गले से बलगम कफ निकालने का सफल उपाय

Safe20

यदि आपको ऐसा कुछ महसूस होता है जो गले और छाती में जमा हो गया है या सांस लेने में परेशानी हो रही है, तो समझ लें कि ये लक्षण कफ के हैं। साथ ही, बहती नाक और बुखार भी इस समस्या के प्रमुख लक्षण हैं। प्रारंभ में, बलगम या कफ खतरनाक नहीं है, लेकिन अगर वे लंबे समय तक बने रहते हैं, तो यह कई श्वसन समस्याओं का कारण बन सकता है।

 

बलगम कफ जमने के कारण

 

  • अधिक धूम्रपान करना
  • विषाणुजनित संक्रमण
  • साइनस रोग
  • जुकाम और फ्लू

 

गले में बलगम कफ के लक्षण

 

  • लगातार छींकना
  • बहता नाक
  • बुखार
  • गले में खरास
  • बलगम खांसी
  • सीने में दर्द महसूस होना
  • गले और छाती में जकड़न महसूस होना

 

गले से बलगम कफ निकालने के घरेलू उपाय

 

अदरक शहद

 

सर्दी-खांसी में अदरक का सेवन फायदेमंद होता है और सांस लेने की प्रक्रिया ठीक हो जाती है। 100 ग्राम अदरक को पीस लें। इसमें दो से तीन चम्मच शहद मिलाएं। इस पेस्ट के दो चम्मच दिन में दो बार लें। समस्या दूर हो जाएगी।

 

गुनगुने पानी से गरारे

 

एक गिलास गुनगुने पानी में एक चम्मच नमक मिलाएं। गर्दन को थोड़ा पीछे की ओर छोड़ें और फिर इस नमक के पानी से गरारे करें।

 

काली मिर्च

 

5-6 काली मिर्च लें और उन्हें बारीक पीस लें। अब एक गिलास पानी लें, इस काली मिर्च के मिश्रण को उस पानी में डालें और अच्छी तरह से गर्म करें। जब यह गुनगुना हो जाए तो इसे पी लें। यह 1 दिन में छाती और गले की समस्या से छुटकारा दिलाने में मदद करता है।

 

प्याज और नींबू

 

प्याज का छिलका हटा दें और अब इसे पीस लें। एक नींबू का रस निकाल लें। इन दोनों को एक कप पानी में उबालें और एक चम्मच शहद लें।

 

नींबू की चाय

 

नींबू में मौजूद साइट्रिक एसिड बलगम को कम करने में मदद करता है। काली चाय बनाएं, एक चम्मच नींबू का रस और एक चम्मच शहद पीएं।

 

हल्दी

 

बलगम के उपचार के लिए हल्दी सबसे प्रभावी पदार्थ है। एक गिलास गर्म दूध में आधा चम्मच हल्दी मिलाकर पीने से फायदा होगा।

 

कच्चा लहसुन

 

लहसुन खाने से गले में जमा कफ बाहर निकलता है, टी.बी. के रोग में भी राहत मिलती है।

 

छोटे के लिए देशी घी

 

छोटे बच्चे की छाती में जमा कफ को निकालने के लिए बच्चे के सीने पर गाय का घी मल दिया जाता था। इस उपाय से जमा हुआ बलगम निकल जाता है।

 

अजवायन

 

अजवाइन की पत्तियों का उपयोग भी कफ को दूर करने का एक बेहतर उपाय है। इसे थाइम भी कहा जाता है। अध्ययन के दौरान यह बात सामने आई है कि अजवाइन के रस और आइवी के साथ मिश्रित जूस के कारण कफ की समस्या से राहत मिलती है।

 

अंगूर का रस

 

अंगूर प्रकृति में expectorant हैं और इसलिए आपके फेफड़ों के लिए अधिक बलगम को हटाने में फायदेमंद हैं। दो चम्मच अंगूर के रस में दो चम्मच शहद मिलाएं। इस मिश्रण को एक हफ्ते तक दिन में तीन बार लें।

 

चिकन सूप

 

हॉट चिकन सूप बलगम की समस्या को दूर करता है और आपके विंडपाइप को मॉइस्चराइज़ करता है। इससे बलगम पतला हो सकता है। इसलिए अपने गले को साफ करने के लिए दिन में दो से तीन बार गर्म चिकन सूप पियें। आप इसमें अलग से अदरक और लहसुन भी मिला सकते हैं, इससे ज्यादा और जल्दी फायदा होगा।

 

गाजर

 

गाजर विटामिन सी से भरपूर होता है। इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट तत्वों के कारण यह आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है। इसके अलावा, इसमें कई विटामिन और पोषक तत्व होते हैं जो खांसी और बलगम की समस्या से राहत दिलाते हैं। 3-4 ताजा गाजर का रस निकालें। इसमें थोड़ा पानी और दो-तीन चम्मच शहद मिलाएं। इस मिश्रण को अच्छे से मिलाएं। इस मिश्रण को दिन में दो से तीन बार पियें, आपकी बलगम की समस्या ठीक हो जाएगी।


Doctor Consutation Free of Cost=

Disclaimer: GoMedii  एक डिजिटल हेल्थ केयर प्लेटफार्म है जो हेल्थ केयर की सभी आवश्यकताओं और सुविधाओं को आपस में जोड़ता है। GoMedii अपने पाठकों के लिए स्वास्थ्य समाचार, हेल्थ टिप्स और हेल्थ से जुडी सभी जानकारी ब्लोग्स के माध्यम से पहुंचाता है जिसको हेल्थ एक्सपर्ट्स एवँ डॉक्टर्स से वेरिफाइड किया जाता है । GoMedii ब्लॉग में पब्लिश होने वाली सभी सूचनाओं और तथ्यों को पूरी तरह से डॉक्टरों और स्वास्थ्य विशेषज्ञों द्वारा जांच और सत्यापन किया जाता है, इसी प्रकार जानकारी के स्रोत की पुष्टि भी होती है।