आँखों से पानी आने का कारण, लक्षण और इलाज

 

आँखे हमारे शरीर का मुख्य हिस्सा है,  जो की हमें इस सुंदर दुनिया का दर्शन करवाती है। अगर हमारे आँखों में कोई भी समस्या हो जाए तो हम सही से कोई चीज देख नहीं पाते और साथ ही हमेशा आँखों में दर्द भी बना रहता है और ऐसा ही है आँखों से पानी आना। आँखों से पानी आने का मतलब है आँखों से आँसू आना।

 

आँसू आँख की सतह को नम रखने में मदद करते हैं। आँसू आँखों में चिकनाई रखने और बाहरी कणों और पदार्थों को आँखों से हटाने में भी मदद करते हैं। आँखों से पानी आने पर हर समय आँखों से आंसू निकलते रहते है और कुछ साफ़-साफ़ दिखाई भी नहीं देता।

 

 

आइये जानते है इसके कारण, लक्षण और इलाज के बारे में।

 

 

आँखों में पानी आने के कारण 

 

 

आँख के कोने में छोटे-छोटे छिद्रों से ये आँसू आँखों से बाहर निकलते हैं। इन छिद्रों को “आंसू नलिकाएं” कहा जाता है। आँखों में अधिक पानी आने के कई संभावित कारण हो सकते हैं, जैसे की –

 

  • एलर्जी की वजह से आ सकता है आँखों में पानी

 

  • आंसू नलिकाओं में रुकावट

 

  • पर्यावरणीय कारक

 

  • कंजक्टिविटी(पिंक आई) या पलकों का सूजन

 

  • कॉन्टेक्ट लेंस कम्पलीकेशन्स

 

  • आँखों में बाहरी चीज का होना

 

  • संक्रमण

 

  • कार्नियल पर चोट या घाव

 

  • आँखों की सर्जरी

 

  • ग्लूकोमा (आंखों पर दबाव बढना)

 

 

  • साइनस

 

 

आँख में पानी आने के लक्षण 

 

 

आंखों में पानी आने के साथ निम्नलिखित लक्षण हो सकते हैं:

 

  • कम दिखाई देना भी आँखों में अधिक पानी आने के लक्षण है

 

  • आँख या इसके आसपास सूजन और दर्द होना

 

  • आँख में कुछ फंस जाने की वजह से भी आँखों में पानी आने लगता है, जो की आँख में अधिक पानी आने के लक्षण हो सकते है

 

  • आँखों की दृढ़ता

 

  • नॉस्टेल्जिया या छींकने, ये लक्षण अक्सर तब होते हैं जब उन्हें आँखों में पानी आने से एलर्जी होती है

 

  • आँखों में सूखापन हो सकता है।

 

  • आँखों की जलन

 

  • आपकी आँखों में खुजली होना

 

  • धुंधला दिखाई पड़ना

 

  • पलकों में सूजन होना

 

  • लाल और रक्त आँखें

 

  • आँख में दर्द, खासकर अगर आँख को चोट लगी हो।

 

 

आँखों में पानी आने की समस्या क्यों है?

 

 

आँखों में पानी आने के कारण कई समस्याएं हो सकती हैं।

 

  • शिशुओं की आंखों में आने वाला लगातार पानी कभी-कभी कुछ पदार्थों के कारण हो सकता है और आमतौर पर आंसू नलिकाओं को रोका जा सकता है। आंसू नलिका आँसू नहीं बनाते हैं, बल्कि उन्हें आंखों से दूर रखते हैं। नाक के पास पलकों के अंदरूनी हिस्से में छोटे-छोटे छेद होते हैं। इन छिद्रों के माध्यम से आंसू आमतौर पर आपकी नाक के अंदर बहते हैं। शिशुओं के पहले कुछ महीनों तक उनके आंसू नलिका पूरी तरह से नहीं खुलते हैं और ठीक से काम नहीं कर पाते हैं।

 

  • उम्र बढ़ने के कारण बार-बार आंखों में जलन हो सकती है। ऐसा इसलिए है क्योंकि पलकों की त्वचा ढीली होती है, पलकें लटक जाती हैं और नेत्रगोलक से दूर हो जाता है। इससे आंसू निकलने लगते हैं और बहना शुरू हो जाता है।

 

  • ज्यादा आंसुओं के कारण आंखों से पानी आना शुरू हो सकता है।

 

  • एलर्जी और वायरल संक्रमण (जैसे आंखों में जलन), साथ ही कुछ प्रकार की सूजन और जलन, कुछ दिनों या उससे अधिक समय तक आंखों में जलन भी हो सकती है।

 

 

आँखों में पानी आने की समस्या से बचने के उपाय

 

 

  • जितना हो सके आँखों को धूप और जलन से बचाएं।

 

  • एलर्जी वाले पदार्थों से बचें या किसी ऐसे वातावरण में जाने से पहले सावधानी बरतें जिसमें एलर्जी वाले पदार्थ हों। ऐसे वातावरण में जाने से 30 मिनट पहले एंटीहिस्टामाइन (Antihistamine) दवा लें।

 

 

  • आंख में खुजली या जलन होने पर आंखों को न छुएं और न ही रगड़ें।

 

  • ऐसे लोगों से संपर्क से बचें, जिन्हें वायरल या बैक्टीरियल संक्रमण (Viral or bacterial infection) है। यदि आपको जीवाणु संक्रमण (bacterial infection) है, तो अपने संक्रमण को फैलाने से बचने के लिए सावधानी बरतें। घरेलू सामानों को बैक्टीरिया से मुक्त रखें, अपने हाथों को बार-बार धोते रहें और अपने तौलिए, चादरें, मेकअप सामग्री आदि किसी के साथ साझा न करें।

 

  • बैक्टीरिया के प्रसार को रोकने के लिए अपने हाथों को बार-बार धोएं।

 

  • यदि आपके आंखों से अत्यधिक पानी आ रहा है, तो डॉक्टर के पास जाएं।

 

 

आंखों से पानी आने का इलाज

 

 

इसका इलाज समस्या के आधार पर और लक्षणों की गंभीरता के आधार पर किया जाता है।

 

यदि मामला गंभीर नहीं है, तो उपचार की आवश्यकता नहीं है। लेकिन डॉक्टर निश्चित रूप से आपकी निगरानी करना चाहेंगे।

 

आंखों से पानी आने के कई कारण होते हैं, जिन्हें ठीक करना बहुत आसान है। इन समस्याओं को ठीक करने से आँखों से पानी आने की समस्या भी ठीक हो जाती है। उदाहरण के लिए:

 

  • जब आपको कभी ऐसी समस्या हो और आपकी आँखों से पानी आने लग जाए तो आपको अपनी आँखों को हलके गर्म कपडे से हलके हलके दबाना चाहिए जिससे आँखों से पानी आने की समस्या ठीक हो जाती है।

 

  • बेकिंग सोडा किसी भी इन्फेक्शन को ठीक करने में बहुत कारगर होता है।  जब आपकी आँखों से पानी निकले तो आप हलके गुनगुने पानी में एक चम्मच बेकिंग सोडा मिलाएं और इससे आँखों को धोये जिससे आपकी आंखो से यह जलन खुजली और पानी आना बंद हो जाएगा।

 

  • नारियल तेल को हमेशा से एक अच्छा मॉइस्चराइजर कहा जाता रहा है और आँखों से पानी आने पर इसे आँखों के चारो ओर हलके हलके मसाज करके लगायें जिससे आपकी आँखों से पानी आने की समस्या दूर हो जायेगी और आपको आराम मिलेगा।

 

  • आँखों में कोई भी समस्या होने पर इलायची बहुत कारगर मानी जाती है और इसके इस्तेमाल से आँखों से पानी आना बंद हो जाता है।  एक गिलास दूध में दो इलायची मिलाएं और सेवन करे जिससे आँखों से पानी आना और कोई भी इन्फेक्शन धीरे धीरे खत्म होने लग जाएगा।

 

  • एक टी बैग ले और उसे कुछ देर गर्म पानी में रखे और जब यह गर्म हो जाए तो इसे अपनी आँखों में रखे और लगभग पांच मिनट तक ऐसा करके रखे जिससे आपके आँखों से पानी आना बंद हो जाएगा और आपको आराम मिलेगा।

 

 

आँख में पानी आने के कुछ विशिष्ट उपचार

 

 

आँख में पानी आने के विभिन्न कारणों के लिए कुछ विशिष्ट उपचार हो सकते हैं, जैसे की –

 

 

जलन – यदि आंखों में जलन या नेत्रश्लेष्मलाशोथ (Conjunctivitis)के कारण आंख में अधिक पानी है, तो डॉक्टर एक सप्ताह तक इंतजार करेंगे ताकि यह देखा जा सके कि क्या समस्या एंटीबायोटिक (Antibiotic) के बिना ठीक हो रही है।

 

एलर्जी (Allergies) – अगर आपकी आँखों में खुजली या जलन हो रही है, तो आँख में अत्यधिक पानी का कारण एलर्जी (Allergies) हो सकता है। ऐसे मामलों के लिए, डॉक्टर कुछ एंटी-एलर्जी दवाएं (Anti-allergic medicines) लिखते हैं।

 

ट्राइकियासिस (Trichiasis) – पलकों के बाल अंदर की तरफ बढ़ते हैं या कोई बाहरी वस्तु आंख के अंदर घुस जाती है।

 

ऑक्टोपियन (Octopian)- इसमें पलकें बाहर की ओर झुक जाती हैं। रोगी को सर्जरी करवानी पड़ सकती है, सर्जरी की मदद से पलकों को पकड़ने वाले टेंडन कम हो जाते हैं।

 

अवरुद्ध आंसू नलिकाएं (Blocked tear ducts)- सर्जरी की मदद से, एक नया चैनल आंसू थैली में बनाया जा सकता है, जिससे नलिकाओं के अवरुद्ध हिस्से से पानी निकाला जा सकता है।

 

आँखे हमारे लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है। इसलिए अगर आँख से सबंधित कोई भी समस्या हो, तो इसे नजरअंदाज न करे और तुरंत ही डॉक्टर से जांच कराएं।  

 


Doctor Consutation Free of Cost=

Disclaimer: GoMedii  एक डिजिटल हेल्थ केयर प्लेटफार्म है जो हेल्थ केयर की सभी आवश्यकताओं और सुविधाओं को आपस में जोड़ता है। GoMedii अपने पाठकों के लिए स्वास्थ्य समाचार, हेल्थ टिप्स और हेल्थ से जुडी सभी जानकारी ब्लोग्स के माध्यम से पहुंचाता है जिसको हेल्थ एक्सपर्ट्स एवँ डॉक्टर्स से वेरिफाइड किया जाता है । GoMedii ब्लॉग में पब्लिश होने वाली सभी सूचनाओं और तथ्यों को पूरी तरह से डॉक्टरों और स्वास्थ्य विशेषज्ञों द्वारा जांच और सत्यापन किया जाता है, इसी प्रकार जानकारी के स्रोत की पुष्टि भी होती है।