पेट के निचले हिस्से में सूजन के कारण,लक्षण और बचने के उपाय

Safe20

 

 

“कहते हैं जब तक पेट दुरुस्त रहता है तब तक इंसान तंदरुस्त रहता है” ये बात हम सभी जानते हैं की हम जो भी कुछ खाता है वह सब हमारे पेट में जाता है। लेकिन आज के समय में लोग बहुत कुछ ऐसा खाते हैं जो उनके पेट में कई तरह की बीमारियां पैदा करता है। जिसके बाद उन्हें एसिडिटी, गैस की समस्या होना, पेट फूलना, पेट के निचले हिस्से में सूजन जैसी समस्याएं होती है।

 

इसका एक ही मूल कारण है समय के अभाव के कारण लोग हद से ज्यादा अनियमित और असंतुलित जीवनशैली जीने को मजबूर हो रहे हैं। पेट के निचले हिस्से में सूजन का इलाज अगर समय रहते नहीं कराया गया, तो ये बाद में कैंसर में भी बदल सकता है।

 

 

 

पेट के निचले हिस्से में सूजन के कारण

 

 

  • बढ़ता मोटापा भी लोगों के शरीर में कई तरह की बीमारियां पैदा करता है।

 

 

  • फास्ट फूड का अधिक सेवन करना भी आज के समय में लोगों को काफी बीमार बना रहा है।

 

 

  • अधिक शराब का सेवन भी आपके पेट में सूजन का कारण बन सकती है।

 

 

  • तनाव भी इस बीमारी को जन्म देता है, ऐसा देखा गया है की तनाव में कुछ लोग बहुत ज्यादा खाना खाते हैं और कुछ तो बिल्कुल भी नहीं खाते हैं।

 

 

  • पेट में बहुत अधिक गैस बनना भी इसी बीमारी का कारण बनता है।

 

 

  • जब आप ज्यादातर तेल, चिकनाई और मसालेदार भोजन का सेवन करते हैं। तो इससे भी पेट फूलने लगता है इसकी वजह से आपको रोजमर्रा के कामों में भी परेशानी होती है।

 

 

  •  खाना खाने के तुरंत बाद लेट जाना भी कई बीमारियों को जन्म देने जैसा होता है।

 

 

  • किडनी में स्टोन भी पेट के निचले हिस्से में सूजन का कारण बनता है।

 

 

  • किसी दवा से एलर्जी होने पर भी ऐसा हो सकता है।

 

 

 

पेट के निचले हिस्से में सूजन के लक्षण

 

 

  • पेट में अचानक बहुत तेज दर्द होना

 

 

  • खाना पचने में बहुत समय लगना

 

 

  • भूख में कमी

 

 

  • असामान्य योनि स्राव (unusual vaginal discharge)

 

 

  • मल में खून आना (bloody stool)

 

 

  • अचानक वजन घटाने लगना (Sudden weight loss)

 

 

  • कुछ खाने के बाद मतली और उल्टी आना (Nausea and vomiting after eating)

 

 

  • पेट हमेशा भरा महसूस होना

 

 

  • सोने में बेचैनी होना।

 

 

पेट के निचले हिस्से में सूजन के लिए टेस्ट

 

 

डॉक्टर इसकी जाँच के लिए मरीज को कुछ टेस्ट करवाने को कहता है, डॉक्टर दर्द वाले स्थान की जाँच करता है उसके बाद कुछ टेस्ट करवाने को कहता है।

इसके लिए पेशाब, रक्त,या मल परीक्षण की भी आवश्यक हो सकते हैं। ये संक्रमण अन्य अंतर्निहित स्थितियों के संकेतों की पहचान करने में मदद कर सकते हैं।

 

कुछ मामलों में, डॉक्टर पेट की जाँच करने के लिए निम्नलिखित टेस्ट के भी आदेश दे सकता है:

 

 

  • इमेजिंग टेस्ट (imaging tests)

 

  • अल्ट्रासाउंड (ultrasound)

 

  • एक्स-रे (X-ray)

 

  • सीटी स्कैन या एमआरआई (CT or MRI)

 

 

इनमें से किसी भी टेस्ट को कराने के बाद ही डॉक्टर किसी निर्णय पर पहुँचता है। इसके अलावा डॉक्टर आंतों के अंदर की जाँच के लिए कोलोनोस्कोपी (colonoscopy) कर सकता हैं।

 

 

पेट में के निचले हिस्से में सूजन से बचने के उपाए

 

 

एक्सरसाइज करें

 

जब आप रोज खाना खाते हैं तो आपको रोजाना थोड़ा व्यायाम या योग भी करना चाहिए।, ताकि आपका खाना आसानी से पच सके। यदि आप कुछ भी न करें तो खाने का कुछ हिस्सा शरीर पचा लेता है मगर इससे न तो आपको खाने में खाए पोषक तत्वों का लाभ मिलता है और न ही ये आपके पाचनतंत्र और अन्य अंगों के लिए अच्छा होता है। इसलिए रोज सुबह कम से कम 30 मिनट एक्सरसाइज जरूर करें।

 

 

 

च्युइंग ना खाएं

 

जब आपको ऐसी कोई परेशानी हो तो आप च्युइंग भूल कर भी ना खाएं। इसकी वजह से आपके पेट में अतिरिक्त हवा भर जाती है, जो सूजन का कारण बन सकती है, जिसके परिणामस्वरूप पेट के निचले हिस्से में सूजन हो सकती है।

 

 

 

कार्बोनेटेड पेय पदार्थ पीने से बचें 

 

कार्बोनेटेड पेय पदार्थ के सेवन को कम करें, क्योंकि ये सबसे ज्यादा आपके पेट में गैस का कारण बनता है। जैसे सोडा, कोल्ड्रिंक आदि इन चीजों को पीने से बचें।

 

 

 

खाने के साथ पानी ना पीएं 

 

ऐसे बहुत से लोग हैं जो खाना खाने के साथ-साथ बहुत पानी पीते हैं। उनकी यी आदत की वजह से उनके पेट में गैस ज्यादा बनने लगती है और ब्लोटिंग की समस्या को पैदा कर सकती है। इसलिए खाना खाते समय या इसके तुरन्त बाद पानी न पीएं। कम से कम आधे घंटे बाद ही पानी पीएं।

 

 

 

खाना अच्छे से चबा कर खाएं

 

ऐसा बहुत से लोग करते हैं जब उन्हें किसी काम की जल्दी होती है, तो वह खाने को ढंग से चबा कर नहीं खाते हैं, इसी वजह से उनका खाया हुआ खाना ढंग से नहीं पचता है और ना ही उनके शरीर में लगता है। इसलिए जब भी खाना खाएं तो धीरे-धीरे अच्छे से चबा कर ही खाएं।

 

 

 

रात के खाने में देरी

 

जब आप समय पर अपना भोजन नहीं करते हैं तो वह भी आपके शरीर में बीमारी का कारण बनती हैं। रात को देर से खाने से भी पेट में गैस और भारीपन की समस्या ज्यादा होती है। रात में देर से खाना खाने से वह ढंग से पचता नहीं है। ये बिना पचा हुआ खाना ही गैस, पेट दर्द और कब्ज का कारण बनता है। इसलिए खाना समय पर ही खाएं।

 

 

 

खाने के बाद तुरन्त लेटे नहीं

 

खाना खाने के बाद तुरन्त लेटने की आदत इस बीमारी का कारण बनती है। ये तो है कि खाना खाने के बाद आमतौर पर बहुत तेज नींद आती है मगर फिर भी तुरन्त सो जाना आपके पाचनतंत्र और सेहत के लिए अच्छा नहीं होता है। इसलिए खाना खाने के बाद थोड़ी देर जरूर टहलें। यदि आपको पेट से जुड़ी किसी भी तरह की समस्या है तो आप हमारे डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं और अपनी समस्या का समाधान पा सकते हैं।


Doctor Consutation Free of Cost=

Disclaimer: GoMedii  एक डिजिटल हेल्थ केयर प्लेटफार्म है जो हेल्थ केयर की सभी आवश्यकताओं और सुविधाओं को आपस में जोड़ता है। GoMedii अपने पाठकों के लिए स्वास्थ्य समाचार, हेल्थ टिप्स और हेल्थ से जुडी सभी जानकारी ब्लोग्स के माध्यम से पहुंचाता है जिसको हेल्थ एक्सपर्ट्स एवँ डॉक्टर्स से वेरिफाइड किया जाता है । GoMedii ब्लॉग में पब्लिश होने वाली सभी सूचनाओं और तथ्यों को पूरी तरह से डॉक्टरों और स्वास्थ्य विशेषज्ञों द्वारा जांच और सत्यापन किया जाता है, इसी प्रकार जानकारी के स्रोत की पुष्टि भी होती है।