विश्व तंबाकू निषेध दिवस पर विशेष : तंबाकू से तौबा कर रहे यहां के लोग, यह है वजह

Treatment In India

तंबाकू (Tobacco) से बढ़ती बीमारियों से तंबाकू खाने वाले और धूम्रपान न करने को लेकर देवभूमि के लोगो में जागरूकता बढ़ी हैं। स्वस्थ्य विभाग (Health Department) के ग्लोबल एडल्ट टोबैको ( Global Adult Tobacco) सर्वे 2016-17 के मुताबिक उत्तराखंड में पिछले पांच सालो में प्रदेश में तंबाकू खाने वालो की संख्या में 4.2 फीसदी की कमी आयी हैं। वहीं, बीड़ी, सिगरेट पीने वालों की संख्या भी चार फीसदी घटी है।

 

आंकड़ों के मुताबिक 2009-10 में हुए ग्लोबल एडल्ट टोबैको  ( Global Adult Tobacco) सर्वे के मुताबिक प्रदेश में तंबाकू खाने वाले 30.7 फीसदी और धूम्रपान (Smoking) करने वाले 22.1 फीसदी लोग थे। साल 2016-17 के सर्वे में यह आकड़ा क्रमश: 26.5 और 18.1 फीसदी पर पहुंच गया है। सर्वे के दौरान यह सुखद बात भी सामने आई है कि 15 से 17 साल के किशोरों के बीच धूम्रपान (Smoking) का प्रचलन कम हुआ है । ग्लोबल सर्वे में यह पहलू सामने आया है की पहले की तुलना में धूम्रपान करने वालो 37.6 फीसदी लोग हेल्थ केयर प्रोवाइडर (Health Care Provider) के कहने पर धूम्रपान करना छोड़ रहे हैं।

 

खतरनाक चेतावनी से लगा डर-

 

सर्वे के दोरान 67.4 धूम्रपान (Smoking) करने वालो ने यह जानकारी दी की उन्होंने सिगरेट और बीड़ी के पैकेट पर छपी चेतावनी के चलते धूम्रपान करना छोड़ा। वर्तमान में 29.8 फीसदी पुरूष और 6.3 फीसदी महिलाएं धूम्रपान (Smoking) करती हैं। जिसमें 14.9 फीसदी शहरी और 19.7 फीसदी ग्रामीण शामिल हैं।

 

बीड़ी के ज्यादा शौकीन-

 

सर्वे के दौरान यह बात भी सामने आई हैं। की प्रदेश में सिगरेट पिने वालो की संख्या बेहद कम हैं, आकड़ो के मुताबिक राज्य में केवल 9.6 फीसदी लोग ही सिगरेट पीते हैं. जिनमे ग्रामीण छेत्रो में यह संख्या ना के बराबर हैं, सर्वे की मुताबिक राज्य में 29.9 फीसदी पुरुष और 5.4 फीसदी महिला बीड़ी का सेवन करती हैं। बीड़ी पीने वालों में शहरियों की संख्या 12.2 फीसदी जबकि ग्रामीणों ने यह आंकड़ा 17.5 फीसदी है।

सिगरेट पर 515, बीड़ी पर 193 रुपये मासिक खर्च-

 

सर्वे के मुताबिक राज्यों में सिगरेट पिने वाला व्यक्ति माह में औसतन 515 रुपये खर्च करता है। जबकि बीड़ी पीने वाला एक महीने में 193.90 रुपया खर्च करता हैं।

 

स्वस्थ्य विभाग (Health Department) की और से राज्य में धूम्रपान (Smoking) से होने वाले नुक़्सानो के प्रति जागरूकता कार्यक्रम चलाये जा रहे हैं। उसके सकारात्मक परिणाम भी सामने आ रहे हैं, ग्लोबल एडल्ट टोबैको ( Global Adult Tobacco) सर्वे के आकड़े इस बात की तस्दीक करते हैं, उम्मीद हैं की आने वाले समय में राज्य में गुटका खाने, बीड़ी और सिगरेट पिने वालो की संख्या और घटेगी।


Doctor Consutation Free of Cost=

Disclaimer: GoMedii  एक डिजिटल हेल्थ केयर प्लेटफार्म है जो हेल्थ केयर की सभी आवश्यकताओं और सुविधाओं को आपस में जोड़ता है। GoMedii अपने पाठकों के लिए स्वास्थ्य समाचार, हेल्थ टिप्स और हेल्थ से जुडी सभी जानकारी ब्लोग्स के माध्यम से पहुंचाता है जिसको हेल्थ एक्सपर्ट्स एवँ डॉक्टर्स से वेरिफाइड किया जाता है । GoMedii ब्लॉग में पब्लिश होने वाली सभी सूचनाओं और तथ्यों को पूरी तरह से डॉक्टरों और स्वास्थ्य विशेषज्ञों द्वारा जांच और सत्यापन किया जाता है, इसी प्रकार जानकारी के स्रोत की पुष्टि भी होती है।