तनाव से राहत दिलाएंगी ये 5 आसान टिप्स

GoMedii

बस,ट्रेन से सफर और दिनभर काम करने के बाद जब आप थककर चूर हो जाते हैं तो आपको लगता है कि काश कोई नुस्खा होता जिससे इस रोज़ाना की थकान से छुटकारा मिल सके। हाल ही में एक स्टडी की गयी जिसमें लोगों को शामिल किया गया इस स्टडी के मुताबिक 46 फीसदी भारतीय अपने काम की जगह पर तनाव महसूस करते हैं। तनाव हमारे शरीर के लिए कई तरीकों से नुकसानदायक साबित हो सकता है और यह हमारी मानसिक और शारीरिक सेहत (Health) को पूरी तरह बिगाड़ सकते हैं.

 

आजकल की भागदौड़ और कशमकश भरी जिंदगी में पता ही नहीं चलता की तनाव कब हम पर हावी हो जाता है। तनाव (Stress) के लक्षण और कारण को पहचान कर तथा उसके अनुसार कुछ परिवर्तन लाकर इससे होने वाले नुकसान से बचा जा सकता है।

 

जब भी खतरे का अहसास होता है तो हमारे शरीर में कुछ विशेष प्रकार के हार्मोन (Hormone) एड्रेनलिन और कोर्टिसोल का स्राव होता है। ये हार्मोन शरीर में किसी भी प्रकार के खतरे से बचने के लिए अलग प्रकार की ताकत पैदा कर देते है।

 

तनाव (Stress) से बचने के लिए हम यहां लिख रहे हैं कुछ खास तरीके जो आप आसानी से अपनाकर खुद को स्वस्थ रख सकते हैं:

 

एक्सरसाइज करें

 

जब आप कसरत करते हैं तो सेरोटोनिन (Serotonin) और डोपामाइन (Dopamine) सहित न्यूरोकेमिकल्स अधिक मात्रा में उत्पन्न होते हैं। बस यह सुनिश्चित कर लें कि आप ऐसा व्यायाम करते हैं जो आपको पसंद है। क्योंकि अगर आप ऐसी एक्सरसाइज (Exercise) करते हैं जो आपको पसंद नहीं तो आपका मूड खराब हो जाएगा।

 

धूप में टहलें

 

एक अन्य स्टडी पाया गया हैं कि बादलों वाले दिनों की तुलना में धूप वाले दिनों में लोगों के शरीर में सेरोटोनिन का स्तर हाई होता है। इसकी वजह धूप में ज़्यादा देर रहना होता है। इसीलिए सर्दियों के दिनों में धूप में बैठे।

 

ध्यान करें

 

नियमित ध्यान करने से न केवल आपका ब्लड प्रेशर (Blood Pressure) कम होता है बल्कि आपके सेरोटोनिन का स्तर भी बढ़ सकता है। तो डिप्रेशन (Depression) और चिंता को दूर करने के लिए एक दिन में केवल 30 मिनट ध्यान करने की जरूरत है।

 

मसाज कराएं

 

थोड़ी मालिश कराने से आप खुद को तरोताज़ा महसूस करेंगे और यह आपके शरीर की बायोकेमिस्ट्री पर असर डालते हुए आपको चिंता और डिप्रेशन से राहत दिलाती है। मसाज आपके शरीर के कोर्टिसोल (Cortisol) स्तर को कम कर सकता है और सेरोटोनिन (Serotonin) के स्तर को बढ़ाता है।

 

अच्छी नींद लें

 

नींद तनाव को कम करने का एक अच्छा तरीका है। नींद की कमी के चलते आपको चिड़चिड़ापन और थकान महसूस हो सकती है। ज़्यादा सोने से सुस्ती और उदासी महसूस होती है, जिससे सेहत (Health) के लिए और तकलीफें बढ़ सकती हैं। 7-8 घंटे की नींद संतुलित मानी जाती है और इतनी अवधि तक सोने से आप फुर्तिले महसूस करते हैं और आपको अपना काम करने में भी आसानी होती है।

 
Doctor Consutation Free of Cost=

Disclaimer: GoMedii  एक डिजिटल हेल्थ केयर प्लेटफार्म है जो हेल्थ केयर की सभी आवश्यकताओं और सुविधाओं को आपस में जोड़ता है। GoMedii अपने पाठकों के लिए स्वास्थ्य समाचार, हेल्थ टिप्स और हेल्थ से जुडी सभी जानकारी ब्लोग्स के माध्यम से पहुंचाता है जिसको हेल्थ एक्सपर्ट्स एवँ डॉक्टर्स से वेरिफाइड किया जाता है । GoMedii ब्लॉग में पब्लिश होने वाली सभी सूचनाओं और तथ्यों को पूरी तरह से डॉक्टरों और स्वास्थ्य विशेषज्ञों द्वारा जांच और सत्यापन किया जाता है, इसी प्रकार जानकारी के स्रोत की पुष्टि भी होती है।