, हेल्थ टिप्स और हेल्थ से जुडी सभी जानकारी ब्लोग्स के माध्यम से पहुंचाता है जिसको हेल्थ एक्सपर्ट्स एवँ डॉक्टर्स से वेरिफाइड किया जाता है । GoMedii ब्लॉग में पब्लिश होने वाली सभी सूचनाओं और तथ्यों को पूरी तरह से डॉक्टरों और स्वास्थ्य विशेषज्ञों द्वारा जांच और सत्यापन किया जाता है, इसी प्रकार जानकारी के स्रोत की पुष्टि भी होती है।