प्रजनन क्षमता बढ़ाने वाले आहार

online medicine

फर्टिलिटी फ्रेंडली डाइट (Fertility Friendly Diet) ये उन महिलाओं को दी जाती है जो गर्भवती होती है। ये डाइट महिलाओं की फर्टिलिटी बढ़ाने के लिए दी जाती है। जिससे बच्चे को जन्म देते समय उन्हें किसी तरह की परेशानी न हो। वैसे भी गर्भवती महिला को अपना बहुत ज्यादा ध्यान रखना पड़ता है, क्योंकि उनकी सेहत से उनके होने वाले बच्चे की भी सेहत जुड़ी होती है। जरा सी लापरवाही उन्हें बहुत नुकसान पहुंचा सकती है। तभी उन महिलाओं को ये डाइट दी जाती है।

 

क्या है फर्टिलिटी फ्रेंडली डाइट ? (Fertility Friendly Diet)

 

इस डाइट में ऐसे कई सुपरफूड्स होते है, जो पोषक तत्व से भरपूर होते हैं और ये गर्भवती महिला के प्रजनन स्वास्थ्य के लिए भी महत्वपूर्ण हैं।  अपने आहार में इस डाइट को शामिल करना एक गर्भवती महिला के लिए फायदेमंद होगा। आपको बता दें की कुछ शोधकर्ताओं ने विशेष खाद्य पदार्थों को प्रजनन स्वास्थ्य से जोड़ा है। दरअसल इस डाइट में मौजूद पोषक तत्व महिला की प्रजनन प्रणाली में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।

 

फर्टिलिटी फ्रेंडली डाइट में क्या-क्या आता है ?

 

हरी सब्जियां : हरी पत्तेदार सब्जियां जैसे पालक, रोमेन, अरुगुला, और ब्रोकोली फोलेट इन सब में  उच्च मात्रा में विटामिन बी होता है। हरी पत्तेदार सब्जियों को खाने से आपको बहुत सारे स्वास्थ्य लाभ होता है।

 

जामुन :  जामुन एक अच्छा एंटीऑक्सिडेंट का स्रोत हैं। अच्छी बात यह है कि यह महिलाओं की प्रजनन क्षमता को बढ़ाता है और उन्हें ताकत प्रदान करता है, इसमें ऐसे कई पोषक तत्व होते है।

 

रेशा वाली चीजें खाए : जो महिलाए गर्भवती होती है उन्हें अपने आहार में साबुत अनाज, ब्राउन राइस, गेहूं की ब्रेड, बींस और फ्लैक्स सीड शामिल करें। यदि पाचन क्रिया सही रहेगी तो शरीर में कोई भी विषैले तत्व नहीं रहेंगे।

 

मौसमी फल : अपने आहार में फलों को भी शामिल करें, क्योंकि कुछ फल ऐसे होती है जो आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाते है। फलों का सेवन करने से महिलाओं का स्टेमिना भी बढ़ता है।

 

खूब पानी पिए : जो लोग ज्यादा मात्रा में पानी पीते है उनका स्वस्थ्य अच्छा रहता है। यदि आप गर्भवती है तो आपको ज्यादा से ज्यादा पानी पीना चाहिए। लेकिन क्या आपको मालूम हैं की ज्यादा पानी पीने से कंसीव करने में भी मदद मिलती है। बल्कि ज्यादा पानी पीने से महिलाओं के प्रजनन अंग ठीक से कार्य करते हैं।

 

आयरन युक्त आहार खाए : अधिकांश महिलाए अपने भोजन के अतिरिक्त इसे चुनने की इच्छा नहीं रखती हैं, लेकिन विभिन्न तरीकों के अलावा, आप इसे अपने भोजन में शामिल कर सकते हैं। यह लौह सामग्री में उच्च है और जब शरीर में कम लोहे का स्तर होता है तो यह एनोव्यूलेशन की ओर जाता है, जो तब होता है जब ओव्यूलेशन एक स्वस्थ अंडे का उत्पादन नहीं करता है।

 

दूध का सेवन करें : ये तो आप सभी जानते होंगे की दूध में कैल्शियम के साथ ढेर सारा प्रोटीन भी होता है। दूध में मौजूद प्रोटीन महिलाओं में फर्टिलिटी हॉर्मोन जल्दी बनने में मदद करता है।

 

फैटी एसिड : फैटी एसिड महिलाओं के लिए एक स्वस्थ वसा और सबसे महत्वपूर्ण पोषक तत्वों में से एक है जो आपके प्रीपेग्नेंसी आहार में शामिल है। ओमेगा -3 फैटी एसिड प्रमुख ओव्यूलेशन-उत्प्रेरण हार्मोन को विनियमित करने के लिए जिम्मेदार हैं और प्रजनन प्रणाली में रक्त के प्रवाह को बढ़ाने में भी आपकी मदद करते हैं।

 

फाइबर युक्त आहार :  गर्भवती महिला के लिए फाइबर वाले आहार इसलिए जरुरी है। क्योंकि ये प्रजनन स्तर को बढ़ाने में उनकी मदद करते है, इसमें मौजूद कार्बोहाइड्रे धीरे-धीरे पचते है जिससे उस महिला को पाचन संबंधी समस्या नहीं होती है। यदि आप गर्भधारण की कोशिश कर रहे हैं, तो इसके अतिरिक्त, फाइबर के सेवन की मात्रा में वृद्धि करें। यह गर्भकालीन मधुमेह के विकास के आपके जोखिम को 26 प्रतिशत तक कम कर सकता है।

 

गर्भवती होने पर रखें इन बातों का ध्यान 

 

  • ज्यादा मात्रा में फल और सब्जियां खाएं
  • चीनी का सेवन सीमित मात्रा में करें
  • खाने में स्वच्छता का ध्यान रखें
  • खाना समय प् खाएं
  • कैफीन का सेवन बिल्कुल न करें
  • धूम्रपान न करें
  • शराब का सेवन बंद कर दें
  • मल्टीविटामिन्स का सेवन करें

 

गर्भवती महिलाए अपनी प्रजनन क्षमता को बढ़ाने के लिए इन सभी चीजों का सेवन कर सकती है। यदि आप अपनी इच्छा अनुसार डाइट बन वाना चाहती है तो आप हमारे डायट्रिशन से संपर्क कर सकती है। गर्भावस्था के दौरान यदि आपके मन में किसी भी तरह का सवाल या परेशानी है तो आप हमारे डॉक्टर से भी संपर्क कर सकते है


Doctor Consutation Free of Cost=

Disclaimer: GoMedii  एक डिजिटल हेल्थ केयर प्लेटफार्म है जो हेल्थ केयर की सभी आवश्यकताओं और सुविधाओं को आपस में जोड़ता है। GoMedii अपने पाठकों के लिए स्वास्थ्य समाचार, हेल्थ टिप्स और हेल्थ से जुडी सभी जानकारी ब्लोग्स के माध्यम से पहुंचाता है जिसको हेल्थ एक्सपर्ट्स एवँ डॉक्टर्स से वेरिफाइड किया जाता है । GoMedii ब्लॉग में पब्लिश होने वाली सभी सूचनाओं और तथ्यों को पूरी तरह से डॉक्टरों और स्वास्थ्य विशेषज्ञों द्वारा जांच और सत्यापन किया जाता है, इसी प्रकार जानकारी के स्रोत की पुष्टि भी होती है।