कोरोनावायरस को देखते हुए, अन्य देशों के लिए चीन ने जारी किया हॉटलाइन नंबर

Safe20

भारत ने वुहान में फंसे 250 छात्रों और अन्य नागरिकों के लिए एक तीसरी हॉटलाइन खोली है, यह हॉटलाइन करोनावयरस से बचने के लिए जारी की गई है। यहां तक कि चीन ने वहाँ फंसे अमेरिकियों को निकालने की भी पेशकश की, जिससे भारतीयों के लिए भी ऐसी ही व्यवस्था होने की उम्मीद बढ़ गई है।

 

हालाँकि अभी तक इसकी कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है, लेकिन माना जाता है कि सरकार ने चीनी अधिकारियों से वुहान में भारतीय छात्रों को वापस भेजने का अनुरोध किया है, जिनमें से अधिकांश छात्र दवाओं के अध्ययन की पढ़ाई कर रहे हैं।

 

 

चीनी दूतावास द्वारा खोली गई अतिरिक्त हॉटलाइन का अर्थ “बड़ी संख्या में” फोन से निपटने में मदद करना है, बीजिंग में भारतीय दूतावास को हुबेई प्रांत के वुहान में भारतीयों से प्राप्त किया गया है, 58 लोग ऐसे है जो अभी तक कोरोनोवायरस के प्रकोप से खुद को संक्रमित मान रहे हैं जो पहले से ही अपने जीवन के बारे में आशंका जता रहे हैं। आपको बता दें की संक्रमण की दर अगले कुछ दिनों में 50% तक बढ़ सकती है।

 

 

कोरोनावायरस को लेकर विदेशमंत्री ने किया ट्वीट

 

 

चीनी दूतावास ने बताया है कि, “बीजिंग में भारतीय दूतावास द्वारा कोरोनावायरस के प्रकोप के कारण स्थापित दो हॉटलाइन नंबरों पर बड़ी संख्या में फ़ोन कॉल्स को देखते हुए दूतावास ने तीसरा हॉटलाइन नंबर +8618610802903 खोलने का फैसला किया है,” चीनी दूतावास ने ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी है दो हॉटलाइन नंबर +8618612083629 और +8618612083617 हैं।

 

भारतीय विदेश मंत्री एस जयशंकर ने भी ट्वीट कर लिखा है कि भारत वुहान में स्थिति पर करीब से नजर बनाए हुए है। “बीजिंग में हमारा दूतावास चीन में भारतीयों के स्वास्थ्य और कल्याण पर लगातार जाँच कर रहा है।

 

पिछले दो दिनों में, इस हॉटलाइन नंबर के जारी होने के बाद लगभग 600 कॉल का जवाब दिया गया है। दरअसल बीजिंग में सरकार और दूतावास सभी विकल्पों की जांच कर रहे हैं, जिसमें चीनी अधिकारियों के साथ परामर्श के माध्यम से, हमारे प्रभावित नागरिकों को राहत प्रदान करना शामिल है।

 

ये वायरस दुनिया के अन्य हिस्सों में तेजी से फैल रहा है। जिसमें संयुक्त राज्य अमेरिका, वियतनाम, दक्षिण कोरिया और हांगकांग जैसे देश शामिल है। नेपाल में भी कोरोनावायरस का एक मामला सामने आया था। चीन में नए साल के जश्न के कारण इस वायरस के फैलने की संभावना अधिक थी।

 

 

कोरोनावायरस के लक्षण

 

आपको बता दें की लगभग 700 भारतीय छात्रों को वुहान और उसके आसपास के क्षेत्रों के विश्वविद्यालयों में अध्ययन करने का अनुमान है। इसके शुरुआती लक्षणों को नजरअंदाज नहीं करना चाहिए और तुरंत अपने डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए। अधिकांश कोरोनावायरस के लक्षण किसी श्वसन (साँस) संक्रमण के समान होते हैं :

 

 

  • नाक बहना,

 

 

 

 

  • सिरदर्द।

 

 

कैसे खुद को बचाएं

 

 

इसके कुछ मामलों में सांस की तकलीफ और बुखार भी शामिल हैं। इसकी रोकथाम के लिए आपको ज्यादा कुछ करने की जरुरत नहीं है।

 

 

  • किसी व्यक्ति के बीमार होने पर विशेष रूप से अपने हाथों को बार-बार धोएं,

 

 

  • छींकते या खांसते समय हमेशा अपना मुंह ढक कर रखें,

 

 

  • साँस संबंधी बीमारी या लक्षणों के साथ किसी के भी संपर्क से बचें,

 

 

  • पौष्टिक आहार खाएं,

 

 

  • कहीं भी यात्रा के दौरान मास्क का इस्तेमाल जरूर करें।

 

 

आप खुद को ऐसा करके काफी हद तक बचा सकते है वैसे अभी तक इसके प्रभावी कारणों को समझा नहीं गया है। इससे मरने वाले लोगों की संख्या में बढ़ोतरी होती जा रही है। उसके बाद अभी तक किसी तरह के प्रभावी कदम नहीं उठाएं गए है।


Doctor Consutation Free of Cost=

Disclaimer: GoMedii  एक डिजिटल हेल्थ केयर प्लेटफार्म है जो हेल्थ केयर की सभी आवश्यकताओं और सुविधाओं को आपस में जोड़ता है। GoMedii अपने पाठकों के लिए स्वास्थ्य समाचार, हेल्थ टिप्स और हेल्थ से जुडी सभी जानकारी ब्लोग्स के माध्यम से पहुंचाता है जिसको हेल्थ एक्सपर्ट्स एवँ डॉक्टर्स से वेरिफाइड किया जाता है । GoMedii ब्लॉग में पब्लिश होने वाली सभी सूचनाओं और तथ्यों को पूरी तरह से डॉक्टरों और स्वास्थ्य विशेषज्ञों द्वारा जांच और सत्यापन किया जाता है, इसी प्रकार जानकारी के स्रोत की पुष्टि भी होती है।