महिलाओं में कैंसर, जानिए इसके लक्षण और कैंसर के प्रकार

UpTo 20% Off

 

महिलाओं में कैंसर 75 वर्ष होने के बाद खतरा 94 प्रतिशत ज्यादा बढ़ जाता है। आमतौर पर महिलाओं में कैंसर की बीमारी पुरुषो के मुकाबले अधिक देखने को मिलती है। कैंसर की बीमारी आजकल बहुत तेजी से बढ़ रही हैं। जैसे पहले दिल की बीमारी के नाम को सुनते ही डरते थे, वैसे ही आज कैंसर का नाम सुन कर ही लोगों को डर लगता है।

 

कैंसर एक जानलेवा बीमारी है। अगर इसके लक्षणों का सही समय पर पता नहीं चलता है, तो फिर यह जल्दी ही ठीक नहीं होती है और जिस वजह से यह बीमारी मृत्यु का कारण भी बन जाती है। इसलिये इंसान को अपने शरीर में हो रहे किसी भी बदलाव को देखकर बिल्कुल भी अनदेखा नहीं करना चाहिये, और तुरंत ही अपने डॉक्टर से जांच करा लेनी चाहिए। अगर कैंसर के लक्षण पहचान कर सही समय पर सही इलाज किया जाए तो, इस जानलेवा बीमारी से बचा जा सकता है।

 

5 तरह के कैंसर महिलाओं में सबसे ज्यादा होते है। आइये जानते है कि  कौन-कौन से कैंसर महिलाओं में ज्यादा होते है, इसके लक्षण क्या है और इस बीमारी से कैसे बचा जा सकता है।

 

 

महिलाओं में कैंसर के लक्षण

 

 

  • गांठ बनना

 

  • कुछ भी निगलने में समस्या होना

 

  • मुंह का अल्सर ठीक ना होना

 

 

  • भूख न लगना

 

  • कमजोरी या थकान होना

 

  • शरीर पर अत्यधिक तिल होना

 

  • यूरिन में लाल रंग दिखाई देना

 

  • स्तन, मस्तिष्क या स्पाइनल कॉर्ड में गांठ बनना

 

  • त्वचा सम्बन्धी कई समस्याएँ होना

 

 

महिलाओं में कैंसर के प्रकार 

 

 

ब्रेस्ट कैंसर

 

महिलाएं सबसे ज्यादा ब्रेस्ट कैंसर की समस्या से जूझ रही हैं। ब्रेस्ट कैंसर की समस्या ब्रेस्ट की कोशिकाओं में होती है। अगर आपको ब्रेस्ट में किसी भी तरह की गांठ के होने का महसूस हो, तो इसे नजरअंदाज ना करें, क्योंकि ये ब्रेस्ट कैंसर का लक्षण हो सकता है। ब्रेस्ट कैंसर में कैंसर होने की वजह से ब्रेस्ट टिश्यूज में सूजन की भी समस्या हो जाती है और लाल रंग के चकत्ते (Rashes) भी पड़ सकते हैं।

 

ब्रेस्ट कैंसर के लक्षण – 

 

  • गाँठ बनना

 

  • ब्रेस्ट के आकार में बदलाव होना

 

  • सूजन होना और साथ ही लाल रंग के चकत्ते होना

 

 

सर्वाइकल कैंसर

 

आमतौर पर सर्वाइकल कैंसर ह्यूमन पेपिलोमावायरस (HPV) के कारण होता है। ह्यूमन पेपिलोमावायरस (HPV), यह कई वायरस का समूह होता है, जिसकी वजह से गर्भाशय ग्रीवा संक्रमित हो जाता है। यह वायरस 100 से भी ज्यादा प्रकार के होते हैं। शारीरिक संबंध बनाने से भी यह एक से दूसरे व्यक्ति में फैलता है।

 

सर्वाइकल कैंसर के कुछ लक्षणों में शामिल है –

 

  • योनि से असामान्य रूप से खून बहना

 

  • रजोनिवृत्ति या यौन संपर्क के बाद योनि से रक्तस्राव

 

  • सामान्य से अधिक लंबे समय तक मासिक धर्म

 

  • अन्य असामान्य योनि स्राव

 

  • यौन संसर्ग के दौरान दर्द के बीच रक्तस्राव

 

 

फेफड़ों का कैंसर

 

पुरुषों के मुकाबले महिलाओं में ये कैंसर कम उम्र में होने की अधिक आशंका होती है। जब इस कैंसर की शुरुआत फेफड़ों में होती है तो इसे ‘प्राइमरी लंग कैंसर’ कहा जाता हैं। और जब यह फेफड़ों से शरीर के दूसरे हिस्से में फैलने लगता है, तब इसे ‘सेकेंडरी लंग कैंसर’ कहते हैं।

 

इसके लक्षणों में शामिल है – 

 

  • खांसी

 

  • सीने में दर्द

 

  • सांस लेने में दिक्कत

 

  • खांसी में खून का आना

 

  • बुखार आदि फेफड़ों के कैंसर के लक्षण हैं।

 

 

गैस्ट्रिक कैंसर

 

जब किसी को गैस्ट्रिक कैंसर की समस्या होती है, तब पेट की परत में ट्यूमर बनने लगता है। इस कैंसर के लक्षण शुरुआत में सामने नहीं आते हैं।लेकिन, कई बार पेट में दर्द, अकड़न, बदहजमी, सुस्ती महसूस होना, अचानक वजन कम होना, भूख ना लगना भी गैस्ट्रिक कैंसर के लक्षण हो सकते हैं। इसलिए अगर आपको ये लक्षण दिखाई दें, तो तुरंत ही अपने डॉक्टर से संपर्क करें

 

मुंह का कैंसर

 

आजकल महिलाओं में भी मुँह का कैंसर देखने को मिलता है। लेकिन, यह महिलाओं से ज्यादा पुरुषो में होता है। मुँह का कैंसर ज्यादातर मुंह या गले के टीश्यूज में होता है। इसमें होंठ, मसूड़ों का कैंसर भी शामिल है। तंबाकू और अल्कोहल के सेवन से मुंह का कैंसर होने का खतरा सबसे ज्यादा होता है।

 

इस कैंसर के लक्षण हैं-

 

  • मुंह से खून निकलना

 

  • दांतों का हिलना

 

  • कुछ खाने पर गले में दर्द होना

 

  • गर्दन में गांठ होना

 

  • मुंह में लाल चकत्ते पड़ना

 

  • अचानक वजन कम होना आदि ।

 

 

आप अपने शरीर में कैंसर के लक्षण देंखे तो उसे तुरंत ही डॉक्टर को दिखाएं, उनसे सलाह ले ।

 

 


Doctor Consutation Free of Cost=

Disclaimer: GoMedii  एक डिजिटल हेल्थ केयर प्लेटफार्म है जो हेल्थ केयर की सभी आवश्यकताओं और सुविधाओं को आपस में जोड़ता है। GoMedii अपने पाठकों के लिए स्वास्थ्य समाचार, हेल्थ टिप्स और हेल्थ से जुडी सभी जानकारी ब्लोग्स के माध्यम से पहुंचाता है जिसको हेल्थ एक्सपर्ट्स एवँ डॉक्टर्स से वेरिफाइड किया जाता है । GoMedii ब्लॉग में पब्लिश होने वाली सभी सूचनाओं और तथ्यों को पूरी तरह से डॉक्टरों और स्वास्थ्य विशेषज्ञों द्वारा जांच और सत्यापन किया जाता है, इसी प्रकार जानकारी के स्रोत की पुष्टि भी होती है।