HPV के कारण होने वाले 92% Cancer को Vaccine से रोका जा सकता है: स्टडी

एचपीवी संक्रमण क्या है

 

जब किसी व्यक्ति में एचपीवी संक्रमण शुरू होता है, तो यह व्यक्ति के हाथों, पैर और जननांगों पर मस्से बनने लगते हैं। कुछ प्रकार के तनाव जो किसी व्यक्ति को कुछ प्रकार के कैंसर के उच्च जोखिम को विकसित करने का कारण बनते हैं।

 

एचपीवी एक ऐसा वायरस होता है जो यौन संभोग के माध्यम से त्वचा से दूसरे व्यक्ति के त्वचा में फैल सकता है या इसके अन्य रूप जननागों के संपर्क में त्वचा से त्वचा में फैल सकते हैं। बच्चे को जन्म लेने के दौरान शिशु में भी एचपीवी वायरस फैल सकता है, जो शिशु में उसकी मां के श्वसन या जननागों में संक्रमण से फैलता है। एचपीवी किसी को भी संक्रमित कर सकता है जो यौन रूप से सक्रिय है, कभी-कभी संक्रमित व्यक्ति में कोई संकेत या लक्षण नहीं दिखाते हैं।

 

 

 

अध्ययनों के अनुसार

 

 

एचपीवी यानी ह्यूमन पैपिलोमा वायरस के कारण होने वाले लगभग 92 प्रतिशत कैंसर के मामलों को टीकाकरण के माध्यम से रोका जा सकता है। यूएस सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (सीडीसी) ने कहा कि टीकाकरण को बढ़ावा देना हमारी महत्वपूर्ण प्राथमिकता है।

 

 

एचपीवी वायरस पुरुषों और महिलाओं दोनों में कैंसर का कारण बनता है

 

 

सीडीसी द्वारा प्रकाशित एक नए अध्ययन के अनुसार, मानव पैपिलोमा वायरस 2012 से 2016 के बीच हर साल एचपीवी कैंसर के 34 हजार 800 मामलों के लिए जिम्मेदार था, जिसका मतलब है कि सालाना 32 हजार 100 से अधिक मामलों से बचा जा सकता है। यह वायरस पुरुषों और महिलाओं दोनों में कैंसर पैदा कर सकता है, जिसमें गर्भाशय कैंसर, योनि कैंसर, पुरुष जननांग कैंसर और यहां तक ​​कि गले और जीभ का कैंसर भी शामिल है।

 

एचपीवी टीकाकरण कवरेज में 80 प्रतिशत की वृद्धि हुई

 

सहायक स्वास्थ्य सचिव ब्रेट गिरोएर ने कहा, ‘एचपीवी कैंसर मुक्त भविष्य बनाना संभव है, लेकिन टीकाकरण कवरेज दरों में सुधार के लिए तत्काल कदम उठाए जाने की जरूरत है।’ एचएचएस के लिए एक प्राथमिकता पहल रही है, और हम इसे संभव बनाने के लिए सरकारी और निजी क्षेत्र के भागीदारों के साथ काम करना जारी रखेंगे।

 

 

सेक्स करने वाले 80 प्रतिशत लोगों में इस वायरस का खतरा होता है दरअसल, ह्यूमन पैपिलोमा वायरस यानी एचपीवी एक बहुत ही खतरनाक वायरस है जो तेजी से फैलता है और वायरस के शरीर में पहुंचने के बाद भी कोई खास लक्षण नहीं होते हैं। सेक्स करने वाले कम से कम 80 प्रतिशत महिलाओं और पुरुषों को अपने जीवन में वायरस के संक्रमण का सामना करना पड़ता है।

 

 

ये लोग एचपीवी के अधिक जोखिम में हो सकते हैं

 

  • जो लोग अधिक शराब पीते हैं।

 

  • बढ़ती उम्र के साथ पुरुषों में इसका खतरा अधिक होता है।

 

  • यह वायरस उन लोगों में फैलता है जो एक से अधिक लोगों के साथ सेक्स करते हैं

 

 

 

इससे सम्बंधित कोई सवाल पूछना चाहते हैं तो यहाँ क्लिक करें। आप हमसे व्हाट्सएप (+91 9599004311) पर भी संपर्क कर सकते हैं। इसके अलावा आप हमारी सेवाओं के संबंध में हमें connect@gomedii.com पर ईमेल भी कर सकते हैं। हमारी टीम जल्द से जल्द आपसे संपर्क करेगी।

 

Doctor Consutation Free of Cost=

Disclaimer: GoMedii  एक डिजिटल हेल्थ केयर प्लेटफार्म है जो हेल्थ केयर की सभी आवश्यकताओं और सुविधाओं को आपस में जोड़ता है। GoMedii अपने पाठकों के लिए स्वास्थ्य समाचार, हेल्थ टिप्स और हेल्थ से जुडी सभी जानकारी ब्लोग्स के माध्यम से पहुंचाता है जिसको हेल्थ एक्सपर्ट्स एवँ डॉक्टर्स से वेरिफाइड किया जाता है । GoMedii ब्लॉग में पब्लिश होने वाली सभी सूचनाओं और तथ्यों को पूरी तरह से डॉक्टरों और स्वास्थ्य विशेषज्ञों द्वारा जांच और सत्यापन किया जाता है, इसी प्रकार जानकारी के स्रोत की पुष्टि भी होती है।