गर्मी के मौसम में कॉमन हैं ये 7 बीमारियां, कैसे करें इसका इलाज!

GoMedii

गर्मी के दिन शुरू होते हैं, गर्मी अपने साथ कई बीमारियां लेकर आती है। गर्मी के मौसम में जरा सी लापरवाही हमारी सेहत पर भारी पड़ सकती है। गर्मियों में आमतौर पर हमें ठंडी चीजें खाने या पीने का मन करता है, जैसे ठंडी आइसक्रीम, जूस या कोल्ड ड्रिंक आदि। कई बार हमें ठंडा और गर्म एक साथ खाने से कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है।

इसके अलावा गर्मी में उमस और उमस बढ़ने से तापमान बहुत ज्यादा बढ़ जाता है, जिससे बीमारियों का खतरा भी बढ़ जाता है। जैसे-जैसे गर्मी का तापमान बढ़ता है, वैसे-वैसे बीमारी का प्रकोप भी बढ़ता है, इसलिए आपको अपने जोखिम को कम करने के लिए आहार और नियमित परिवर्तन करना चाहिए। इस लेख में हम 5 ऐसी बीमारियों के बारे में जानेंगे जिनका प्रकोप गर्मी के दिनों में बढ़ जाता है और उनसे बचने के उपाय भी जानेंगे। आइए जानते हैं कि ये कौन सी बीमारियां हैं और इनका इलाज कैसे होता है?

 

 

गर्मी के मौसम में कॉमन हैं ये 7 बीमारियां (These 7 diseases are common in the summer season in Hindi)

 

पेट की गैस

गर्मियों में पेट में होने वाली गैस को एसिडिटी भी कहा जाता है। यह समस्या ज्यादा खाना खाने और खाली पेट रहने वाले लोगों को हो सकती है। एसिडिटी की समस्या सबसे ज्यादा होती है, खासकर यात्रा के दौरान। इस रोग के कारण सीने में जलन और दर्द, उल्टी जैसी समस्या होने लगती है। ऐसे में जब एसिडिटी की समस्या बार-बार होने लगे तो यह गंभीर रूप ले सकती है। कई बार इस समस्या से पीड़ित व्यक्ति को अस्पताल जाना पड़ता है। ऐसे में जरूरी है कि इससे बचने के लिए पहले से सतर्क रहें और अपने खान-पान पर नियंत्रण रखना शुरू कर दें।

 

त्वचा पर लाल चकत्ते या घमोरी होना

गर्मियों में अत्यधिक पसीना आता है, जिससे रैशेज या घमोरियां भी होती है। यदि आप टाइट कपड़े पहनते हैं, तो आपको त्वचा पर रैशेज या घमोरियां हो सकती है। चुभने वाली गर्मी से खुजली की समस्या हो जाती है, इसलिए आपको हल्के रंग के कपड़े पहनने चाहिए और संक्रमण से बचने के लिए रोजाना नहाना चाहिए।

 

हीट स्ट्रोक

हीट स्ट्रोक को आमतौर पर हिंदी में लू के नाम से भी जाना जाता है। यह एक बहुत ही सामान्य बीमारी है। शरीर में पानी की कमी के कारण व्यक्ति हीट स्ट्रोक की चपेट में आ सकता है। गर्मी की गर्मी बहुत आम मानी जाती है, लेकिन अगर सही समय पर इसका इलाज नहीं किया गया तो यह जानलेवा साबित हो सकती है। हीट वेव के कारण बुखार, फूड पॉइजनिंग, पेट दर्द और उल्टी जैसी समस्याएं होती हैं। ऐसे में इलाज करवाना बेहद जरूरी है।

 

फूड पॉइजनिंग

फूड पॉइजनिंग एक आम समस्या है जो गर्मियों में होती है। गर्मी के मौसम में वायरस, बैक्टीरिया और फंगस जैसे कीटाणुओं की वृद्धि बढ़ जाती है। बढ़ती गर्मी और उमस के साथ ये कीटाणु वातावरण में और तेजी से फैलते हैं और भोजन को खराब कर देते हैं। ऐसा खराब खाना खाने से हमें फूड प्वाइजनिंग का खतरा बढ़ जाता है। जिससे हमें पेट से जुड़ी कई समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है।

 

टाइफाइड

टाइफाइड भी गर्मियों में सबसे तेजी से फैलने वाली बीमारियों में से एक है। यह रोग दूषित भोजन और पानी के सेवन से होता है। टाइफाइड के कुछ सामान्य लक्षणों में तेज बुखार, तापमान में उतार-चढ़ाव, थकान, नींद न आना और दस्त शामिल हैं। टाइफाइड को समय पर रोकने के लिए तुरंत इलाज कराना जरूरी है।

 

पीलिया

गर्मियों में पीलिया बच्चों और बड़ों दोनों को बहुत ज्यादा प्रभावित करता है। पीलिया को हेपेटाइटिस ए भी कहा जाता है। पीलिया से पीड़ित होने का सबसे बड़ा कारण दूषित पानी और दूषित भोजन है। पीलिया में रोगी की आंख और नाखून पीले पड़ने लगते हैं। साथ ही पेशाब का रंग भी पीला होता है। अगर इसका सही समय पर इलाज न किया जाए तो यह बहुत गंभीर रूप ले सकता है।

 

चेचक खसरा (Chickenpox-Measles)

खसरा, जिसे रूबेला भी कहा जाता है, पैरामाइक्सो वायरस से फैलता है, जो तेज बुखार, गले में खराश, आंखों में जलन आदि जैसे लक्षण पैदा कर सकता है। टीकाकरण ही एकमात्र रोकथाम है। इसी तरह गर्मियों में चेचक भी बढ़ जाता है और इससे बचने के लिए आपको इसका टीका लगवाना चाहिए।

 

यदि आप इनमे से किसी भी तरह की बीमारी से परेशान हैं तो इसके लिए आप हमारे डॉक्टर से ऑनलाइन कंसल्ट कर सकते हैं। ऑनलाइन कॉन्सुलट करने के लिए यहाँ क्लिक करें

 

 

गर्मी  वाली बीमारी का  कैसे करें इलाज (How to cure summer diseases in Hindi)

 

 

गर्मी के मौसम में बीमारियों से बचना है तो अपनाएं ये टिप्स:

 

  • पेट में गैस होने पर आपको फलों का सेवन करना चाहिए। अपने आहार में विटामिन सी से भरपूर खाद्य पदार्थों को शामिल करना चाहिए, संतरे में विटामिन सी अधिक मात्रा में होता है। वे स्वास्थ्य के लिए अच्छे होते हैं, जबकि जूस को केवल स्टार्च माना जाता है। गर्मियों में शरीर को हाइड्रेट रखना बहुत जरूरी है। इसलिए इस मौसम में ज्यादा से ज्यादा पानी पिएं। इसके साथ ही अपने आहार में हरी सब्जियां, और सलाद को भी शामिल करें।

 

  • गर्मियों में त्वचा का भी बहुत ध्यान रखना चाहिए यदि आप अधिक समय तक धूप में रहकर काम करते हैं तो आपको लोशन का इस्तेमाल करना चाहिए। इसके आलावा आपको एलोवेरा को अपनी स्किन पर लगाना चाहिए इससे आपकी त्वचा से सम्बंधित होने वाली बीमारियां नहीं होती हैं और यह तेज़ धूप से भी बचाता है। यदि आप सुबह के समय 15 मिनट टहलना चाहिए इससे आपका पूरा स्वास्थ्य अच्छा रहेगा।

 

  • इससे बचने के लिए सबसे जरूरी है खान-पान पर ध्यान देना। गर्मी के मौसम में शरीर में पानी की कमी हो जाती है, जिससे शरीर में काफी कमजोरी हो जाती है। ऐसे में इस बीमारी का खतरा और भी बढ़ जाता है। इसलिए गर्मियों में अपने शरीर को हाइड्रेट रखना आपके लिए बहुत जरूरी है। इसलिए इस मौसम में ज्यादा से ज्यादा पानी पिएं। इसके साथ ही अपने आहार में, सलाद और फलों को शामिल करें।

 

  • फूड पॉइजनिंग से बचने का सबसे आसान तरीका है ज्यादा मात्रा में पानी पियें। कभी भी गर्मियों में ज्यादा खाना न खाएं। आप अपने खाने में खीरा, सलाद, नारियल, नींबू पानी, बेल का शरबत और खस का शरबत का सेवन करें। गर्मियों में बैक्टीरिया और फंगल इंफेक्शन से बचने के लिए आप रोजाना नहाएं और साफ-सफाई का खास ध्यान रखें।

 

  • गर्मियों में टाइफाइड भी बहुत से लोगो को होता है। इसके होने पर आपको अपने खान पान पर विशेष ध्यान रखना चाहिए और पूरी तरह से आराम भी करना चाहिए।

 

  • गर्मियों में आपको बीमारियों से बचने के लिए भी पर्याप्त नींद लेनी होती है, अगर आप रोजाना 7 से 8 घंटे की नींद लेंगे तो आप आसानी से बीमार नहीं पड़ेंगे, पर्याप्त नींद लेने से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बनी रहती है।

 

हमने आपको गर्मियों में होने वाली बीमारियों से बचने के उपाय भी बताए हैं यदि आप गर्मी में होने वाली किसी अन्य बीमारी से परेशान हैं  तो इसके लिए आप यहाँ क्लिक करें या आप हमसे व्हाट्सएप (+91 9654030724) पर संपर्क कर सकते हैं। इसके अलावा आप हमारी सेवाओं के संबंध में हमें Connect@gomedii.com पर ईमेल भी कर सकते हैं। हमारी टीम जल्द से जल्द आपसे संपर्क करेगी।

 
Doctor Consutation Free of Cost=

Disclaimer: GoMedii  एक डिजिटल हेल्थ केयर प्लेटफार्म है जो हेल्थ केयर की सभी आवश्यकताओं और सुविधाओं को आपस में जोड़ता है। GoMedii अपने पाठकों के लिए स्वास्थ्य समाचार, हेल्थ टिप्स और हेल्थ से जुडी सभी जानकारी ब्लोग्स के माध्यम से पहुंचाता है जिसको हेल्थ एक्सपर्ट्स एवँ डॉक्टर्स से वेरिफाइड किया जाता है । GoMedii ब्लॉग में पब्लिश होने वाली सभी सूचनाओं और तथ्यों को पूरी तरह से डॉक्टरों और स्वास्थ्य विशेषज्ञों द्वारा जांच और सत्यापन किया जाता है, इसी प्रकार जानकारी के स्रोत की पुष्टि भी होती है।