दिल का दौरा पड़ने के लक्षण क्या हैं, अपने दिल को कैसे स्वस्थ रखें

UPTO20

 

 

ये तो सभी जानते हैं कि जीवन जीने के लिए ऑक्सीजन लेना कितना जरुरी है। इसके लिए दिल का पूरी तरह स्वस्थ रहना बेहद जरुरी है। दिल  अन्य अंग की तुलना में बहुत अधिक क्षमता के साथ ऑक्सीजन का उपयोग करता है। दिल में प्रवेश करने वाले सभी ऑक्सीजन का 80 प्रतिशत इसके द्वारा उपयोग किया जाता है। आपको यह जानकर हैरानी होगी की हमारे दिल में ऑक्सीजन की खपत की क्षमता किसी भी अन्य  अंग की तुलना में तीन गुना अधिक होती है।

 

दिल में मायोकार्डियम (myocardium) एक मात्र ऐसी मांसपेशी है, जो लगातार काम करती रहती है और जीवन भर बिना रुके काम करती है। मायोकार्डियम को बड़ी मात्रा में पोषक तत्वों की आवश्यकता होती है, ये पोषक तत्व उसे धमनियों (arteries) द्वारा प्राप्त होता है। जो सीधे महाधमनी (aorta) से जुड़ी होती हैं। जिन्हें कोरोनरी धमनियां (coronary arteries) कहा जाता है, हृदय की बाहरी सतह को कवर करती हैं और निरंतर रक्त पहुँचाती हैं।

 

दिल का दौरा पड़ने वाले व्यक्ति की दिल की मांसपेशी में रुकावट आ जाती है और यह इसलिए होता है जब रक्त के थक्के बनने लगते हैं यही वजह है की दिल का दौरा पड़ता है। दिल का दौरा पड़ने के पीछे कई कारण होते हैं, लेकिन बहुत से लोग इसके लक्षणों को समझ नहीं पाते हैं और तब तक बहुत देर हो जाती है।

 

 

 

दिल का दौरा पड़ने के लक्षण

 

 

दिल के दौरे के लक्षणों में शामिल हैं:

 

 

  • बेचैनी होना, दबाव महसूस होना, भारीपन लगना

 

 

  • छाती में जकड़न या आपकी बांह में दर्द होना

 

 

  • अपच (indigestion)

 

 

  • पैर और टखने की सूजन

 

 

  • बहुत अधिक पसीना आना

 

 

  • पेट खराब होना

 

 

 

 

  • अचानक आँखों के सामने अँधेरा छाना

 

 

  • कमजोरी महसूस होना

 

 

  • साँस लेने में दिक्कत होना जैसे तेजी से साँस फूलना या साँस में कमी

 

 

  • शारीरिक काम में जल्दी थकान होना।

 

 

 

कुछ दिल के दौरे के साथ, आपको कोई भी लक्षण दिखाई नहीं देते हैं। यह उन लोगों में अधिक आम है जिन्हें मधुमेह है। दिल का दौरा एक गंभीर समस्या है। कई बार इसमें तत्काल इलाज मिलने पर भी उस व्यक्ति की जान नहीं बच पाती है। यदि आप इन बातों को ध्यान में रखेंगे तो आप दिल के दौरे पड़ने के लक्षण को पहचान सकते हैं।

 

 

दिल का दौरा पड़ने के कारण

 

 

  • धूम्रपान : जो लोग धूम्रपान करते है उन्हें सामान्य लोगों की तुलना में दिल का दौरा जल्दी पड़ता है।

 

 

 

  • उच्च कोलेस्ट्रॉल : जिन लोगों को कोलेस्ट्रॉल की समस्या होती है उन्हें भी दिल का दौरा पड़ सकता है, जब आपके शरीर में एलडीएल कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ती है तब ऐसा होता है।

 

 

 

  • मोटापा : ये भी इसके लक्षण का एक कारण होता है, आपका मोटापा आपके शरीर में कई अन्य बीमारियों का कारण बनता है।

 

 

 

  • व्यायाम की कमी : जब आप अपनी दिनचर्या में बिल्कुल भी व्यायाम नहीं करते हैं तब भी आपके साथ ऐसा हो सकता है।

 

 

 

  • शराब का सेवन : जो लोग बहुत अधिक शराब का सेवन करते हैं वह डायबिटीज और किडनी फेलियर का भी शिकार हो सकते हैं।

 

 

 

  • तनाव : आपके जीवन में तनाव होना ये कई बीमारियों का कारण बनता है जैसे डायबिटीज और ये मानसिक स्वास्थ की समस्या को भी पैदा करता है।

 

 

 

  • उच्च रक्तचाप : जिन लोगों को रक्तचाप की समस्या होती है उन्हें दिल का दौरा आम लोगो के मुकाबले जल्दी पड़ सकता है। इसलिए उन्हें अपने रक्त चाप को नियंत्रण में रखना चाहिए। इसके पीछे आपकी गलत खान पान की आदतें और अनियमित दिनचर्या भी इसका एक मुख्य कारण होती है।

 

 

 

 

दिल स्वस्थ कैसे रखें

 

 

दिल के दौरे से बचना चाहते हैं तो आपको अपनी जीवनशैली में थोड़ा बदलाव करना होगा। आपकी बहुत सी गलत आदतें आपके दिल के दौरे के जोखिम को बढ़ातीहै। एक गतिहीन जीवनशैली निश्चित रूप से दिल के दौरे की संभावना को बढ़ा सकती है। आपको उन आदतों को विकसित करना चाहिए जो यह सुनिश्चित करती हैं कि आपका दिल स्वस्थ है या नहीं।

 

 

 

धूम्रपान बंद करें 

 

यदि आप धूम्रपान करते हैं, तो ऐसा ना करें। यदि आपके घर का कोई अन्य व्यक्ति धूम्रपान करता है, तो उसे धूम्रपान छोड़ने के लिए प्रोत्साहित करें। हम जानते हैं कि यह कठिन है। लेकिन दिल का दौरा या स्ट्रोक से बचना चाहते हैं तो आपको ऐसा करना होगा।

 

 

 

उच्च रक्तचाप कम

 

दिल का दौरा पड़ने पर ज्यादतर लोगों को ये समस्या रहती है। आपको बता दें की स्ट्रोक की रिकवरी सबसे मुश्किल है। अपने डॉक्टर द्वारा दी गई दवाइयों को समय अनुसार लें। आपका रक्तचाप आपके दिल को अधिक काम करने के लिए दबाव बना सकता है, इसलिए इसे नियंत्रण में रखना जरुरी है, एक सामान्य रक्तचाप रीडिंग 120/80 mmHg से कम है।

 

 

 

वजन कम करें

 

यदि आपका वजन ज्यादा हैं, तो सबसे पहले इसे कम करें। मोटापा आपके दिल की बीमारियों के खतरे को बढ़ाता है। मोटापा आपके रक्तचाप को भी अनियंत्रित करता है, मोटापा आपके दिल के स्वास्थ्य को खराब करता है। वजन कम करने के लिए खुद को अधिक शारीरिक गतिविधियों में शामिल करें। दिल को स्वस्थ रखने के लिए आपको केवल कुछ छोटे बदलावों की आवश्यकता होती है।

 

 

 

तनाव कम करें 

 

कुछ अध्ययनों में ये देखा गया है कि जो व्यक्ति तनाव लेते हैं, उन्हें कोरोनरी दिल की बीमारी जल्दी होती है। जो दिल के दौरे और स्ट्रोक के जोखिम कारकों को बढ़ावा देता है। उदाहरण के लिए, तनाव में रहने वाले लोग अधिक भोजन कर सकते हैं, धूम्रपान करना शुरू कर सकते हैं।

 

 

 

सही खाद्य पदार्थ चुनें

 

दिल के दौरे के जोखिम को कम करने के लिए, आपको अपने आहार में स्वस्थ भोजन का सेवन करना चाहिए, जो आपके दिल को स्वस्थ रखने में मदद करता है। अधिक वसा, चीनी और नमक का सेवन कम मात्रा में करें। अपने आहार में ताज़ी सब्जियाँ और फलों को शामिल करें।

 

 

 

शराब का सेवन कम करें 

 

बहुत अधिक शराब पीने से रक्तचाप बढ़ सकता है, कार्डियोमायोपैथी, स्ट्रोक, कैंसर, और किडनी खराब होती है, ये अन्य बीमारियों को बढ़ा सकता है यह उच्च ट्राइग्लिसराइड्स को बढ़ावा देता है और यह आपकी दिल की धड़कन को अनियमित कर सकता है। अत्यधिक शराब का सेवन मोटापे, आत्महत्या और दुर्घटनाओं में योगदान देता है।


Doctor Consutation Free of Cost=

Disclaimer: GoMedii  एक डिजिटल हेल्थ केयर प्लेटफार्म है जो हेल्थ केयर की सभी आवश्यकताओं और सुविधाओं को आपस में जोड़ता है। GoMedii अपने पाठकों के लिए स्वास्थ्य समाचार, हेल्थ टिप्स और हेल्थ से जुडी सभी जानकारी ब्लोग्स के माध्यम से पहुंचाता है जिसको हेल्थ एक्सपर्ट्स एवँ डॉक्टर्स से वेरिफाइड किया जाता है । GoMedii ब्लॉग में पब्लिश होने वाली सभी सूचनाओं और तथ्यों को पूरी तरह से डॉक्टरों और स्वास्थ्य विशेषज्ञों द्वारा जांच और सत्यापन किया जाता है, इसी प्रकार जानकारी के स्रोत की पुष्टि भी होती है।