जानिए किडनी में पथरी के इलाज के लिए डॉक्टर, हॉस्पिटल और इसका खर्च

GoMedii

जब किडनी में छोटे-छोटे स्टोन होते हैं, तो ये यूरिन के जरिए बाहर निकल आते हैं लेकिन अगर स्टोन की संख्या और साइज बड़ा है तो आपके पेट और कमर के निचले हिस्से में दर्द हो सकता है। जब पथरी बड़ी हो जाती है तो वह इधर-उधर घूमने लगती है, जिससे तेज दर्द होता है। यदि सही समय पर इसकी जांच कराई जाए तो किडनी में पथरी का इलाज संभव होता है। किडनी में पथरी का इलाज कराने के लिए आपको घरेलू नुस्खे आजमाने की बजाय आपको डॉक्टर के पास जाकर सही इलाज करवाना चाहिए। इस लेख में हम आपको बेस्ट डॉक्टर और हॉस्पिटल के नाम बताएंगे।  से किडनी स्टोन के क्लिनिकल उपचार के बारे में जानेंगे।

 

 

किडनी में पथरी का इलाज के लिए डॉक्टर और हॉस्पिटल (Doctors and Hospitals for treatment of kidney stones in Hindi)

 

 

डॉ. विशाल दत्त गौर

एमबीबीएस, एमएस – जनरल सर्जरी, एमसीएच – यूरोलॉजी/जेनिटो-यूरिनरी सर्जरी, यूरोलॉजिस्ट, यूरोलॉजिकल सर्जन, एंड्रोलॉजिस्ट, अनुभव 20 साल।

 

डॉ अमन गुप्ता

एमबीबीएस, एमएस – जनरल सर्जरी, एमसीएच – यूरोलॉजी, यूरोलॉजिस्ट, अनुभव 21 साल।

 

डॉ. एस के पाली

एमबीबीएस, एमएस – जनरल सर्जरी, एमसीएच – यूरोलॉजी/जेनिटो-यूरिनरी सर्जरी, यूरोलॉजिस्ट अनुभव 42 साल।

 

डॉ राजिंदर यादव 

एमबीबीएस, एमएस – जनरल सर्जरी, एमसीएच – यूरोलॉजी, यूरोलॉजिस्ट, अनुभव 49 साल।

 

डॉ पवन केसरवानी

एमबीबीएस, एमएस – जनरल सर्जरी, एमसीएच – यूरोलॉजी, यूरोलॉजिस्ट, एंड्रोलॉजिस्ट, अनुभव 26 साल।

 

डॉ. दिलीप भल्ला

डीएनबी – नेफ्रोलॉजी, डीएम – नेफ्रोलॉजी, एमबीबीएस, एमडी – मेडिसिन, नेफ्रोलॉजिस्ट / रीनल स्पेशलिस्ट, अनुभव 35 साल।

 

डॉ. अंजनी कुमार अग्रवाल

एमबीबीएस, एमएस – जनरल सर्जरी, एमसीएच – यूरोलॉजी, यूरोलॉजिस्ट, एंड्रोलॉजिस्ट, अनुभव 27 साल।

 

डॉ अनंत कुमार

एमबीबीएस, एमएस – जनरल सर्जरी, एमसीएच – यूरोलॉजी / जेनिटो-यूरिनरी सर्जरी, डीएनबी – यूरोलॉजी / जेनिटो – यूरिनरी सर्जरी, यूरोलॉजिस्ट, एंड्रोलॉजिस्ट, अनुभव 42 साल।

 

डॉ अनुपम भार्गव

एमबीबीएस, यूरोलॉजी में डिप्लोमा, यूरोलॉजिस्ट, कुल मिलाकर 33 साल।

 

डॉ विजय कुमार

एमबीबीएस, एमएस – जनरल सर्जरी, डीएनबी – जनरल सर्जरी, डीएनबी – यूरोलॉजी / जेनिटो – यूरिनरी सर्जरी, यूरोलॉजिस्ट, अनुभव 30 साल।

 

किडनी में पथरी के इलाज के लिए हॉस्पिटल  (Hospital for the treatment of kidney stones in Hindi)

 

यदी आप लिवर के बढ़ने का इलाज कराना चाहते हैं तो आप हमारे द्वारा बताए गए इनमें से कोई भी हॉस्पिटल में अपना इलाज करवा सकते हैं:

 

लिवर के बढ़ने पर इलाज के लिए गुरुग्राम के बेस्ट अस्पताल

 

  • नारायण सुपरस्पेशलिटी अस्पताल, गुरुग्राम

 

  • मेदांता द मेडिसिटी, गुरुग्राम

 

  • फोर्टिस हेल्थकेयर लिमिटेड, गुरुग्राम

 

  • पारस अस्पताल, गुरुग्राम

 

लिवर के बढ़ने पर इलाज के लिए दिल्ली के बेस्ट अस्पताल

 

  • बीएलके-मैक्स सुपर स्पेशलिटी अस्पताल, राजिंदर नगर, दिल्ली

 

  • इंद्रप्रस्थ अपोलो अस्पताल, सरिता विहार, दिल्ली

 

  • फोर्टिस हार्ट अस्पताल, ओखला, दिल्ली

 

  • मैक्स सुपर स्पेशलिटी अस्पताल, साकेत, दिल्ली

 

लिवर के बढ़ने पर इलाज के लिए मेरठ के बेस्ट अस्पताल

 

  • सुभारती अस्पताल, मेरठ

 

  • आनंद अस्पताल, मेरठ

 

लिवर के बढ़ने पर इलाज के लिए ग्रेटर नोएडा के बेस्ट अस्पताल

 

  • शारदा अस्पताल, ग्रेटर नोएडा

 

  • यथार्थ अस्पताल, ग्रेटर नोएडा

 

  • बकसन अस्पताल, ग्रेटर नोएडा

 

  • जेआर अस्पताल, ग्रेटर नोएडा

 

  • प्रकाश अस्पताल, ग्रेटर नोएडा

 

  • दिव्य अस्पताल, ग्रेटर नोएडा

 

  • शांति अस्पताल, ग्रेटर नोएडा

 

लिवर के बढ़ने पर इलाज के लिए हापुड़ के बेस्ट अस्पताल

 

  • शारदा अस्पताल, हापुड़

 

  • जीएस अस्पताल, हापुड़

 

  • बकसन अस्पताल, हापुड़

 

  • जेआर अस्पताल, हापुड़

 

  • प्रकाश अस्पताल, हापुड़

 

लिवर के बढ़ने पर इलाज के लिए मुंबई के सबसे अच्छे अस्पताल

 

  • नानावटी सुपर स्पेशलिटी अस्पताल, विले पार्ले वेस्ट, मुंबई

 

  • लीलावती अस्पताल और अनुसंधान केंद्र, बांद्रा, मुंबई

 

लिवर के बढ़ने पर इलाज के लिए बैंगलोर के सबसे अच्छे अस्पताल

 

  • फोर्टिस अस्पताल, बन्नेरगट्टा रोड, बैंगलोर

 

  • अपोलो अस्पताल, बैंगलोर

 

लिवर के बढ़ने पर इलाज के लिए कोलकाता के सबसे अच्छे अस्पताल

 

  • रवींद्रनाथ टैगोर इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ कार्डिएक साइंस, मुकुंदपुर, कोलकाता

 

लिवर के बढ़ने पर इलाज के लिए चेन्नई के सबसे अच्छे अस्पताल

 

  • अपोलो प्रोटॉन कैंसर सेंटर, चेन्नई

 

लिवर के बढ़ने पर इलाज के लिए हैदराबाद के सबसे अच्छे अस्पताल

 

  • ग्लेनीगल्स ग्लोबल हॉस्पिटल्स, लकडी का पूल, हैदराबाद

 

लिवर के बढ़ने पर इलाज के लिए अहमदाबाद के सबसे अच्छे अस्पताल

 

  • केयर इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज, सोला, अहमदाबाद

 

यदि आप इनमें से कोई अस्पताल में इलाज करवाना चाहते हैं तो हमसे व्हाट्सएप (+91 9654030724) पर संपर्क कर सकते हैं।

 

 

किडनी में पथरी के इलाज का खर्च कितना होता है? (What is the treatment cost of  kidney stone in Hindi)

 

किडनी में पथरी का इलाज, पथरी के आकार और मरीज की स्वास्थ्य पर निर्भर करता हैं। डॉक्टर पहले कुछ टेस्ट का सुझाव दे सकते हैं। किडनी स्टोन के इलाज की औसत लागत लगभग रुपय 22,000 से शुरू होती है।

 

 

किडनी और मूत्र प्रणाली कैसे काम करती है? (How kidney and urinary system work in Hindi)

 

 

किडनी मुट्ठी के आकार का अंग हैं जो शरीर के तरल पदार्थ और रासायनिक स्तरों को संभालते हैं। हमारे शरीर में दो किडनी होती हैं, स्वस्थ किडनी रक्त से अपशिष्ट पदार्थो निकलती है जो पेशाब के रस्ते शरीर से बाहर निकल जाते हैं। वे रक्त में सोडियम, पोटेशियम और कैल्शियम के स्तर को नियंत्रित करते हैं।

किडनी, मूत्रवाहिनी और मूत्राशय मूत्र पथ का हिस्सा हैं। मूत्र पथ शरीर में मूत्र का निर्माण, परिवहन और इकठ्ठा करता है। किडनी पानी और शरीर के अपशिष्ट पदार्थो से पेशाब बनाती है। इसके बाद मूत्र मूत्रवाहिनी से मूत्राशय में चला जाता है, जहां यह जमा हो जाता है। पेशाब शरीर को मूत्रमार्ग के माध्यम से बाहर निकाल देता है।

किडनी में पथरी तब बनती है जब कुछ पथरी किडनी से मूत्रवाहिनी में चली जाती है। मूत्रवाहिनी किडनी से मूत्राशय तक जाने वाली नलिकाएं होती हैं। यदि कोई पथरी गुर्दे से निकलकर मूत्रवाहिनी में फंस जाए तो उसे मूत्रवाहिनी पथरी कहते हैं।

 

 

जाने किडनी स्टोन किससे बने होते हैं और इसके प्रकार? (Know what kidney stones are made of and their types in Hindi)

 

गुर्दे की पथरी कई अलग-अलग प्रकार और रंगों में आती है। आप उनके साथ कैसा व्यवहार करते हैं और नए पत्थरों को बनने से रोकते हैं, यह इस बात पर निर्भर करता है कि आपके पास किस प्रकार का पत्थर है।

 

  • कैल्शियम स्टोन (80 प्रतिशत पथरी): कैल्शियम स्टोन किडनी स्टोन का सबसे आम प्रकार है। कैल्शियम स्टोन दो प्रकार के होते हैं: कैल्शियम ऑक्सालेट और कैल्शियम फॉस्फेट।

 

  • यूरिक एसिड स्टोन (5-10 प्रतिशत पथरी): यूरिक एसिड एक अपशिष्ट उत्पाद है जो शरीर में रासायनिक परिवर्तनों से आता है।

 

  • स्ट्रुवाइट/संक्रमण स्टोन (पत्थरों का 10 प्रतिशत): स्ट्रुवाइट पत्थर एक सामान्य प्रकार का पत्थर नहीं है। ये पथरी पुराने मूत्र पथ के संक्रमण (यूटीआई) से संबंधित हैं।

 

  • सिस्टीन स्टोन्स (1 प्रतिशत से कम स्टोन): सिस्टीन एक एमिनो एसिड है जो कुछ खाद्य पदार्थों में होता है; यह प्रोटीन के निर्माण खंडों में से एक है।

 

 

किडनी की पथरी का इलाज कैसे किया जाता है? (How are kidney stones treated in Hindi)

 

 

यदि पथरी अपने आप शरीर से बाहर नहीं निकलती है, तो उन्हें अल्ट्रासाउंड शॉक वेव्स से तोड़ा जा सकता है या एक मामूली सर्जरी में हटाया जा सकता है। सबसे उपयुक्त तरीका मुख्य रूप से इस बात पर निर्भर करेगा कि पत्थर कितने बड़े हैं, वे कहाँ हैं और वे किस चीज से बने हैं।

 

अल्ट्रासाउंड शॉक वेव थेरेपी

अल्ट्रासाउंड शॉक वेव थेरेपी में पथरी को तोड़ने के लिए ध्वनि तरंगों का उपयोग किया जाता है। पत्थर के टुकड़े फिर मूत्र में बह जाते हैं। इस उपचार को एक्स्ट्राकोर्पोरियल शॉक वेव लिथोट्रिप्सी (ESWL) भी कहा जाता है। शरीर के बाहर से ऊतक के माध्यम से पत्थरों तक ध्वनि तरंगों को भेजने के लिए एक मशीन का उपयोग किया जाता है।

 

एंडोस्कोपिक प्रक्रिया के माध्यम से पथरी निकाली जाती है:

 

सर्जरी के माध्यम से पथरी को हटाने के लिए दो सामान्य तरीके हैं: यूरेटरोरेनोस्कोपी (ureterorenoscopy) और परक्यूटेनियस नेफ्रोलिथोट्रिप्सी (percutaneous nephrolithotripsy)

 

यूरेटरोरेनोस्कोपी (URS): यूरेटरोरेनोस्कोपी का उपयोग उन पत्थरों के लिए किया जाता है जो व्यास में 10 मिलीमीटर से बड़े होते हैं और मूत्रवाहिनी के मध्य या निचले तीसरे भाग में होते हैं। 20 मिलीमीटर व्यास तक के गुर्दे की पथरी को अक्सर यूआरएस का उपयोग करके हटा दिया जाता है।

 

परक्यूटेनियस नेफ्रोलिथोट्रिप्सी (percutaneous nephrolithotripsy): इस प्रक्रिया में, मरीज को पीठ पर बने एक छोटे से कट के माध्यम से एक एंडोस्कोप को गुर्दे में ले जाया जाता है। वहां पत्थरों को या तो मकेनेकाली (mechanically ) या लेजर से तोड़ा जा सकता है।

 

 

किडनी की पथरी का क्या कारण है? (What causes kidney stones in Hindi)

 

किडनी की पथरी किसी को भी हो सकती है, लेकिन कुछ लोगों को इसके होने की संभावना दूसरों की तुलना में अधिक होती है। महिलाओं की तुलना में पुरुषों को किडनी की पथरी अधिक बार होती है। अन्य जातियों के लोगों की तुलना में गैर-हिस्पैनिक गोरे लोगों में किडनी की पथरी भी अधिक आम है। आपको किडनी की पथरी होने की अधिक संभावना हो सकती है यदि आप:

 

  • पहले किडनी में पथरी हो चुकी है

 

  • परिवार में किसी को किडनी में पथरी होना

 

  • पर्याप्त पानी ना पीना

 

  • बहुत अधिक प्रोटीन, सोडियम (नमक), या चीनीका सेवन

 

  • अधिक वजन होना

 

  • पहले कभी आंतों की सर्जरी होना

 

 

  • एक स्वास्थ्य समस्या है जिसके कारण आपके मूत्र (पेशाब) में सिस्टीन, ऑक्सालेट, यूरिक एसिड या कैल्शियम का उच्च स्तर होना

 

  • एक स्वास्थ्य समस्या है जो आपके पाचन तंत्र या आपके जोड़ों में सूजन का कारण बनती है

 

  • कुछ दवाओं का सेवन करना

 

 

किडनी की पथरी के लक्षण क्या हैं? (What are the symptoms of kidney stones in Hindi)

 

 

क‍िडनी में पथरी होने पर आपको कई तरह के लक्षण नजर आ सकते हैं, इन लक्षणों के नजर आने पर आप तुरंत डॉक्‍टर से संपर्क करें और जांच करवाएं:

 

  • उल्‍टी आना

 

  • चक्‍कर आना

 

  • पीठ में तेज दर्द

 

  • पेट के आसपास दर्द होना

 

  • यूर‍िन में ब्‍लड आना

 

यदि आप क‍िडनी में पथरी का इलाज कराना चाहते हैं या इससे संबंधित कोई सवाल पूछना चाहते हैं तो यहाँ क्लिक करें या आप हमसे व्हाट्सएप (+91 9654030724) पर संपर्क कर सकते हैं। इसके अलावा आप हमारी सेवाओं के संबंध में हमें Connect@gomedii.com पर ईमेल भी कर सकते हैं। हमारी टीम जल्द से जल्द आपसे संपर्क करेगी।

 
Doctor Consutation Free of Cost=

Disclaimer: GoMedii  एक डिजिटल हेल्थ केयर प्लेटफार्म है जो हेल्थ केयर की सभी आवश्यकताओं और सुविधाओं को आपस में जोड़ता है। GoMedii अपने पाठकों के लिए स्वास्थ्य समाचार, हेल्थ टिप्स और हेल्थ से जुडी सभी जानकारी ब्लोग्स के माध्यम से पहुंचाता है जिसको हेल्थ एक्सपर्ट्स एवँ डॉक्टर्स से वेरिफाइड किया जाता है । GoMedii ब्लॉग में पब्लिश होने वाली सभी सूचनाओं और तथ्यों को पूरी तरह से डॉक्टरों और स्वास्थ्य विशेषज्ञों द्वारा जांच और सत्यापन किया जाता है, इसी प्रकार जानकारी के स्रोत की पुष्टि भी होती है।