ऐसे करे पाइल्स का सही इलाज और परहेज

GoMedii Offer

 

पाइल्स (piles) जिसे हम बवासीर के नाम से भी जानते है, यह एक ऐसी समस्या है, जिसमे काफी समस्या होती है। कई बार तो पाइल्स की समस्या ठीक हो जाने के बाद भी दोबारा हो जाती है। लेकिन, पाइल्स का सही इलाज और परहेज करके इस समस्या से बचा जा सकता है। आमतौर पर पाइल्स की समस्या को ठीक करने के लिए अपने खान-पान और दिनचर्या (Daily Routine) को संयमित रखना बहुत जरूरी होता है।

 

बवासीर या पाइल्स एक ऐसी बीमारी है, जिसमें एनस (Anus) के अंदर और बाहरी हिस्से की शिराओं (Veins) में सूजन हो जाती है। जिस वजह से गुदा (Anal) के अंदर हिस्से में या बाहर के हिस्से में कुछ मस्से (Wart) जैसे बन जाते हैं, जिनमें से कई बार खून आने लगता है और काफी दर्द भी होता है। अगर आपके परिवार में किसी को भी ऐसी समस्या हो रही है, तो आगे चलकर ये रोग आपको भी हो सकता है।

 

इस रोग के होने पर काफी समस्याओं का सामना करना पड़ता है, जैसे की – कब्ज होना, बैठने में समस्या होना और एनस के आसपास खुजली का होना आदि।

 

 

पाइल्स (बवासीर) होने के कारण

 

 

  • अधिक मात्रा में तला हुआ और मिर्च-मसाले वाले चीजों का सेवन न करे

 

  • शौच ठीक से ना होना

 

  • फाइबर युक्त भोजन के कम सेवन से भी पाइल्स की समस्या हो सकती है

 

 

  • शारीरिक गतिविधि (physical activity) कम करना

 

 

  • अवसाद (Depression)

 

 

पाइल्स (बवासीर) होने के लक्षण

 

 

यदि बवासीर गंभीर अवस्था में ना पहुंचे तो, यह समस्या 4-5 दिनों में अपने आप ही ठीक हो जाता है, लेकिन जब ये अधिक मात्रा में बढ़ जाते है, तो  ये लक्षण देखे जा सकते हैं, जैसी की –

 

  • गुदा के आस-पास कठोर गांठ महसूस होती है और साथ ही इसमें दर्द भी रहता है, तथा खून भी आ सकता है।

 

  • पेट साफ ना होने की समस्या होना।

 

  • शौच करते वक्त जलन के साथ लाल चमकदार खून का आना।

 

  • गुदा के आस-पास खुजली, एवं लालीपन, और सूजन रहना।

 

  • शौच के वक्त म्यूकस (Mucus) का आना।

 

  • बार-बार मल त्यागने की इच्छा होना, लेकिन त्यागते समय मल न निकलना।

 

 

पाइल्स एक ऐसी समस्या है, जो एक बार ठीक होने के बाद दोबारा भी हो सकती है, लेकिन अगर आप कुछ सावधानियों को अपनाएं तो इससे होने वाले दर्द को काफी हद तक कम किया जा सकता है।

 

 

पाइल्स के मरीज को इन चीजों से करना चाहिए परहेज 

 

 

  • अधिक मसालेदार चीजों का सेवन करने से परहेज करना चाहिए। अगर आपको पाइल्स की समस्या नहीं भी है तो भी बहुत अधिक मसालेदार खाना खाने से परहेज ही करना बेहतर होता है।

 

  • पाइल्स के मरीज को अधिक मात्रा में फास्ट फूड (Fast food) नहीं खाना चाहिए। फलों और सब्जियों का सेवन करे, जो की स्वास्थ्य के लिए भी अच्छा रहेगा और इससे समस्या भी नहीं बढ़ेगी।

 

  • जिन लोगो को पाइल्स की समस्या होती है, उन्हें तो राजमा और दालें जैसे की मसूर आदि खाने से परहेज करना चाहिए।

 

  • घी और तेल के अधिक इस्तेमाल से भी परहेज करना चाहिए, नहीं तो इसका अधिक सेवन पाइल्स को और भी दर्दनाक बना सकता है।

 

 

पाइल्स की समयसा बहुत ही दर्दनाक होती है। इस रोग का सही इलाज और परहेज करके इससे छुटकारा पाया जा सकता है। पाइल्स के लक्षणों को बिल्कुल भी नजरंदाज ना करें और जल्द से जल्द डॉक्टर के पास जाकर पाइल्स का इलाज कराएं।

 


Doctor Consutation Free of Cost=

Disclaimer: GoMedii  एक डिजिटल हेल्थ केयर प्लेटफार्म है जो हेल्थ केयर की सभी आवश्यकताओं और सुविधाओं को आपस में जोड़ता है। GoMedii अपने पाठकों के लिए स्वास्थ्य समाचार, हेल्थ टिप्स और हेल्थ से जुडी सभी जानकारी ब्लोग्स के माध्यम से पहुंचाता है जिसको हेल्थ एक्सपर्ट्स एवँ डॉक्टर्स से वेरिफाइड किया जाता है । GoMedii ब्लॉग में पब्लिश होने वाली सभी सूचनाओं और तथ्यों को पूरी तरह से डॉक्टरों और स्वास्थ्य विशेषज्ञों द्वारा जांच और सत्यापन किया जाता है, इसी प्रकार जानकारी के स्रोत की पुष्टि भी होती है।