पाचन तंत्र के रोग क्या है इन्हें कैसे पहचाने?

Safe20

 

 

मानव शरीर में हमेशा कुछ ना कुछ बीमारियां होती रहती है। लेकिन इन्हीं में से एक है पाचन तंत्र के रोग, जो आपके पूरे स्वास्थ्य को खराब करता है। इसकी वजह से ना तो उन्हें कुछ खाने का मन करता है और ना ही पेट साफ होता है। वैसे तो ये पाचन से जुड़ी समस्या किसी को भी हो सकती है। लेकिन इसका शिकार ज्यादातर छोटे बच्चे होते हैं। क्योंकि वह अपनी खान पान की आदतों को कंट्रोल नहीं कर पाते हैं।

 

 

पाचन तंत्र के रोग के कुछ लक्षण होते हैं, जिन्हें पहचान कर आप अपने पेट के इस रोग को कुछ हद तक काबू कर सकते हैं और इसके लिए आपको पेट की वजह से होने वाले कष्ट को सहने की जरूरत भी नहीं है। अगर समय से पहले पाचन तंत्र के रोग पर ध्यान नहीं दिया गया तो इसकी वजह से आपको स्वास्थ्य से जुड़ी कई तरह की समस्याएं हो सकती है।

 

 

 

पचना तंत्र के रोग कौन-से हैं?

 

 

 

 

  • पेट की चर्बी बढ़ना,

 

 

  • पेट में ऐठन,

 

 

 

 

  • कब्ज होना,

 

 

  • दस्त लगना,

 

 

  • मतली और उल्टी,

 

 

  • पेट में सूजन,

 

 

  • पित्ताशय की पथरी,

 

 

  • सीलिएक रोग,

 

 

  • पेट में छाले,

 

 

  • अल्सरेटिव कोलाइटिस,

 

 

  • एनल फिशर,

 

 

  • एसिडिटी होना,

 

 

  • पेट दर्द।

 

 

 

पाचन तंत्र के रोग के कारण

 

 

जब किसी व्यक्ति को पाचन तंत्र से जुड़ा कोई रोग होता है, तो इसके पीछे बहुत से कारण होते हैं जिन्हें आप जानकर भी नजरअंदाज करते है जो कुछ इस प्रकार हैं :

 

 

फास्ट फूड का अधिक सेवन : आज के इस दौर में फास्ट फूड खाने का चलन काफी तेजी से बढ़ा है, जो उन्हें कई तरह की स्वास्थ्य समस्या का शिकार भी बना रह है।

 

 

मोटापा : जो लोग मोटे होते हैं उनका पाचन तंत्र पहले के मुकाबले थोड़ा वीक हो जाता है और इसकी वजह से जब वह कुछ भी खाते हैं तो ये उनके पेट पर चर्भी बढ़ाने का काम करता है और अगर आपका वजन जब तेजी से बढ़ने लगता है तो आपको पंचन तंत्र के रोग होने का खतरा भी बढ़ जाता है।

 

 

अधिक खाने का सेवन : ऐसे बहुत से लोग है जो अपने खाने पर बिल्कुल भी नियंत्रण नहीं रखते हैं, इसकी वजह से उन्हें कई तरह की स्वास्थ्य समस्याएं होती है। सबसे पहले उनका वजन तेजी से बढ़ने लगता है उसके बाद उच्च रक्तचाप, डायबिटीज जैसी कई बीमारी होती हैं।

 

 

बिल्कुल भी व्यायाम और योग ना करना : ऐसे बहुत से लोग होते हैं जो बिल्कुल भी शारीरिक श्रम नहीं करते हैं। इसकी वजह से उनको बहुत सी स्वास्थ्य समस्याएं होती हैं जैसे पेट में गैस, कब्ज, दस्त ऐंठन जैसी दिक्कतों का सामना करना पड़ता हैं।

 

 

अनियमित दिन चर्या : ऐसे बहुत से लोग हैं जो अपनी गलत दिनचर्या की वजह से बीमारी हो जाते हैं। किसी भी समय सोते है और किसी भी समय उठते हैं और किसी भी समय कुछ भी खा लेते है।

 

 

कम भूख लगना : जब आपको अपनी भूख लगने की आदतों में बहुत बदलाव महसूूूस होंने लगे और आपकी भूख कम होने लगे, तो ये भी आपके पाचन तंत्र के रोग के कुछ लक्षण हो सकते हैं।

 

 

दूषित पानी का सेवन : आज भी बहुत सी जगह ऐसी है जहां पानी बहुत गंदा आता है, जिसकी  वजह से सबसे पहले उन्हें बहुत सी स्वास्थ्य समस्याएं होती है। दूषित जल से सबसे पहले आपको पाचन तंत्र के रोग होने का खतरा होता है। इसकी वजह से डायरिया भी होता है।

 

 

 

पाचन तंत्र के रोग से बचने के उपाय

 

 

खाने के साथ पानी ना पिएं : यदि आप अपने खाने के साथ बहुत अधिक पानी पीते हैं, तो ये आपके स्वास्थ्य के लिए तो हानिकारक है ही, इसका सिधा असर आपके पाचन तंत्र पर भी पड़ता है। जब आप खाने के साथ पानी पीते हैं, तो आधे से ज्यादा आपका पेट तो पानी से भर जाता है। हम ये नहीं कह रहे की आप पानी मत पीजिये, बस यही कोशिश करें कि खाने के साथ बिल्कुल भी पानी मत पिएं या तो खाने खाने से एक घंटा पहले या एक घंटा बाद में ही पानी पिएं।

 

 

नियमित समय करें भोजन :  यदि आप पाचन तंत्र के रोग से बचना चाहते हैं तो आपको सबसे पहले अपने खाने की आदतों में बदलाव करने की जरुरत है और एक नियमित समय ही भोजन करें, क्योंकि इससे आपको पाचन से जुड़ी किसी भी तरह क समस्या जल्दी नहीं होगी। जब आप भोजन समय पर नहीं करते हैं, तो आपको पेट में कब्ज, दस्त या जलन जैसी समस्याएं होने लगती है इसलिए जरुरी है कि आप अपना भोजन करने का एक नियमित समय बनाए।

 

 

रोजाना करें व्यायाम : यदि आप अपने शरीर को स्वस्थ रखना चाहते हैं, तो आपको रोजाना अपना कुछ समय व्यायाम या योग को देना होगा। इससे आप मानसिक और शारीरिक रूप से स्वस्थ रहेंगे और आपका पाचन तंत्र भी कभी खराब नहीं होगा। आपको बता दें की पेट से जुड़े रोगों से बचने के लिए विशेष रूप से कुछ योगासन किये जाते हैं।

 

 

दिनभर में ज्यादा से ज्यादा पानी पिएं : जब आप दिनभर बहुत कम पानी पीते है, तो आपको स्वास्थ्य से जुड़ी विभिन्न तरह की समस्या होती है। इसलिए आपको अपने पूरे दिन में 6 से 7 लीटर तक पानी पीना चाहिए। इससे आपके शरीर से विषैले पदार्थ जल्दी बाहर निकल जाते हैं। ऐसा करने से आपको डिहाइड्रेशन, कब्ज और दस्त जैसी समस्या नहीं होती है।

 

 

यदि आप पाचन तंत्र के रोग से परेशान हैं तो सबसे पहले आपको अपनी दिनचर्या में बदलाव करना होगा और एक नियमित समय भोजन करना होगा। यदि आपको अक्सर पेट से जुड़े रोग होते हैं, तो इन्हें नजरअंदाज नहीं करना चाहिए आप चाहें तो हमारे डॉक्टर से भी सलाह लें सकते हैं।


Doctor Consutation Free of Cost=

Disclaimer: GoMedii  एक डिजिटल हेल्थ केयर प्लेटफार्म है जो हेल्थ केयर की सभी आवश्यकताओं और सुविधाओं को आपस में जोड़ता है। GoMedii अपने पाठकों के लिए स्वास्थ्य समाचार, हेल्थ टिप्स और हेल्थ से जुडी सभी जानकारी ब्लोग्स के माध्यम से पहुंचाता है जिसको हेल्थ एक्सपर्ट्स एवँ डॉक्टर्स से वेरिफाइड किया जाता है । GoMedii ब्लॉग में पब्लिश होने वाली सभी सूचनाओं और तथ्यों को पूरी तरह से डॉक्टरों और स्वास्थ्य विशेषज्ञों द्वारा जांच और सत्यापन किया जाता है, इसी प्रकार जानकारी के स्रोत की पुष्टि भी होती है।