जानिए पेट की मांसपेशियों में खिंचाव का कारण

GoMedii

पेट की मांसपेशियों में दर्द, जिसे पेट दर्द के रूप में भी जाना जाता है, अनदेखी करना घातक हो सकता है। कभी-कभी लोगों को पेट में दर्द, असुविधा या  सूजन की शिकायत होती है। पेट का कैंसर पेट की मांसपेशियों में दर्द का एक लक्षण हो सकता है। विशेषज्ञों का मानना ​​है कि यदि इस भाग में चार सप्ताह से अधिक समय तक शिकायत रहती है, तो चिकित्सकीय सलाह लेना आवश्यक है।

 

मांसपेशियों में खिंचाव के कारण

 

  • अत्यधिक कूदने के दौरान
  • भागते समय
  • कुछ फेंकते समय
  • भारी वस्तुओं को उठाते समय
  • एक ही स्थिति में बैठना और लंबे समय तक काम करना
  • ठंड के मौसम में मांसपेशियों में खिंचाव होना एक आम बात है।

 

मांसपेशियों में दर्द के लक्षण

 

  • मांसपेशियों में दर्द की शुरुआत होना
  • मांस की सूजन या लालिमा
  • आराम करते समय दर्द का अनुभव होना
  • रोगियों की कामकाजी गतिविधियों में कमी या अक्षमता महसूस करना
  • मांसपेशी में ऐंठन

 

 

पेट की मांसपेशियों को मजबूत करने वाले हैंगिंग वर्कआउट

 

हैंगिंग वर्कआउट

 

ऐसा करने के लिए, कंधों के समान बार को पकड़ें और अपने घुटनों को मोड़ें और इसे ऊपर की तरफ उठाएं। इस दौरान अपनी कमर को स्थिर रखें। इस अभ्यास के लिए 10 रैप के 3 सेट करें।

हैंगिंग लेग रेज

 

इसके लिए पुल अप बार की आवश्यकता होती है। सबसे पहले चौड़ी स्टूल पर खड़े हो जाएं और पुल अप बार को पकड़ें। अब शरीर का संतुलन बनाते हुए घुटनों को धीरे-धीरे ऊपर उठाएं। घुटनों को सीधा रखते हुए पैरों को फैलाएं और जहां तक ​​संभव हो इस स्थिति में रहें। फिर पैरों को नीचे लाएं। इस वर्कआउट को कम से कम 15 से 20 बार करें। इसे तीन के सेट में रोजाना करना शुरू करें।

 

स्विंग लेग रेज

 

ऐसा करने के लिए, कंधों के बराबर चौड़ाई के साथ लटकी हुई पट्टी को पकड़ें। अपने दोनों पैरों को एक साथ उठाएं और कमर के सामने की ओर ले जाएं। अब पैरों को बिल्कुल ढीला छोड़ दें और उन्हें नीचे आने दें। फिर पैरों को बिना रुके फिर से ऊपर लाएं। इस अभ्यास के लिए 10 रैप के 3 सेट करें।

 

लाभ: मांसपेशियां मजबूत होंगी, शारीरिक मुद्रा में सुधार होगा

 

यह वर्कआउट कलाई और हाथों की मांसपेशियों को मजबूत बनाता है। बाइसेप्स मांसपेशियों के लिए भी फायदेमंद है। लंबाई बढ़ाने में बहुत मदद करता है। यह आसन को बेहतर बनाने में भी कारगर है। यह मिजाज की समस्या को दूर करने में सहायक है।

 

सावधानी: घुटनों पर ज्यादा जोर न दें

 

व्यायाम के दौरान अपने घुटनों पर बहुत अधिक दबाव डालने से बचें वरना घुटनों में दर्द हो सकता है या स्नायुबंधन में खिंचाव हो सकता है। पेट और पीठ की मांसपेशियों को टाइट रखें। अन्यथा, पीठ में दर्द या मांसपेशियों में खिंचाव हो सकता है। दस्ताने का उपयोग करना चाहिए। इससे हाथों की पकड़ सही रहती है और चोट लगने का डर भी नहीं रहता।

 

मांसपेशियों के तनाव की रोकथाम

 

  • मांसपेशियों में खिंचाव से बचने के लिए निम्न बातों को ध्यान में रखना चाहिए
  • काम करते समय चोट और खिंचाव से बचें।
  • बहुत लंबे समय तक एक ही स्थिति में न बैठें।
  • किसी भी वस्तु को उठाते समय ज्यादा नीचे न झुकें।
  • फिसलन वाली सतहों पर सावधानी से चलें।
  • वजन ज्यादा न बढ़ने दें।
  • एक्सरसाइज करें।

Doctor Consutation Free of Cost=

Disclaimer: GoMedii  एक डिजिटल हेल्थ केयर प्लेटफार्म है जो हेल्थ केयर की सभी आवश्यकताओं और सुविधाओं को आपस में जोड़ता है। GoMedii अपने पाठकों के लिए स्वास्थ्य समाचार, हेल्थ टिप्स और हेल्थ से जुडी सभी जानकारी ब्लोग्स के माध्यम से पहुंचाता है जिसको हेल्थ एक्सपर्ट्स एवँ डॉक्टर्स से वेरिफाइड किया जाता है । GoMedii ब्लॉग में पब्लिश होने वाली सभी सूचनाओं और तथ्यों को पूरी तरह से डॉक्टरों और स्वास्थ्य विशेषज्ञों द्वारा जांच और सत्यापन किया जाता है, इसी प्रकार जानकारी के स्रोत की पुष्टि भी होती है।