फेफड़ों में इन्फेक्शन का कारण, लक्षण और बचने के उपाए

Safe20

 

जब आप सांस लेते है तो इसमें आपके फेफड़े एक एहम भूमिका निभाते है। यदि इन फेफड़ों में इन्फेक्शन हो जाए तो आपके लिए सांस लेना भी दुश्वार हो जाएगा। फेफड़े में इन्फेक्शन पूरी दुनिया में सबसे आम बीमारी है। इसमें ज्यादातर वो लोग शामिल होते है, जो बहुत अधिक धूम्रपान करते है या जिन्हें किसी चीज का संक्रमण होता है और तीसरा कारण आनुवांशिकी भी होता हैं।

 

जब आपके फेफड़ों में इन्फेशन हो जाता है तो आपका ऑक्सीजन लाने और कार्बन डाइऑक्साइड बाहर निकालना भी बहुत मुश्किल हो जाता है। फेफड़े की बीमारी आपके पूरे स्वास्थ को ख़राब करती है।

 

 

फेफड़ो में इन्फेक्शन के कारण (Causes of Lung Infection in Hindi)

 

 

 

सर्दियों के मौसम में अक्सर ये समस्या बहुत से लोगों में देखने को मिलती है। इसका शिकार ज्यादातर बुजर्गो होते है और दूसरे वो जिन्हें दिल से जुड़ी कोई बीमारी होती है।

 

 

  • बहुत ज्यादा धूम्रपान करना : जो लोग बहुत ज्यादा धूम्रपान करते है उन्हें फेफड़ों में इन्फेक्शन होने का खतरा होता है।

 

 

  • बहुत अधिक ठंडा पानी पीना : कुछ लोग बहुत ज्यादा ठंडे पानी का सेवन करते है, वो ठंड के मौसम में भी फ्रिज का पानी पीते है जो उनके फेफड़ों में इन्फेशन का कारण बनती है।

 

 

  • बर्फ का सेवन करना : ये हरकत बच्चे बहुत करते है, उन्हें बर्फ खाना बहुत अच्छा लगता है यही उनके फेफड़ों में संक्रमण का कारण बनता है।

 

 

  • आइस क्रीम का ज्यादा सेवन करना : बच्चे हो या बड़े सभी को आइस क्रीम बहुत पसंद होती है, यदि आप ऐसा कभी-कभी करते है तो कोई फर्क नहीं पड़ता। लेकिन ऐसा आप अक्सर करते है तो ये आपके फेफड़ो में इन्फेक्शन का कारण बनती है।

 

 

  • तली और चिकनाई वाली चीजों का सेवन ज्यादा करना : ये भी इसका एक कारण हो सकता है जो लोग बहुत अधिक फ़ास्ट फ़ूड और चिकनाई वाले भोजन का सेवन करते हैं तो ये आपके फेफड़ों में इन्फेक्शन का कारण बनती है।

 

 

 

 

 

फेफड़ो में इन्फेक्शन के लक्षण (Symptoms of Lung Infection in Hindi)

 

 

  • हमेशा जुकाम रहना,

 

 

  • सांस लेने में तकलीफ होना,

 

 

  • दिल की धड़कन का असामान्य होना,

 

 

  • छींक आना,

 

 

  • बंद नाक,

 

 

  • खांसी रहना,

 

 

  • गले में दर्द रहना,

 

 

  • बहुत ज्यादा कफ निकलना,

 

 

  • बुखार रहना,

 

 

  • सांस लेने में आवाज़ आना।

 

 

 

 

फेफड़ो में इन्फेक्शन से हो सकती है ये बीमारियां

 

 

अस्थमा 

 

जब कभी-कभी आपको सीने में दर्द होता है या तेज घबराहट और सांस लेने में तकलीफ होती है तो इसके कारण आपको अस्थमा भी हो सकता है। एलर्जी, संक्रमण या प्रदूषण अस्थमा के लक्षणों को ट्रिगर कर सकते हैं।

 

 

क्रॉनिक ऑब्सट्रक्टिव पल्मोनरी डिजीज (COPD) 

 

फेफड़े की स्थिति सामान्य रूप से सांस लेने में असमर्थता हो जाती है, जिससे सांस लेने में कठिनाई होती है।

 

 

क्रोनिक ब्रॉन्काइटिस

 

इस स्थिति में आपको एक तरह की खांसी होती है। जो आपको इस बीमारी का शिकार बनाती है।

 

 

लंग कैंसर 

 

लंग कैंसर फेफड़ों के किसी एक हिस्से में होता है लेकिन इसकी वजह से पूरे फेफड़े प्रभावित होते है। ज्यादातर यह फेफड़े के मुख्य भाग में या फिर हवा की थैली के पास होता है। फेफड़ों के कैंसर का प्रकार, स्थान और प्रसार उपचार के विकल्प पर निर्धारित होता है।

 

 

निमोनिया 

 

एल्वियोली का एक संक्रमण, आमतौर पर ये भी एक तरीके का बैक्टीरिया होता है, इसकी वजह से कई लोगों की मौत तक हो जाती है।

 

 

ट्यूबरक्युलोसिस (Tuberculosis)

 

यह एक तरिके का बैक्टीरिया होता है जो आपके शरीर में सांस  के द्वारा प्रवेश करता है।

 

 

 

फेफड़ों में इन्फेशन से बचाव

 

 

पर्याप्त नींद

 

acchi or gahri nind lena kyu jaruri hai in hindi

 

यदि आपको ऐसा कोई इंफेक्शन होता है, तो आपको अपनी नींद पूरी करनी चाहिए। ऐसा करने से आपको काफी आराम मिलेगा।

 

 

 

तनाव से रहे दूर

 

mahilaaon me samay se pahle dimbgranthi failure se ho rahi hai nind ki samasya in hindi

 

यदि आप तनाव से खुद को दूर रखेंगे तो  ये आपके लिए अच्छा रहेगा, अगर आप तनाव में हैं तो इसे ठीक करने की कोशिश करें। वरना  इसकी वजह से आपको और भी कई बीमारियां हो सकती है।

 

 

 

ज्यादा मात्रा में पीएं पानी

 

saavdhaan thanda paani peene se ho sakta hai aapki health ko khatra in hindi

 

बोतलबंद पानी या अन्य पेय पदार्थों को केवल उन क्षेत्रों में पीया जाना चाहिए जहां साफ पानी उपलब्ध नहीं है और आप ज्यादा से ज्यादा पानी पिएंगे, तो ये आपके फेफड़ों के संक्रमण को ख़त्म कर देगा।

 

 

 

अपने हाथ साफ़ रखें  

 

vitamin d ke srot in hindi

 

यदि आप फेफड़ो में इन्फेक्शन से बचना चाहते है, तो अच्छा व स्वस्थ आहार खाने से पहले हाथों को अच्छी तरह से धोएं ताकि किसी तरह का संक्रमण आपको ना हो पाए। आपको समय-समय पर सभी प्रकार के स्वस्थ भोजन खाने चाहिए।

 

 

 

धूम्रपान छोड़ दें

 

 

ये तो आपको मालूम ही होगा की तंबाकू आपके फेफड़ों को कमजोर करता है, जिससे उसमें संक्रमण होने का खतरा ज्यादा होता है। आपको बता दें की धूम्रपान करने वाले व्यक्तियों में लंग इन्फेक्शन होने के जोखिम सामान्य व्यक्ति से अधिक पाए जाते हैं।

 

 

 

लहसुन

 

हाल ही में किये गए एक अध्ययन में ये पाया गया है की लहसुन में एक ऐसा रसायन पाया जाता है, जो सिस्टिक फाइब्रोसिस के रोगियों के फेफड़े में होने वाले संक्रमण को खात्म करता है। दरअसल लहसुन फेफड़े में होने वाले संक्रमण से आपको बचा सकता है। लहसुन का सेवन करना आपको विशेष रूप से फेफड़े के लिए बहुत फायदेमंद होगा।

 

 

किसी भी जीव जंतु के लिए सांस लेना बहुत जरुरी है इसके बिना कोई भी जीवित नहीं रह सकता है। अपने फेफड़ों को इन्फेक्शन से बचाना ये आपकी जिम्मेदारी है यदि आपको फेफड़ों में इन्फेशन है, तो आप हमारे डॉक्टर से भी संपर्क कर सकते है


Doctor Consutation Free of Cost=

Disclaimer: GoMedii  एक डिजिटल हेल्थ केयर प्लेटफार्म है जो हेल्थ केयर की सभी आवश्यकताओं और सुविधाओं को आपस में जोड़ता है। GoMedii अपने पाठकों के लिए स्वास्थ्य समाचार, हेल्थ टिप्स और हेल्थ से जुडी सभी जानकारी ब्लोग्स के माध्यम से पहुंचाता है जिसको हेल्थ एक्सपर्ट्स एवँ डॉक्टर्स से वेरिफाइड किया जाता है । GoMedii ब्लॉग में पब्लिश होने वाली सभी सूचनाओं और तथ्यों को पूरी तरह से डॉक्टरों और स्वास्थ्य विशेषज्ञों द्वारा जांच और सत्यापन किया जाता है, इसी प्रकार जानकारी के स्रोत की पुष्टि भी होती है।