बच्चों के दांत और हड्डियों को मजबूती करने के उपाय 

GoMedii

गर्मियां शुरू होते ही सभी माता पिता अपने बच्चे के विकास को लेकर काफी चिंतित होने लगते हैं और वह ये सोचने लगते हैं कि बच्चों को क्या खिलाएं ताकि वह पूरी तरह स्वस्थ रहें। बच्चो के स्वास्थ्य में सबसे एहम भूमिका निभाते हैं उसके दांत और हड्डियां। आज हम आपको बताएंगे कि बच्चों के दांत और हड्डियों को मजबूती करने के उपाय क्या हैं। यदि आप अपने बच्चे को घर का बना खाना खिलाएंगे तो यह उसके पूरे स्वास्थ्य के लिए अच्छा होगा। दरअसल घर का खाना बच्चों के मेटाबॉलिज्म को बढ़ाने और उन्हें फिट रखने में मदद करता है।आज के समय में ज्यादा जरूरी यह है कि आप अपने बच्चे के पोषण पर ध्यान दें ताकि वह पर्यावरण में मौजूद हानिकारक कीटाणुओं से लड़ सके।

 

 

बच्चों के दांत और हड्डियों को मजबूती करने के उपाय

 

 

देशी घी

विज्ञान के अनुसार घी हड्डियों को मजबूत करने और कैल्शियम को अवशोषित करने के लिए एक सुपरफूड है। घी विटामिन K2 से भरपूर होता है। यह कैल्शियम को सोखकर हड्डियों तक पहुंचता है। हड्डियों के साथ-साथ यह आंख पाचन और रोग प्रतिरोधक क्षमता के लिए भी फायदेमंद होती है। इसलिए 6 महीने से ऊपर के बच्चों को देसी घी का सेवन जरूर करना चाहिए।

 

तिल के बीज

छोटे तिल के बीज कैल्शियम से भरपूर होते हैं, जो आपके दांतों को स्वस्थ और मजबूत रखने में मदद करते हैं। इसके अलावा तिल दांतों में जमा प्लाक को भी साफ करने में मदद करता है। ऐसे में तिल स्वस्थ दांतों के लिए काफी फायदेमंद होते हैं। आप अपने बच्चों को तिल के लड्डू और तिल से बनी अन्य चीजें दे सकते हैं।

 

दूध

दूध बच्चों के विकास के लिए बहुत जरूरी है। हड्डियों के विकास के लिए दूध एक बहुत ही बुनियादी भोजन है। दूध कैल्शियम से भरपूर होता है। इससे बच्चों की हड्डियों का घनत्व बढ़ता है। हड्डियों के रोग, फ्रैक्चर डैमेज आदि को रोकता है। बच्चों के विकास के लिए उन्हें रोजाना एक गिलास दूध पिलाना चाहिए। इसके बाद उन्हें ऑस्टियोआर्थराइटिस की समस्या नहीं होती है।

 

अंडे

आपको बता दें कि अंडे की जर्दी में विटामिन डी होता है, जो दांतों के इनेमल के निर्माण और उनके स्वस्थ के लिए आवश्यक खनिज होता है। इसमें कैल्शियम और फॉस्फेट भी होता है जो दांतों को स्वस्थ रखने के लिए भी जरूरी है। इसके लिए अपने बच्चे को रोजाना एक अंडा खाने को दें। अगर वे अंडे नहीं खाना चाहते हैं, तो उन्हें इससे बनी रेसिपी दें।

 

हरी सब्जियाँ

हरी सब्जियां जैसे पालक, पत्ता गोभी, ब्रोकली आदि हड्डियों को मजबूत बनाती हैं। ये सब्जियां विटामिन K से भरपूर होती हैं। आपको बता दें कि विटामिन K बच्चों के बोन मिनरल डेंसिटी को बढ़ाने में मदद करता है जिससे बच्चों की हड्डियां मजबूत होती है। इसके अलावा यह हड्डियों के मेटाबॉलिज्म को भी बढ़ाता है। हरी सब्जियां बच्चों में ऑस्टियोपोरोसिस और फ्रैक्चर के खतरे को भी कम करती हैं।

 

बच्चों को दें रागी

रागी कैल्शियम के बहुत कम शाकाहारी स्रोतों में से एक है। दरअसल इसमें अन्य अनाजों की तुलना में अधिक कैल्शियम होता है। बच्चों को रागी खिलाने के कई फायदे हैं क्योंकि यह बच्चों की हड्डियों के स्वास्थ्य में सुधार करता है और उनके दांतों को मजबूत बनाता है। इसके अलावा रागी में विटामिन सी भी होता है, जो दांतों की सेहत के लिए अच्छा माना जाता है।

 

नट्स

जब नट्स की बात आती है तो सबसे पहले बादाम का नाम दिमाग में आता है। बादाम खाना सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होता है। नट्स पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं। नट्स वसा, प्रोटीन, कैल्शियम मैग्नीशियम जैसे पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं। यह हड्डियों को मजबूत बनाने के लिए बच्चों को काजू, बादाम, पिस्ता आदि खिलाएं। इस पर हुए एक शोध के अनुसार रोजाना नट्स खाने से बोन मिनरल डेंसिटी बढ़ती है।

 

सोया मिल्क

कम उम्र में हड्डियों का निर्माण सही से होना बहुत जरुरी है। ऐसे में बच्चे को सोया मिल्क पिलाना चाहिए। सोया मिल्क में कई पोषक तत्व होते हैं जो न सिर्फ बच्चे के शरीर को मजबूत बनाते हैं बल्कि बच्चे की रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी बढ़ाते हैं।

 

ओट्स

ओट्स आपके बच्चे के लिए एक स्वस्थ कैल्शियम युक्त नाश्ता है। ओट्स में ऐसे पोषक तत्व होते हैं जो हड्डियों को मजबूत करते हैं, जैसे कैल्शियम, कॉपर, जिंक और मैग्नीशियम। ये सभी पोषक तत्व हड्डियों को मजबूत और स्वस्थ रखने के लिए आवश्यक हैं। इसलिए बच्चों की हड्डियां मजबूत करने के लिए उन्हें ओट्स भी खिलाए जा सकते हैं।

 

फ्रूट ज्यूस

मजबूत हड्डियों के लिए बच्चों को विटामिन सी से भरपूर फलों के जूस और स्मूदी खिलाएं। केला, संतरा, सेब, अमरूद और कीवी जैसे फल विटामिन सी से भरपूर होते हैं और यह बच्चों की ग्रोथ में मदद करते हैं। ये हड्डियों के घनत्व को बढ़ाने में मदद करते हैं। बच्चों को नाश्ते के समय एक गिलास विटामिन सी वाला जूस दें। इससे उन्हें हड्डियों के विकारों का खतरा कम होता है।

 

आंवले की कैंडी

बच्चों के लिए आंवला कैंडी बहुत फायदेमंद होती है। दरअसल, यह आंवले से बनता है और दांतों को मजबूत बनाता है। आंवला में एंटीऑक्सिडेंट और विटामिन सी की अच्छाई होती है, जो मुंह में बैक्टीरिया और संक्रमण से लड़ने में मदद करती है और मसूड़ों को ठीक करती है। यह एक प्राकृतिक क्लींजर के रूप में भी काम करता है और आपके बच्चे में सांसों की दुर्गंध को कम करने में मदद करता है।

 

 

बच्चों को होने वाली आम बीमारियां कौन सी हैं ?

 

कई बार ऐसा होता है कि बच्चे अपनी तकलीफ़ बता नहीं पाते हैं, जब उन्हें कोई परेशानी होती है तो वह माता-पिता को बता नहीं पाते हैं। ऐसी बहुत सी बीमारियां हैं जो बच्चों को अक्सर परेशान करती हैं। इन बीमारी में शामिल हैं :

 

  • गैस की समस्या होना

 

 

  • बुखार

 

  • दस्त

 

  • सर्दी-ज़ुकाम

 

  • कब्ज़

 

  • पेट दर्द होना

 

  • कमजोरी

 

  • भूख न लगना

 

यदि आपके बच्चे को इनमें से कोई भी परेशानी बार बार हो रही हैं तो आपको डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए इसके लिए आप हमारे डॉक्टर से सलाह ले सकते हैं  या आप हमसे व्हाट्सएप (+91 9654030724) पर संपर्क कर सकते हैं। इसके अलावा आप हमारी सेवाओं के संबंध में हमें Connect@gomedii.com पर ईमेल भी कर सकते हैं। हमारी टीम जल्द से जल्द आपसे संपर्क करेगी। हम आपका सबसे अच्छे हॉस्पिटल में इलाज कराएंगे।

 
Doctor Consutation Free of Cost=

Disclaimer: GoMedii  एक डिजिटल हेल्थ केयर प्लेटफार्म है जो हेल्थ केयर की सभी आवश्यकताओं और सुविधाओं को आपस में जोड़ता है। GoMedii अपने पाठकों के लिए स्वास्थ्य समाचार, हेल्थ टिप्स और हेल्थ से जुडी सभी जानकारी ब्लोग्स के माध्यम से पहुंचाता है जिसको हेल्थ एक्सपर्ट्स एवँ डॉक्टर्स से वेरिफाइड किया जाता है । GoMedii ब्लॉग में पब्लिश होने वाली सभी सूचनाओं और तथ्यों को पूरी तरह से डॉक्टरों और स्वास्थ्य विशेषज्ञों द्वारा जांच और सत्यापन किया जाता है, इसी प्रकार जानकारी के स्रोत की पुष्टि भी होती है।