डायबिटीज पेशेंट हैं तो गर्मी में क्या खाएं

 

डायबिटीज क्या है (What is diabetes)

 

आजकल के इस भागदौड़ भरे युग में डायबिटीज पेशेंट (Diabetic patient) की संख्या बढ़ती ही जा रही है और यह बीमारी अनियमित जीवनशैली (Irregular lifestyles) की वजह से हो रही है. हर कोई अपने काम में व्यस्त रहने की वजह से अपने सेहत का ख्याल नहीं रखते और जिस वजह से उन्हें कई सारी बीमारियां हो रही है, जैसे की डायबिटीज और यह एक ऐसी बीमारी है, जो शरीर में अन्य कई बीमारियों को भी निमंत्रण देती है।

 

जब हमारे शरीर के पैंक्रियाज (Pancreas) में इंसुलिन (Insulin) का पहुंचना कम हो जाता है, तो ब्लड (Blood) में ग्लूकोज (Glucose) का लेवल (Level) बढ़ जाता है। इस स्थिति को डायबिटीज कहा जाता है।

 

इंसुलिन (Insulin) एक हार्मोन है जो पाचक ग्रंथि (Digestive gland) द्वारा बनता है। शरीर के अंदर भोजन को एनर्जी (Energy) में बदलने का काम इंसुलिन (Insulin) का होता है। यही वह हार्मोन (Hormone) है जो हमारे शरीर में शुगर (Sugar) की मात्रा को कंट्रोल करता है। डायबिटीज हो जाने पर शरीर को भोजन से एनर्जी (Energy) बनाने में कठिनाई होती है। इस स्थिति में ग्लूकोज (Glucose) का बढ़ा हुआ स्तर शरीर के और भी दूसरे अंगों को नुकसान पहुंचाना शुरू कर देता है।

 

 

डायबिटीज के कारण (Causes of Diabetes)

 

 

  • अनुवांशिक ( Genetic)

 

  • मोटापा (obesity)

 

  • ज्यादा शारीरिक श्रम न करना (Do not do much physical work)

 

  • मानसिक तनाव और डिप्रेशन (Mental stress and depression)

 

 

  • ज्यादा चाय, दूध, कोल्ड ड्रिंक्स (cold drinks) और चीनी खाने की वजह से भी डायबिटीज हो सकता है

 

 

 

टाइप 2 डायबिटीज (Type 2 diabetes)

 

 

डायबिटीज पेशेंट जो टाइप 2 डायबिटीज (Type 2 diabetes) से प्रभावित होते है, उनमे ब्लड शुगर का लेवल (Blood sugar level) बहुत ज्यादा बढ़ जाता है, जिसको नियंत्रण करना बहुत मुश्किल होता है। इस स्थिति में पीडि़त व्यक्ति को –

 

  • अधिक प्यास लगती है

 

  • बार-बार मूत्र लगना

 

  • लगातार भूख लगना

 

यह किसी को भी हो सकता है, लेकिन इसे बच्चों में अधिक देखा जाता है। टाइप 2 मधुमेह (Type 2 diabetes) में शरीर इंसुलिन (Insulin) का सही तरीके से प्रयोग नहीं कर पाता है।

 

 

डायबिटीज पेशेंट हैं तो गर्मी में इन चीजों का सेवन करे 

 

 

डिहाइड्रेशन (Dehydration) की वजह से डायबिटीज पेशेंट को गर्मी में ब्लड शुगर (Blood sugar) के बढ़ने की संभावना अधिक होती है। इसलिए डायबिटीज पेशेंट को गर्मी में इन हाइड्रेटिंग (Hydrating) खाद्य पदार्थों का सेवन करना चाहिए क्योंकि इससे ब्लड शुगर (Blood sugar) भी नियंत्रित में रहता है।

 

गर्मी के महीने में बहुत सारी समस्याएं होने लगती है, जैसे की – पसीने, सनबर्न, गर्मी के चकत्ते और धब्बे और इसके साथ ही टाइप 2 डायबिटीज (Type 2 diabetes) सहित कुछ क्रॉनिक (Chronic) स्वास्थ्य समस्याएं गर्मी में बढ़ जाती है। इसलिए, डायबिटीज पेशेंट को अपने ब्लड शुगर (Blood sugar) को नियंत्रण में रखने के लिए अपने खान-पान का विशेष ध्यान रखना चाहिए।

 

अगर आप डायबिटीज पेशेंट हैं तो गर्मियों के ताजे और स्वादिष्ट खाद्य पदार्थों का सेवन करे, जो आपको ठंडा रखेंगे, आपके शरीर को पोषण देंगे, उच्च रक्त शर्करा (high blood sugar) और वजन को नियंत्रित करेंगे

 

खीरा (Cucumber)

 

  • डायबिटीज पेशेंट के लिए खीरा एक स्वस्थ विकल्प हो सकता है। हाल ही में हुए कई शोध इस बात को साबित कर रहे हैं कि रोजाना खीरा खाने से डायबिटीज का खतरा कम हो सकता है।

 

  • खीरे में कार्बोहाइड्रेट और कैलोरी (Carbohydrates and Calories) की मात्रा बहुत कम होती हैं, लेकिन विटामिन (Vitamins) और पोषक तत्व अधिक मात्रा में होते हैं, जो की ब्लड शुगर के लेवल (Blood sugar level) को कम करता है और स्वास्थ्य को बेहतर बनाने में भी मदद करता हैं।

 

 

टमाटर (Tomatoes)

 

  • टमाटर ( Tomatoes) को डायबिटीज पेशेंट के लिए एक सुपरफूड (Superfood) माना गया है। टमाटर में पोषक तत्व भरपूर मात्रा में होता है, जैसे की – लाइकोपीन (Lycopene), पोटेशियम (Potassium), फोलेट (Folate), फाइबर(Fiber), मैंगनीज (Manganese), मैग्नीशियम (Magnesium), विटामिन बी 6 (Vitamin B6), और विटामिन ई (Vitamin E)।

 

  • शोध से यह पता चलता है कि टमाटर के सेवन से डायबिटीज से होने वाले जोखिम जैसे- हृदय रोगों की समस्या  (Heart diseases) कम हो सकती है।

 

 

समर स्क्वैश (Summer squash)

 

  • जिन सब्जियों में विटामिन (Vitamins) और पोषक तत्वों की मात्रा अधिक होती है, उसे समर स्क्वैश (Squash) कहा जाता है। इन सब्जियों का सेवन करने से रक्त शर्करा और इंसुलिन (Blood sugar and insulin) के स्तर को कम कर सकते हैं।

 

  • कई अध्ययन में सुझाव दिया गया है कि स्क्वैश (Squash) के कंपाउंड इंसुलिन मेटाबॉलिज्म और ब्लड शुगर (Compound insulin metabolism and blood sugar) के स्तर को संतुलित रखने में मदद कर सकते हैं, साथ ही टाइप 2 डायबिटीज पेशेंट (Type 2 diabetes patient) को भी बचा सकते हैं।

 

 

ब्लू बेरि (Blue berry)

 

  • बेरीज जैसे की – स्ट्रॉबेरी (Strawberry), रस्पबेरी (Raspberry) और ब्लैकबेरी (Blackberry) डायबिटीज पेशेंट के लिए बहुत ही फायदेमंद हैं। ब्लूबेरी (Blue berry) में पोषक तत्वों की मात्रा अधिक होती है- जैसे कि फाइबर (Fiber), पोटेशियम (Potassium), कैल्शियम (Calcium), मैग्नीशियम (Magnesium), फोलेट (Folate), विटामिन सी (vitamin C), विटामिन ई (Vitamin E), और विटामिन के (Vitamin K)।

 

  • एक अध्ययन से पता चला है कि ब्लूबेरी स्मूदी (Blueberry Smoothie) पीने से मोटे व्यक्तियों के लिए फायदेमंद होता है।

 

 

बैंगन (Brinjal)

 

बैंगन (Brinjal) में उच्च फिनोल स्तर कार्बोहाइड्रेट (High-phenol-level carbohydrate) के चयापचय मेटाबॉलिज्म (Metabolism) में सुधार कर सकते हैं, बीटा-कोशिकाओं (Beta-cells) की रक्षा कर सकते हैं, जो कोशिकाएं इंसुलिन (Cells Insulin) का उत्पादन और स्राव करती हैं। इंसुलिन रक्त में ग्लूकोज (Glucose) के स्तर को नियंत्रित करने के लिए जिम्मेदार हार्मोन (Hormone) है।

 

 

अगर आप डायबिटीज पेशेंट है तो ऊपर बताये गए खाद्य पदार्थों का सेवन करे और आप चाहते है आप और आपका परिवार डायबिटीज से बचे तो, उसके लिए आपको डॉक्टर की सलाह रेगुलर लेनी चाहिए और रेगुलर चेकअप (Regular checkup) कराते रहना चाहिए जिससे शुगर कण्ट्रोल में रहे।

 

 


Doctor Consutation Free of Cost=

Disclaimer: GoMedii  एक डिजिटल हेल्थ केयर प्लेटफार्म है जो हेल्थ केयर की सभी आवश्यकताओं और सुविधाओं को आपस में जोड़ता है। GoMedii अपने पाठकों के लिए स्वास्थ्य समाचार, हेल्थ टिप्स और हेल्थ से जुडी सभी जानकारी ब्लोग्स के माध्यम से पहुंचाता है जिसको हेल्थ एक्सपर्ट्स एवँ डॉक्टर्स से वेरिफाइड किया जाता है । GoMedii ब्लॉग में पब्लिश होने वाली सभी सूचनाओं और तथ्यों को पूरी तरह से डॉक्टरों और स्वास्थ्य विशेषज्ञों द्वारा जांच और सत्यापन किया जाता है, इसी प्रकार जानकारी के स्रोत की पुष्टि भी होती है।