पेशेंट स्टोरी : इलाज कराने आई सेंग श्रेय की भारत यात्रा रही सफल

Treatment In India

आज के इस दौर में मानव जीवन में कौन सी बीमारी कब हो जाए इसका कुछ पता नहीं होता है। ऐसा हमारे एक मरीज के साथ हुआ जो कंबोडिया (Cambodia) से अपना इलाज करवाने के लिए भारत आई और उन्होंने इसके लिए GoMedii को चुना। मरीज का नाम सेंग श्रेय (Seng Srey) है। वह GoMedii की सबसे प्रिय मरीजों में से एक हैं क्योंकि उन्होंने हम पर भरोसा किया। इतना ही नहीं हमारी टीम उनकी  उम्मीदों पर बिल्कुल खरी भी उतरी है। कंबोडिया से अपना इलाज करवाने आई सेंग श्रेय (Seng Srey) को ओवेरियन सिस्ट की बीमारी थी। जिसका इलाज करवाने के लिए वह भारत आई।

 

मरीज के बेटा ने ही है GoMedii से संपर्क किया और मरीज कि स्थिति के बारे में हमें बताया। जिसके बाद हमने सुनिश्चित किया कि उन्हें जल्द से जल्द सबसे अच्छा इलाज दिया जाएगा। COVID ने सभी को विभिन्न स्तरों पर प्रभावित किया है। इस महामारी की वजह से कई मरीजों को इलाज सही समय पर इलाज नहीं मिल पाया है। COVID ने कई लोगों को सही तरह का स्वास्थ्य प्राप्त करने से प्रभावित किया है। हमारे इस मरीज के साथ भी ऐसा ही हुआ उन्हें अपना इलाज करवाने के लिए इंतजार करना पड़ा।

 

इसके अलावा भारत आने के लिए उन्हें बहुत लंबा रास्ता तय करना पड़ा। फिर भी, हमने यह सुनिश्चित किया कि हम उनकी सारी परेशानी का भुगतान करने की पूरी कोशिश करेंगे। भारत में GoMedi के साथ चिकित्सा उपचार एक प्रिय मित्र की तरह है, यदि आप हमे चुनते हैं तो हम आपको हार नहीं मानने देंगे।

 

जैसे ही स्थिति सामान्य हुई सेंग श्रेय (Seng Srey) ने भारत आने के लिए उड़ान भरी। आपको बता दें कि सेंग सेरे को 30 सेंटीमीटर के  ओवेरियन सिस्ट का पता चला था। उन्हें यकीन था कि GoMedii के माध्यम से भारत में एक अच्छा उपचार मिलेगा।

 

 

 

इलाज कराने आई सेंग श्रेय की भारत की यात्रा रही सफल

 

 

आपको बता दें कि सेंग श्रेय की उम्र 53 वर्ष है, उन्हें मेडिकल वीजा पर इस यात्रा की अनुमति मिली। जिसके बाद उनका इलाज फोर्टिस अस्पताल में हुआ। इस पूरे प्रोसीजर में उन्हें मंजूरी दिलाने के लिए GoMedii की टीम ने उनकी सहायता की। हमारी डेडिकेटेड रिलेशनशिप मैनेजर “अद्विका शर्मा” ने इस मामले को खुद एक मरीज की तौर पर देखा और मरीज को यह आश्वासन दिया कि इलाज में उसकी मदद करने में कोई कसर नहीं छोड़ी जाएगी।

 

हमें यह बताते हुए बेहद खुशी हो रही है कि श्रीमती अद्विका शर्मा वास्तव में श्रीमती श्रेय की पसंदीदा बन गई हैं क्योंकि दोनों ने व्यावसायिक शर्तों से परे एक बंधन विकसित किया है। यह GoMedii में एक मरीज होने का सार है, हम अपने मरीजों को संभावनाओं के रूप में नहीं बल्कि अपने मेहमानों के रूप में देखते हैं जिन्हें सर्वश्रेष्ठ उपचार मिलना चाहिए।

 

आपको बता दें की श्रीमती श्रेय को GoMedii पर पूरा भरोसा था तभी उन्होंने इतना लंबा सफर तय किया। वह पहले सिंगापुर, सिंगापुर से दुबई और फिर दुबई से नई दिल्ली पहुंची। अस्पताल पहुंचने के बाद उन्होंने फोर्टिस अस्पताल में हमारे एक बेहतरीन डॉक्टर से मुलाकात की जिसके बाद डॉक्टर ने मरीज को शल्य-पूर्व जांच का सुझाव दिया। जांच और सर्जिकल क्लीयरेंस की समीक्षा के बाद उन्होंने ऑपरेशन करने का फैसला किया।

 

 

 

ओवेरियन सिस्ट क्या है?

 

 

ओवेरियन सिस्ट एक अंडाशय की सतह पर तरल पदार्थ से भरी थैली होती है। दरअसल महिलाओं के दो अंडाशय होते हैं। अंडे, को ओवा के रूप में भी जाना जाता है, जो अंडाशय में विकसित और परिपक्व होते हैं, बच्चे के जन्म के वर्षों के दौरान मासिक चक्रों में जारी किए जाते हैं।

 

कई महिलाओं में कभी न कभी ओवेरियन सिस्ट हो सकता है। अधिकांश ओवेरियन सिस्ट बहुत कम या कोई परेशानी पैदा नहीं करते हैं और हानिरहित होते हैं। अधिकांश कुछ महीनों के भीतर उपचार के बिना ठीक हो जाते हैं। हालांकि, ओवेरियन सिस्ट गंभीर लक्षण पैदा कर सकते हैं। अपने स्वास्थ्य की रक्षा के लिए, नियमित रूप से आपको पैल्विक टेस्ट करवाना चाहिए और उन लक्षणों को जानना चाहिए जो ये संभावित गंभीर समस्या का संकेत दे सकते हैं।

 

 

 

जाने ओवेरियन सिस्ट के कारण क्या समस्याएं हो सकती हैं?

 

कुछ महिलाएं कम सामान्य प्रकार के सिस्ट विकसित करती हैं जो डॉक्टर एक पैल्विक टेस्ट के दौरान पाते हैं। मासिक दर्म के बाद विकसित होने वाले ओवेरियन सिस्ट कैंसर में भी बदल सकता है। वे इसका कारण भी बन सकते हैं:

 

  • हार्मोनल समस्याएं: इनमें फर्टिलिटी ड्रग क्लोमीफीन (क्लोमिड) लेना शामिल है, जिसका उपयोग आपको ओव्यूलेट करने के लिए किया जाता है।

 

  • गर्भावस्था: कभी-कभी, जब आप ओव्यूलेट करती हैं तो सिस्ट आपकी गर्भावस्था के दौरान आपके अंडाशय पर बना रहता है।

 

  • एंडोमेट्रियोसिस: यह स्थिति आपके गर्भाशय के बाहर गर्भाशय एंडोमेट्रियल कोशिकाओं को विकसित करने का कारण बनती है। कुछ ऊतक आपके अंडाशय से जुड़ सकते हैं और विकास कर सकते हैं।

 

  • पैल्विक संक्रमण: यदि संक्रमण अंडाशय में फैलता है, तो यह अल्सर का कारण बन सकता है।

 

  • पिछला ओवेरियन सिस्ट: यदि आपको पहले कभी सिस्ट हुआ है, तो इसके होने के और अधिक संभावना होती है।

 

GoMedii आपके उपचार भागीदार (GoMedii as your Treatment Partner)

 

श्रीमती श्रेय की मुस्कान को हम वापस देना चाहते हैं, और इसलिए हमने उनकी देखभाल करने के लिए अपने सबसे अच्छे लोगों को काम पर रखा। सर्जरी सफल रही, उन्होंने भविष्य में किसी भी पुनरावृत्ति से बचने के लिए प्रजनन अंगों के साथ सिस्ट को हटा दिया। 8 दिन अस्पताल में भर्ती रहने के बाद उन्हें छुट्टी मिल गई।

श्रेय अभी भी हमारे प्रबंधक के संपर्क में है और GoMedi को उसके उपचार भागीदार के रूप में पाकर खुश है, आप ऐसे अगले मरीज हो सकते हैं! यदि आपके पास कोई प्रश्न हैं तो आप हमसे व्हाट्सएप (+91 9654030724) के माध्यम से संपर्क कर सकती हैं या आप हमें connect@gomedii.com पर ईमेल भी कर सकते हैं, हमारी टीम आप से जल्द से जल्द संपर्क करेगी।


Doctor Consutation Free of Cost=

Disclaimer: GoMedii  एक डिजिटल हेल्थ केयर प्लेटफार्म है जो हेल्थ केयर की सभी आवश्यकताओं और सुविधाओं को आपस में जोड़ता है। GoMedii अपने पाठकों के लिए स्वास्थ्य समाचार, हेल्थ टिप्स और हेल्थ से जुडी सभी जानकारी ब्लोग्स के माध्यम से पहुंचाता है जिसको हेल्थ एक्सपर्ट्स एवँ डॉक्टर्स से वेरिफाइड किया जाता है । GoMedii ब्लॉग में पब्लिश होने वाली सभी सूचनाओं और तथ्यों को पूरी तरह से डॉक्टरों और स्वास्थ्य विशेषज्ञों द्वारा जांच और सत्यापन किया जाता है, इसी प्रकार जानकारी के स्रोत की पुष्टि भी होती है।