क्यों जरूरी है डिजिटल डेटॉक्स” (Digital Detox) और ये क्या है?

UPTO20

 

 

हमने आपको डिटॉक्स से जुड़ी कई चीजों के बारे में बताया है। डिटॉक्स डाइट, डिटॉक्स रूटीन, डिटॉक्सिंग लाइफ, लेकिन क्या आपने “डिजिटल डेटॉक्स” के बारे में सुना है? हमें यकीन है कि आपने इसके बारे में क्या, इस नाम के बारे में भी नहीं सुना होगा।

 

 

हमें यकीन है कि आप जानते हैं की हम किस “डिजिटल” के बारे में बात कर रहे हैं। दरअसल, हम मूल रूप से आपके आसपास के सभी डिजिटल उपकरणों से दूर होने की बात कर रहे हैं। हम सभी जानते हैं कि हम आज के समय में एक डिजिटल युग में जी रहें हैं, बिना किसी डिजिटल डिवाइस के आसपास रहना खुद के स्वास्थ्य को खराब करने जैसा है। तो चलिए वास्तव में जानते हैं कि आखिर ये डिजिटल डिटॉक्स क्या है?

 

 

 

डिजिटल डिटॉक्स क्या है? (What is digital detox in Hindi)

 

 

आपको बता दें की डिजिटल डिटॉक्स (digital detox) से हम आपको ये बताना चाहते हैं की, जब कोई व्यक्ति स्मार्टफोन, टेलीविज़न, कंप्यूटर, टैबलेट और सोशल मीडिया साइटों जैसे तकनीकी उपकरणों का उपयोग करने से परहेज करता है। डिजिटल उपकरणों से “डिटॉक्सिंग” के दौरान आप अक्सर अपने निजी जीवन पर बुरा प्रभाव डाल रहें हैं। ऐसे करने से आप लोगों के साथ सामाजिक इंटरैक्शन नहीं कर पाते हैं और आप केवल डिजिटल उपकरण पर ही ध्यान केंद्रित करते हैं।

 

कम से कम अस्थाई रूप से डिजिटल उपकरणों से घिरा होने की वजह से, लोग निरंतर रूप से तनाव के संपर्क में आने लगते हैं। इससे पहले कि आप तय करें कि यह आपके लिए सही है या गलत, उससे पहले “डिजिटल डिटॉक्स” (digital detox) करने के कुछ संभावित लाभों और तरीकों पर विचार करते हैं।

 

 

 

क्या कोई कारण है जो आपको डिजिटल डिटॉक्स करना चाहिए?

 

 

हां, एक से अधिक कारण हो सकते हैं कि आपको अपने जीवन में डिजिटल डिटॉक्स की आवश्यकता क्यों है। जब आप अपने कंप्यूटर और लैपटॉप के सामने बैठे रहते हैं या अपने फोन पर होते हैं, तो हर समय, आप जीवन में बहुत सारी चीजों का आनंद लेने में विफल रहते हैं। बीएमसी पब्लिक हेल्थ द्वारा किए गए एक अध्ययन में ये बात सामने आई है की “कम मोबाइल फोन का उपयोग आपको तनाव, नींद की समस्या और पुरुषों और महिलाओं के लिए अवसाद के लक्षणों को कम करता है।जब कोई व्यक्ति, बहुत ज्यादा मोबाइल फोन का उपयोग करता है तो उसे सबसे पहले नींद से जुड़ी समस्या होती है। यह पुरुषों और महिलाओं के लिए अवसाद के लक्षणों को पैदा करती है।

 

लिंक: https://bmcpublichealth.biomedcentral.com/articles/10.1186/1471-2458-11-66

 

 

 

डिजिटल डिटॉक्स में क्या करें?

 

 

डिजिटल डिटॉक्स, करना आसान है अगर आप सभी चीजों का पालन करें, तभी आप इसे कर सकते हैं। यह किसी भी अन्य आहार डाइट की तरह है, आप जानते हैं कि इसके परिणाम केवल तभी आएंगे जब आप इसे सही ढंग से करेंगे। तो यहाँ कुछ तरीके हैं:

 

 

  • अपने फोन को हमेशा देखने की आदत को बंद करें 

 

जब भी आपको लगता है कि आप अपने फोन का बहुत अधिक उपयोग कर रहे हैं, तो हर बार खुद से यह सवाल पूछे की आप ऐसा क्यों करते हैं। यह आपको कारण समझने में मदद करेगा,की आप ऐसा क्यों कर रहें हैं और इसके पीछे की क्या वजह है। तब आपको यह समझ में आ जाएगा की आप ऐसा क्यों करते हैं।

 

 

 

  • अपने आप को लैपटॉप से ​​दूर रखें

 

जो लोग लैपटॉप पर काम करते हैं उनके लिए ऐसा करना थोड़ा मुश्किल होगा लेकिन आप ऐसा करते वक़्त बीच में थोड़ा गैप ले सकते हैं। यदि कोई व्यक्ति अपना काम घर ले जाते हैं, तो आपका लैपटॉप आपके साथ ही रहता है। तो कोशिश यही करें कि अपना काम ऑफिस में ही ख़तम करें, ताकि घर पर भी आपको लैपटॉप का इस्तेमाल ना करना पड़े। क्योंकि ये आपकी सेहत को नुकसान पहुँचाता है।

 

 

 

  • अतिसफल होने की कोशिश ना करें 

 

ऐसे बहुत से लोग है जो उत्साह में आकर अपने काम पर ध्यान देना बंद कर देते हैं। यदि आप ऐसा करने से बचना चाहते हैं, तो अपने काम को खतम करने के लिए एक समय निर्धारित करें, यदि आप उसे समय रहते हासिल नहीं कर पा रहे हैं तो उसे छोड़ दें या उसमें कुछ परिवर्तन करें। अपने लिए उन लक्ष्यों और रणनीतियों को बनाए, जिन्हें आप अपनी कैपेबिलिटी से पूरा कर सकते हैं।

 

 

 

  • सुनिश्चित करें कि आप पर्याप्त नींद लें

 

आपको अपने आप को स्वस्थ रखने के लिए यह सुनिश्चित करना होगा कि आप अपने बिस्तर पर पर्याप्त नींद लें रहें है या नहीं। आज के समय में लोगो की एक बहुत ही गंदी आदत बन चुकी है। वह सोने से पहले अपना फोन जरूर इस्तेमाल करते हैं, जो सबसे ज्याद उनकी आँखों के लिए नुकसानदायक होता है। यदि आप डिजिटल डिटॉक्स करना चाहते हैं तो ऐसा बिल्कुल भी ना करें।

 

 

 

  • हर काम करने का एक नियमित समय बनाए

 

आप अपने काम करने के लिए 8 घंटे, नींद के लिए 8 घंटे और कुछ अन्य कामों को करने के लिए बाकी के बचे 8 घंटे का इस्तेमाल करें। ज्यादा काम करना वास्तव में हमें किसी स्वास्थ्य समस्या का शिकार बना सकता है। स्मार्ट तरीके से काम करना और समय की बचत करना सीखें। इससे हमारा दिमाग तनाव मुक्त रहेगा और दिमाग में फालतू की बातें नहीं आएँगी।

 

 

 

  • अन्य काम के लिए समय निकालें

 

अपने आप को डिजिटल डिटॉक्स की श्रेणी में शामिल करने के लिए आप किसी भी तरह का खेल, या रचनात्मक काम करने की कोशिश करें । ऐसा करने के लिए आपको किसी भी तरह की डिजिटल डिवाइस की आवश्यकता नहीं पड़नी चाहिए। आपको अपने आप को उन चीजों से दूर रखना होगा जो आपको दिनभर किसी भी तरह से डिजिटल डिवाइस से दूर रखे।

 

 

 

  • सभी उपकरणों को सूचीबद्ध करें

 

इससे पहले कि आप डिजिटल डिटॉक्स पर जाएं, उससे पहले ये देखें कि आप किन कामो को नहीं कर सकते हैं, जैसे स्पीकर से लेकर कान में हेडफोन तक को अपने से दूर रखना होगा। इस सूचि में आपका टीवी भी पहले स्थान पर है। कुछ अध्ययनों के अनुसार डिजिटल डेटॉक्स ने अवसाद को कम करने में भी मदद की है। तो आप किस बात का इंतज़ार कर रहे हैं, अभी से डिटॉक्स प्लान पर काम करें, बल्कि डिजिटल डिटॉक्स करने की कोशिश करें।


Doctor Consutation Free of Cost=

Disclaimer: GoMedii  एक डिजिटल हेल्थ केयर प्लेटफार्म है जो हेल्थ केयर की सभी आवश्यकताओं और सुविधाओं को आपस में जोड़ता है। GoMedii अपने पाठकों के लिए स्वास्थ्य समाचार, हेल्थ टिप्स और हेल्थ से जुडी सभी जानकारी ब्लोग्स के माध्यम से पहुंचाता है जिसको हेल्थ एक्सपर्ट्स एवँ डॉक्टर्स से वेरिफाइड किया जाता है । GoMedii ब्लॉग में पब्लिश होने वाली सभी सूचनाओं और तथ्यों को पूरी तरह से डॉक्टरों और स्वास्थ्य विशेषज्ञों द्वारा जांच और सत्यापन किया जाता है, इसी प्रकार जानकारी के स्रोत की पुष्टि भी होती है।