डिप्रेशन यानी अवसाद क्या है : जानें लक्षण, कारण और उपचार

अवसाद यानी की डिप्रेशन, इसकी वजह से लोगों की ज़िंदगी से रुचि ख़त्म होने लगती है और ऐसे में वे अकेले रहना ज्यादा पसंद करते है . ज्यादातर डिप्रेशन की समस्या अपने किसी नज़दीक़ी की मौत या फिर नौकरी चले जाना, आम तौर पर ये सारी चीजे अवसाद की वजह बनते हैं.

अवसाद एक ऐसी मानसिक विकार है, जिसमे व्यक्ति को उदासी, अकेलापन, निराशा और आत्मप्रतारणा महसूस होती है।

आजकल लोग अपने के काम को लेकर इतना ज्यादा सीरियस हो जाते है, कि कई बार वे इसी की वजह से वे डिप्रेशन के शिकार हो जाते हैं। और ऐसे में उन्हें अपने भी पराये लगने लगते है और उन्हें पॉजिटिव बातें भी नेगेटिव लगने लगती है. डिप्रेशन से जो लोग ग्रष्त होते है उनका किसी काम में मन नहीं लगता और उन्हें अपनी लाइफ होपलेस (Life hopeless) लगने लगती है.

 

अवसाद के लक्षण

 

 

 

  • किसी एक काम पर ध्यान केंद्रित न कर पाना,

 

  • अकेलापन महसूस करना,

 

  • हर वक़्त नेगेटिव सोच रखना,

 

  • बहुत अधिक गुस्सा करना,

 

  • अधिक मात्रा में शराब का सेवन करना,

 

  • जीने की इक्छा न होना,

 

कई लोग तो अपने काम के टार्गेट को लेकर बहुत ज्यादा तनाव में रहने लगते हैं जिस वजह से वे डिप्रेशन के मरीज हो जाते हैं।

 

यदि आप अपने काम की वजह से अवसाद से जूझ रहे हैं, तो आप अकेले नहीं हैं। अमेरिका के चिंता और अवसाद एसोसिएशन के अनुसार 16 मिलियन से अधिक अमेरिकी वयस्क अवसाद से पीड़ित हैं।

 

अवसाद होने के कारण

 

काम का बढ़ता बोझ

 

कंपनी में आप जैसे-जैसे पुराने होते जाते हैं, वैसे ही कंपनी की उम्मीदें आप से ज्यादा बढ़ने लगती हैं। जिस वजह से काम का बोझ बढ़ने लगता है और धीरे-धीरे यह तनाव की वजह बनते हैं।

 

पोषक तत्वों की कमी से भी हो सकता है डिप्रेशन

 

कुछ पोषक तत्वों की कमी होने की वजह से भी बन सकता है अवसाद होने खतरा, जैसे की – मैग्नीशियम, आयरन, विटामिन डी, फोलेट, ऐमीनो ऐसिड्स और जिंक।

 

काम के दौरान तनाव

 

ऑफिस में काम के बोझ के कारण तनाव हो सकता है, जिसका असर काम पर पड़ता है।

 

हम आपको कुछ ऐसे टिप्स बता रहे हैं, जिससे आपको इस तरह के डिप्रेशन से उबरने में मदद मिलेगी

 

बातें करें

 

अगर आप कभी भी अकेलापन महसूस कर रहे है, तो अकेले न रहे अपने किसी दोस्तों या रिश्तेदार से बात करें। इस बात को याद रखें कि किसी से बात करने से कई बार समस्याएं खत्म हो जाती हैं। इसलिए अपने दोस्त को अपनी साड़ी परेशानियों के बारे में विस्तार से बताएं और इसे दूर करने के उपाय जानने की कोशिश करें।

 

अच्छे दोस्त बनाएं

 

जो हमेशा खुश रहते हों और हंसी मजाक करते हो, हमेशा उन लोगों से ही दोस्ती करें। अअपने आस पास का माहौल खुशनुमा रखे.

 

मनपसंद जॉब करें

 

अगर आप अपनी जॉब को लेकर ही खुश नहीं हैं, तो यह आपके डिप्रेशन की सबसे मुख्य वजह हो सकती है। अगर आपको जॉब पसंद नहीं है, तो दूसरी जॉब ट्राई करे, ऐसा काम करे जो काम करने में आपको अच्छा लगता हो। ऐसा करने से काम में आपका मन लगा रहेगा और डिप्रेशन जैसी समस्या भी नहीं होगी।

 

ट्रिप प्लान करें

 

अगर आप काम को लेकर अपने लिए टाइम नहीं निकाल पा रहे हैं, तो ऐसे में आपको अपने दोस्तों के साथ कहीं घूमने की प्लानिंग करनी चाहिए।

 

अपनी लाइफस्टाइल में सुधार करने से आप डिप्रेशन जैसी समस्याओं से छुटकारा पा सकते है, जैसे की –

 

  • रिश्तों में सुधार ला कर,

 

  • रोज व्यायाम करके,

 

  • भरपूर भोजन करके,

 

  • नकारात्मक सोच बदल कर,

 

  • अकेले न रहे,

 

  • भरपूर नींद ले,

 

अगर आपके डिप्रेशन की समस्या खत्म नहीं हो रही है, तो ऐसे में किसी मनोचिकित्सक की मदद जरूर लें। देरी न करे, नहीं तो समस्या और भी बढ़ने लगती है और और इस वजह से डिप्रेशन के शिकार हो जाते हैं। इसलिए जितनी जल्दी हो सके किसी प्रोफेशनल डॉक्टर से सलाह जरूर लें।


Doctor Consutation Free of Cost=

Disclaimer: GoMedii  एक डिजिटल हेल्थ केयर प्लेटफार्म है जो हेल्थ केयर की सभी आवश्यकताओं और सुविधाओं को आपस में जोड़ता है। GoMedii अपने पाठकों के लिए स्वास्थ्य समाचार, हेल्थ टिप्स और हेल्थ से जुडी सभी जानकारी ब्लोग्स के माध्यम से पहुंचाता है जिसको हेल्थ एक्सपर्ट्स एवँ डॉक्टर्स से वेरिफाइड किया जाता है । GoMedii ब्लॉग में पब्लिश होने वाली सभी सूचनाओं और तथ्यों को पूरी तरह से डॉक्टरों और स्वास्थ्य विशेषज्ञों द्वारा जांच और सत्यापन किया जाता है, इसी प्रकार जानकारी के स्रोत की पुष्टि भी होती है।