क्या तनाव दिल की बीमारी का कारण बनता है?

Safe20

 

 

दुनिया भर में आज बहुत से लोग तनाव जैसी बीमारी का शिकार हैं। क्योंकि वह पैसे कमाने के चक्कर में अपने ऊपर काम का इतना दबाव लेते जा रहे हैं कि उन्हें इसकी वजह से तनाव का शिकार होना पड़ रहा है। तनाव के साथ आप किसी भी काम को नहीं कर सकते हैं, क्योंकि ये आपको मानसिक और शारीरिक रूप से बीमार बनाता है।

 

 

शायद आपको ये नहीं मालूम होगा कि तनाव दिल की बीमारी का कारण बनता है। इसके आलावा तनाव की वजह से आपको अन्य स्वास्थ्य समस्याएं भी हो सकती है जैसे डायबिटीज और रक्तचाप। ये दोनों ही बीमारी इतनी खतरनाक है की आपको ज़िन्दगी भर इन बीमारियों को झेलना पड़ता है।

 

 

 

तनाव क्या होता है?

 

 

जब कोई व्यक्ति तनाव में रहता है तो उसका किसी भी काम में मन नहीं लगता है। दरअसल यह एक तरीके का मानसिक विकार है जो उसके पूरे स्वभाव में बदलाव करता है। इसकी वजह से वह सबसे पहले मानसिक रूप से कमजोर होने लगता है। जिसके बाद धीरे-धीरे उसकी सोचने की क्षमता भी कम होने लगती है। तनाव से बचने के लिए आपको अपनी जीवनशैली में बदलाव करना होगा।

 

 

 

तनाव दिल की बीमारी का कारण कैसे बनता है

 

 

आखिर इंसान तनाव लेता ही क्यों है, इंसान को तनाव लेने का कोई शौक नहीं होता है। जब उसके ऊपर किसी काम का दबाव होने लगता है या उसे कोई ऐसी बीमारी होती है जो कभी ठीक नहीं हो सकती, तब वह उसी के बारे में सोचता रहता है यही वजह है कि उसे तनाव होता है। तनाव होने का कोई एक कारण नहीं हो सकता।

 

 

यह जरुरी नहीं है कि किसी व्यक्ति को तनाव केवल काम के दबाव से होता है। दरअसल इसके पीछे आपकी कुछ गलत आदतें और आपकी अनियमित दिनचर्या जिम्मेदार होती है। जब आप लंबे समय तक तनाव में रहते हैं, तभी आपको दिल से जुड़ी बीमारी होने का खतरा रहता है।

 

 

जिस व्यक्ति को तनाव होता है तब वह उसी चीज को बार-बार सोचता है, जिससे उसके दिमाग पर जोर पड़ता है। इसकी वजह से उसकी नसों में खून का बहाव बहुत तेज हो जाता है। जिसके बाद पूरे शरीर में खून का प्रवाह बहुत तेजी से होने लगता है, जो उसके दिल तक खून के प्रवाह को बढ़ा देता है। जिससे दिल को ज्यादा काम करना पड़ता है।

 

 

वैसे तो तनाव सभी के  जीवन का एक सामान्य हिस्सा है। तनाव शारीरिक कारणों से भी हो सकता है जैसे पर्याप्त नींद ना लेना या कोई बीमारी होना। तनाव होने का एक कारण भावनात्मक भी हो सकता है, पर्याप्त पैसा ना होना या किसी प्रियजन की मृत्यु के बारे में चिंता करना। ये सभी दिल की बीमारी का कारण बनती है।

 

 

 

तनाव के लक्षण

 

 

नींद में कमी : जब आपको रात में नींद नहीं आती है या आप किसी बात को लेकर हमेशा सोचते रहते है, तो इसकी वजह से भी ऐसा होता है।

 

 

बहुत ज्यादा शारीरिक श्रम करना : जब आप बहुत ज्यादा शारीरिक श्रम करते हैं तब भी आपके साथ ऐसा होता है।

 

 

पारिवारिक झगड़े : अक्सर ऐसा देखा गया है की लोगों का अपने पार्टनर के साथ झगड़ा हो जाता है, जो उनके जीवन में तनाव का कारण बनता है।

 

 

काम का दबाव : जब आपके ऊपर जरुरत से ज्यादा काम का दबाव रहता है तो उसकी वजह से भी तनाव आपके जीवन का हिस्सा बन जाता है।

 

 

सिरदर्द होना : जब आपका सिरदर्द लगातार रहने लगता है, तो ये भी तनाव के लक्षण होते हैं ये स्ट्रेस का सबसे आम लक्षण होता है।

 

 

भूख में कमी : ऐसा बहुत से लोगों के साथ होता है लेकिन उन्हें इसका पता ही नहीं चलता है और इसकी वजह से धीरे-धीरे उनकी भूख कम होने लगती है

 

 

उच्च रक्तचाप : जब तनाव आपकी ज़िन्दगी का हिस्सा बन जाता है, तो इसकी वजह से उन्हें रक्तचाप जैसी समस्या होने लगती है

 

 

थकान रहना : तनाव होने पर आपको हमेशा थकान रहने लगती है, इसकी वजह से आपका किसी भी काम में मन नहीं लगता है।

 

 

बेरोजगारी : जब कोई व्यक्ति बेरोजगार होता है तो उसकी वजह से भी उसे तनाव होने लगता है और वह इस बात से परेशान रहता है कि उसे कब नौकरी मिलेगी। इसकी वजह से उसके मन में निराशा रहती है और वह तनाव का शिकार हो जाता है।

 

जब आप लंबे समय तक तनाव से ग्रस्त हैं, तब आपका शरीर कई संकेत देता है। इन शारीरिक, संज्ञानात्मक, भावनात्मक और व्यवहार संबंधी चेतावनी संकेतों को नजरअंदाज नहीं किया जाना चाहिए। यदि आप तनावग्रस्त रहते हैं और आप अपने शरीर को आराम नहीं देते हैं, तो आपको हृदय रोग जैसी स्वास्थ्य समस्याएं पैदा होने की संभावना ज्यादा होती है।

 

 

 

तनाव को दूर करने  उपाय

 

 

शराब पीना बंद करें : आज के दौर में लोगों की ये सोच बनी हुई है कि शराब पीने से तनाव कम होते है जबकि ऐसा बिल्कुल नहीं है।

 

 

धूम्रपान करना बंद करें : सिगरेट आपके पूरे स्वास्थ्य को जोखिम में डालती है। इसके अलावा, इसमें मौजूद निकोटीन आपके फेफड़ो को खराब करता है, धूम्रपान से लोगों को फेफड़ों का कैंसर भी होता है।

 

 

नियमित रूप से व्यायाम करें : ऐसा करने से आपका स्वास्थ्य अच्छा रहता है इसकी वजह से आप कई बीमारियों से भी बचे रहते हैं। इसके साथ ही आप प्रकृति के भी नजदीक बने रहते हैं और आप खुद को सकारात्मक महसूस करते हैं।

 

 

खुद को बिजी रखें : आप जो काम कर सकते हैं, उसे नियंत्रित रूप से करते रहें, ज्यादा समय तक खाली ना बैठे और इस बात का भी ध्यान रखें की आप अपनी जरुरत से ज्यादा काम ना करें। यदि आप नियंत्रित रूप से किसी काम को नहीं कर पा रहें हैं, तो कुछ समय के लिए उसे छोड़ दें।

 

 

आराम करें : उचित आहार और व्यायाम के साथ आपको आराम करना भी जरुरी है, क्योंकि इससे भी तनाव दूर होता है। आपको व्यायाम और तनावपूर्ण घटनाओं से उबरने के लिए समय चाहिए। आपका आराम करने का समय लंबा होना चाहिए ताकि आपके शरीर के साथ-साथ आपके दिमाग को भी आराम मिले।

 

 

पौष्टिक भोजन खाएं : इंसान के शरीर को सही ढंग से चलने के लिए एक पौष्टिक भोजन की जरुरत होती है। आपको अपने आहार में सभी तरह के फलों और सब्जियों को खाना चाहिए।

 

 

पर्याप्त नींद : ज्यादातर लोगों को आराम करने के लिए रात में 7 से 9 घंटे की नींद लेना चाहिए। डॉक्टरों का कहना है कि  जो लोग अपनी नींद पूरी नहीं करते हैं उन्हें अक्सर कोई ना कोई स्वास्थ्य समस्या बनी रहती है।

 

 

 

यदि आप हमेशा तनाव में रहते हैं तो इन उपायों को कर सकते हैं, क्योंकि ज्यादा समय तक तनाव आपको दिल की बीमारी का शिकार बनाता है। यदि इसके बाद भी आपको तनाव रहता है तो आपको एक बार डॉक्टर से सलाह जरूर लेनी चाहिए। क्योंकि ये किसी बड़ी बीमारी की ओर इशारा करता है।


Doctor Consutation Free of Cost=

Disclaimer: GoMedii  एक डिजिटल हेल्थ केयर प्लेटफार्म है जो हेल्थ केयर की सभी आवश्यकताओं और सुविधाओं को आपस में जोड़ता है। GoMedii अपने पाठकों के लिए स्वास्थ्य समाचार, हेल्थ टिप्स और हेल्थ से जुडी सभी जानकारी ब्लोग्स के माध्यम से पहुंचाता है जिसको हेल्थ एक्सपर्ट्स एवँ डॉक्टर्स से वेरिफाइड किया जाता है । GoMedii ब्लॉग में पब्लिश होने वाली सभी सूचनाओं और तथ्यों को पूरी तरह से डॉक्टरों और स्वास्थ्य विशेषज्ञों द्वारा जांच और सत्यापन किया जाता है, इसी प्रकार जानकारी के स्रोत की पुष्टि भी होती है।