मांसपेशियों में ऐंठन का कारण और बचने के उपाय

Safe20

 

 

मांसपेशियों में ऐंठन को अंग्रेजी में मसल्स क्रैम्प (Muscle Cramp) कहा जाता है। यह काफी लोगों को परेशान करता है, मांसपेशियों में ऐंठन किसी भी आयु के व्यक्ति को हो सकती है। दरअसल मांसपेशियां हमारे पूरे शरीर में फैली होती हैं और ये हमें ताकत भी देती है। ये शरीर में  लचीलापन बनाए रखती है। ऐसे में इनमें होने वाला खिंचाव बहुत दर्द देता है।

 

मांसपेशियों में ऐंठन ‎अचानक शुरू होती है और इसकी वजह से आपका किसी भी काम में मन नहीं लगता है। ये ऐंठन आपके कंधे, पैरों, हाथों, गर्दन, पीठ में हो सकती है। इसके पीछे एक्सरसाइज भी एक कारण हो सकता है। जब आप एक्सरसाइज करते वक़्त झटका देते है, तो उसकी वजह से भी ऐसा हो जाता है। इसके आलावा लोगों की बिगड़ती जीवनशैली भी इसके पीछे जिम्मेदार होती है।

 

 

 

मांसपेशियों में ऐंठन का कारण

 

 

  • मांसपेशियों में थकान (Muscle fatigue)

 

 

  • ज्यादा एक्सरसाइज करना

 

 

  • झटके से अधिक वजन उठाना

 

 

  • मेटाबॉलिक डिसऑर्डर (Metabolic disorders)

 

 

  • न्यूरॉन डिसऑर्डर (Neuron disorders)

 

 

  • गलत पोजीशन में बैठना और सोना (Sitting and sleeping in the wrong position)

 

 

  • अधिक वजन होना

 

 

  • पौष्टिक भोजन में कमी (Nutritional deficiency)

 

 

  • मांसपेशियों पर दबाव (Muscle pressure)

 

 

 

 

  • चोट लगना

 

 

आपके शरीर में जब कैल्शियम (calcium),पोटैशियम (potassium), सोडियम (sodium), मैग्नीशियम (magnesium) की कमी हो जाती है तो उसकी वजह से भी ऐसा हो सकता है।

 

 

 

मांसपेशियों में ऐंठन से बचने के उपाय

 

 

मांसपेशियों में ऐंठन को रोका नहीं जा सकता है। हालाँकि, आप कुछ ऐसे कर सकते हैं, जिससे इसके जोखिम को कम किया जा सकता है :

 

 

 

संतुलित आहार खाएं

 

एक संतुलित मात्रा में ही भोजन करें और कोशिश करें कि ताजे फल और सब्जियां खाएं, इसके अलावा  आप साबुत अनाज का भी सेवन करें, जो आपकी मांसपेशियों में ऐठन के खतरे को कम कर सकता है और आप इन सभी चीजों का सेवन करके खुद को ऊर्जावान बना सकते हैं।  दरअसल इसमें भरपूर मात्रा में कार्बोहाइड्रेट के साथ प्रोटीन भी होता है। यदि आप मांसाहारी है तो आप चिकन और और टोफू का सेवन भी कर सकते हैं।

 

 

 

रोजाना व्यायाम करें

 

यदि आप इस समस्या से बचना चाहते हैं तो आपको रोजाना थोड़ी देर व्यायाम जरूर करना चाहिए। क्योंकि इससे आपकी मांसपेशियां और मजबूत होती हैं और आप मांसपेशियों में होने वाली ऐंठन से बच सकते हैं। लेकिन इस बात का ध्यान रखें की आपको व्यायाम करते वक़्त शरीर में झटका नहीं देना है।

 

 

 

हीटिंग पैड का इस्तेमाल करें 

 

हीटिंग पैड से मांसपेशियों में ऐंठन को कम किया जा सकता है | दरअसल जब शरीर के किसी भी भाग में ऐंठन होती है, तो उसकी वजह से आपको बहुत बेचैनी होती है। इसके लिए आप रोजाना 20-30 मिनट की सिकाई करें इससे ऐंठन में आराम मिल जाएगा। फिर भी अगर जकड़न बनी रहे तो ऐसा दिन में दो बार करें।

 

 

मांसपेशियों में ऐंठन को कम करने के लिए करें इन चीजों का सेवन

 

 

दालें और फलियां

 

आपको बता दें की सभी प्रकार की दालों और फलियों में भरपूर मात्रा में मैग्नीशियम होते हैं। आपको बता दें की पकी हुई दाल के एक कप में लगभग 71 mg मैग्नीशियम होता है और पके हुए एक कप काले बीन्स में 120 mg होता है।

 

इतना ही नहीं इसमें फाइबर की भी भरपूर मात्रा होती है। एक स्टडी के अनुसार हाई फाइबर फूड्स (high-fiber foods) के सेवन से ब्लड शुगर (blood sugar) और ‘खराब’ एलडीएल कोलेस्ट्रॉल (LDL cholesterol) को कम किया जा सकता है।

 

 

 

दूध

 

ये तो सभी को मालूम है की दूध में कैल्शियम, पोटेशियम और सोडियम पाया जाता है, ये इलेक्ट्रोलाइट्स (electrolytes) का नैचुरल सोर्स होता है जो कि हाइड्रेशन के लिए अच्छा होता है।

 

यह प्रोटीन में काफी हाई होता है, जो वर्कआउट के बाद मसल्स के टिश्यूज को रिपेयर (repair muscle tissue) करने में मदद करता है। इसलिए मसल्स क्रैम्प से बचने के लिए दूध का नियमित रूप से सेवन करें।

 

 

 

शकरकंद

 

आपको बता दें की शकरकंद में भी भरपूर मात्रा में पोटैशियम, कैल्शियम और मैग्नीशियम पाया जाता है, जो हमारी मांसपेशियों को ताकत प्रदान करता है। इसमें केले की तुलना में 6 गुना अधिक कैल्शियम होता है।

 

सिर्फ शकरकंद ही नहीं बल्कि आलू (potatoes) और कद्दू (pumpkins) में भी ये तीनों चीजें भरपूर मात्रा में होती है। इनमें पानी भी काफी मात्रा में होता है। इसलिए आप चाहें तो इनका भी सेवन कर सकते हैं, क्योंकि ये आपको हाइड्रेट (hydrate) भी रखते हैं।

 

 

 

अनानास

 

अनानास भी मांसपेशियों में होने वाली ऐंठन को कम करने में बहुत मदद करता है। इसमें ब्रोमलेन नामक एंजाइमा पाया जाता है, जो मांसपेशियों के दर्द को दूर करने में बहुत सहायक होता है। साथ ही यह गठिया या जोड़ों के दर्द को दूर करता है। यह पाचन क्रिया को भी सुधारता है।

 

 

 

पानी

 

आपको शायद ही ये बात मालूम होगी की पानी भी हमारी मांसपेशियों में नमी को बनाये रखने में मदद करता है और ये मांसपेशियों में ऐंठन को कम करता है। ऐसा कई बार होता है की पानी की कमी से मांसपेशियों में ऐंठन, दर्द आदि हो सकता है, जो वर्कआउट के दौरान भी आपको दिक्कत दे सकता है। इसके अलावा, पानी शरीर से विषैले पदार्थो को बाहर निकालने में भी मदद करता है और पाचन शक्ति को भी अच्छा बनाए रखता है। आपको खासतौर पर सोने से पहले जरूर पीनी पीना चाहिए, क्योंकि सोते समय शरीर को तरल पदार्थो की आवश्यकता ज्यादा होती है।

 

 

 

मांसपेशियों में ऐंठन और कमजोरी बहुत अधिक होने पर आप हमारे डॉक्टर से भी सलाह ले सकते हैं। यदि आप अपने शरीर की मांसपेशियों को तंदरुस्त रखना चाहते हैं तो आप इन सभी चीजों का सेवन रोजाना करें।


Doctor Consutation Free of Cost=

Disclaimer: GoMedii  एक डिजिटल हेल्थ केयर प्लेटफार्म है जो हेल्थ केयर की सभी आवश्यकताओं और सुविधाओं को आपस में जोड़ता है। GoMedii अपने पाठकों के लिए स्वास्थ्य समाचार, हेल्थ टिप्स और हेल्थ से जुडी सभी जानकारी ब्लोग्स के माध्यम से पहुंचाता है जिसको हेल्थ एक्सपर्ट्स एवँ डॉक्टर्स से वेरिफाइड किया जाता है । GoMedii ब्लॉग में पब्लिश होने वाली सभी सूचनाओं और तथ्यों को पूरी तरह से डॉक्टरों और स्वास्थ्य विशेषज्ञों द्वारा जांच और सत्यापन किया जाता है, इसी प्रकार जानकारी के स्रोत की पुष्टि भी होती है।