भारत में सबसे कम उम्र की बच्ची को हुआ कोरोनावायरस, कैसे करें मास्क का सही इस्तेमाल?

Safe20

 

 

भारत की पहली और सबसे छोटी तीन वर्षीय बच्ची को कोरोनवायरस से संक्रमित पाया गया है। यह बच्ची महाराष्ट्र के कल्याण जिले की रहने वाली है। अभी तक इस राज्य में कोविड -19 मामलों की संख्या सबसे अधिक 39 है, मामलों को बढ़ता देख सरकार ने आंशिक रूप से काफी जगहों को बंद करने का आदेश दिया है।

 

“कल्याण की रहने वाली 33 वर्षीय महिला और उसकी तीन वर्षीय बच्ची को 14 मार्च से आइसोलेट किया जा रहा था। उस महिला और उसकी बेटी को 16 मार्च 2020 को कोरोनावायरस के टेस्ट में पॉजिटिव पाया गया। दरअसल इस महिला के पति ने हाल ही अमेरिका की यात्रा की थी जिसके बाद इसे वहां से वापस आने के बाद 14 मार्च को कोरोनावायरस से पॉजिटिव पाया गया।

 

आपको बता दें की 9 मार्च को महाराष्ट्र में पहली बार कोरोनावायरस का पहला मामला सामने आया था। अभी तक भारत में कोरोना वायरस के कुल 127 मामलें सामने आये हैं। दिल्ली में 31 मार्च तक सभी पिक्चर हॉल्स, स्कूल्स और जिम को सरकार ने बंद करने के आदेश दिए हैं। पूरे एन सी आर में कई ऑफिसेस में लोगों को घर से काम करने को कहा गया है।

 

 

स्वास्थ्य मंत्रालय ने मास्क पहनने पर दिशानिर्देश जारी किये

 

 

कोरोनोवायरस से संक्रमित लोगों के मामलों में तेजी से बढ़ोतरी देखने को मिल रही है। इसके साथ ही यूरोपीय संघ, ब्रिटेन और तुर्की से यात्रा पर प्रतिबंध लगाकर केंद्र सरकार ने बड़ा फैसला लिया है।

 

स्वास्थ्य मंत्रालय ने मास्क पहनने पर दिशानिर्देश का एक नया सेट भी जारी किया, जो इस समय कमोडिटी में सबसे अधिक मांग में से एक है। गाइडलाइन के मुताबिक, सभी को मास्क पहनने की जरूरत नहीं है।

 

 

केवल मास्क तभी पहने :

 

 

  • यदि आप में ऐसे कोई लक्षण हैं तभी मास्क पहनें (खांसी, बुखार या सांस लेने में कठिनाई)

 

  • अगर आप कोविड -19 के टेस्ट में पॉजिटिव पाए गए हैं

 

  • आपका स्वास्थ्य कई दिन से खराब है

 

 

 

स्वास्थ्य मंत्रालय ने मास्क को कैसे पहनने है, इसकी प्रक्रिया के बारे में भी बताया है

 

 

  • मास्क ऐसा होना चाहिए जो आपके नाक और मुँह को अच्छे से ढक कर रखे।

 

 

  • यदि आप लंबे समय तक मास्क पहनते हैं और वह गीला हो जाता है, तो मास्क बदलें।

 

 

  • सुनिश्चित करें कि मास्क के दोनों तरफ कोई गैप न हो वह अच्छे से आपके फेस को कवर करे उसमें कोई गैप नहीं होना चाहिए।

 

 

  • डिस्पोजेबल मास्क का इस्तेमाल कभी न करें और इस्तेमाल करने के बाद उसे बाहर ना फेंके केवल डस्ट बिन में ही फेंके।

 

 

  • मास्क पहनते समय यही कोशिश करें की मास्क को अंदर से ना छुएं।

 

 

  • मास्क हटाते समय मास्क की बाहरी दूषित सतह को छूने के बाद अपने हाथ साफ करें।

 

 

  • मास्क को गर्दन पर नहीं लटकाएं।

 

 

  • मास्क हटाने के बाद, अपने हाथों को साबुन और पानी से साफ करें और अल्कोहल-आधारित सैनिटाइजर का उपयोग करें।

 

 

कोरोनावायरस के लक्षण

 

 

यदि कोरोनावायरस का मरीज खुले में खांसता या छींकता है तो हवा में उसके कीटाणु फैल जाते हैं और उसके पास में बैठा व्यक्ति जब साँस लेता है, तो वह भी कोरोनावायरस से संक्रमित हो जाता है इसके लक्षणों में शामिल है :

 

सरकार द्वारा कोरोनोवायरस को लेकर स्वछता को मद्देनजर रखते हुए प्रचार और प्रसार जारी है। दरअसल कोरोनावायरस से अभी तक उन्हीं लोगों की मौत हुई है जिनका इम्यून सिस्टम कमजोर है। लोगों को लगातार अपने घरों में साफ सफाई रखने और ज्यादा भीड़ वाली जगह पर ना जाने को कहा गया है और मास्क और सैनिटाइजर का इस्तेमाल करने को कहा गया है। जिसके बाद मार्केट में लोगों को बहुत सी जगह मास्क और सैनिटाइजर मिल ही नहीं रहे हैं।

 

 

भारत ने मंगलवार को कोविड -19 के 11 नए मामलों की सूचना दी है, जिसमें संक्रमित लोगों की कुल संख्या 125 हो गई है, जो बीते दिन 114 थी। महाराष्ट्र में सात नए मामले सामने आए हैं, कर्नाटक में दो, केरल और तेलंगाना में एक-एक। जबकि चार ताजा मामले – ओडिशा, जम्मू और कश्मीर, लद्दाख और केरल में से प्रत्येक मामले सोमवार को सामने आये थे।


Doctor Consutation Free of Cost=

Disclaimer: GoMedii  एक डिजिटल हेल्थ केयर प्लेटफार्म है जो हेल्थ केयर की सभी आवश्यकताओं और सुविधाओं को आपस में जोड़ता है। GoMedii अपने पाठकों के लिए स्वास्थ्य समाचार, हेल्थ टिप्स और हेल्थ से जुडी सभी जानकारी ब्लोग्स के माध्यम से पहुंचाता है जिसको हेल्थ एक्सपर्ट्स एवँ डॉक्टर्स से वेरिफाइड किया जाता है । GoMedii ब्लॉग में पब्लिश होने वाली सभी सूचनाओं और तथ्यों को पूरी तरह से डॉक्टरों और स्वास्थ्य विशेषज्ञों द्वारा जांच और सत्यापन किया जाता है, इसी प्रकार जानकारी के स्रोत की पुष्टि भी होती है।