प्रोस्टेट कैंसर के लक्षण, कारण और इलाज

प्रोस्टेट कैंसर (Prostate Cancer) केवल पुरषों को होने वाला रोग है। जिस तरह महिलाओं में ब्रेस्ट कैंसर होता है। उसी तरह पुरषों में प्रोस्टेट ग्रंथि होती है। इसमें कैंसर होने का खतरा उम्र बढ़ने के साथ ही बढ़ता है। आपको बात दें की भारत में प्रोस्टेट कैंसर के मामले ज्यादा देखने को मिले है। ये हम सभी जानते है की इंसान के लिए पेशाब करना बहुत जरुरी होता है। यह एक गंभीर बीमारी है। वैसे भी कैंसर का नाम सुनते ही सबके मन में एक खतरनाक डर बैठ जाता है। यह ग्रंथि एक अखरोट के आकार की होती है इसका काम होता है स्पर्म को नुट्रिशन देना। आज के इस लेख में हम आपको इसके लक्षण, कारण और इलाज के बारे में बताएँगे।

 

प्रोस्टेट कैंसर के लक्षण

 

  • बार-बार पेशाब आना
  • पेशाब में खून आना
  • त्वचा का सिकुड़ना

 

क्या है प्रोस्टेट के कारण 

 

वंशवाद : यदि यह बीमारी आपके घर में पहले किसी को थी, तो हो सकता है की आने वाली पीढ़ी में भी देखने को मिल सकती है।

 

हार्मोन्स में गड़बड़ी : जब किसी व्यक्ति के हार्मोन्स में बदलाव आता है तब भी यह प्रोस्टेट कैंसर होने का एक कारण बनता है।

 

आहार : आपका आहार भी इसमें सबसे अहम भूमिका निभाता है। यदि आप ज्यादा मात्रा में सोयाबीन, डेरी प्रोडक्ट, मीट इन सबका ज्यादा मात्रा में सेवन करते है तो ये भी इसका कारण हो सकता है।

 

जीवनशैली : गलत जीवनशैली यह कई बीमारियों की जड़ है इसकी वजह से लोगों को कई अन्य बीमारिया होती है। तो अपनी दिन चर्या पर विशेष ध्यान दें।

Treatment In India

 

कैंसर, किसी भी तरह को क्यों न हो वह उस व्यक्ति के मन में एक ऐसा डर बना देता है जिसके बाद उसे लगने लगता है की अब तो उसकी जिंदगी ख़त्म समझो। लेकिन हर कैंसर में उसकी कुछ स्टेज होती है। यदि समय पर कैंसर का पता चल जाता है तो इसका इलाज डॉक्टर द्वारा संभव होता है।

 

लेकिन कई लोग उससे पहले ही घबरा जाते है और अपने मन में तरह-तरह के वेहम भी पालने लगते है। प्रोस्टेट कैंसर पुरषों में होने वाली गंभीर बीमारियों में से एक है। लेकिन इसके लक्षण ध्यान में रखे जाए, तो इसका सही समय पर इलाज संभव है। क्योंकि आज के समय में टेक्नोलॉजी इतनी बढ़ गई है, की डॉक्टर हर बीमारी का इलाज ढूढ़ने की कोशिश करते है।

 

प्रोस्टेट कैंसर का इलाज

 

सर्जरी : इस बीमारी में डॉक्टर द्वार सर्जरी की जाती है और इस ऑपरेशन में प्रोस्टेट को हटाया जाता है।

 

दूसरी सर्जरी : आइएमआरटी (IMRT) और आइजीआरटी (IGRT) के जरिए। इसमें बिना सर्जरी रेडिएशन के जरिए इलाज किया जाता है।

 

आपको बता दें की यही एक ऐसी बीमारी है जिसमें केवल ब्लड टेस्ट के द्वारा ये पता लगाया जा सकता है कि किसी पुरुष में प्रोस्टेट कैंसर है या नहीं। उसके इलाज के दौरान भी यह पता लगाया जा सकता है कि मरीज की हालत में कितना सुधार हो रहा है। जब किसी व्यक्ति के शरीर में लगातार वजन घटने लगता है तो ये भी अच्छा संकेत नहीं होता है। इसके इलाज के बाद रेड मीट, शराब का सेवन बिल्कुल बंद कर दें। अधिक जानकारी के लिए आप हमारे डॉक्टर से भी संपर्क कर सकते है। सही समय पर ऐसी खतरनाक बीमारियों से बच सकते है।


Doctor Consutation Free of Cost=

Disclaimer: GoMedii  एक डिजिटल हेल्थ केयर प्लेटफार्म है जो हेल्थ केयर की सभी आवश्यकताओं और सुविधाओं को आपस में जोड़ता है। GoMedii अपने पाठकों के लिए स्वास्थ्य समाचार, हेल्थ टिप्स और हेल्थ से जुडी सभी जानकारी ब्लोग्स के माध्यम से पहुंचाता है जिसको हेल्थ एक्सपर्ट्स एवँ डॉक्टर्स से वेरिफाइड किया जाता है । GoMedii ब्लॉग में पब्लिश होने वाली सभी सूचनाओं और तथ्यों को पूरी तरह से डॉक्टरों और स्वास्थ्य विशेषज्ञों द्वारा जांच और सत्यापन किया जाता है, इसी प्रकार जानकारी के स्रोत की पुष्टि भी होती है।