किडनी स्टोन (Kidney Stone) क्या है, जाने इसके प्रकार, लक्षण और इलाज

Treatment In India

 

किडनी स्टोन की समस्या आजकल बहुत से लोगों में देखने को मिल रही है। एक अध्ययन के अनुसार, भारत में 15 प्रतिशत लोगों को गुर्दे की पथरी है और उनमें से 50 प्रतिशत को गुर्दे की विफलता है। ये आंकड़े इस समस्या की भयावह स्थिति का वर्णन करने के लिए पर्याप्त हैं, लेकिन इसके बावजूद यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि अधिकांश लोग इस समस्या से पूरी तरह अवगत नहीं हैं। इस कारण वे इसका उचित इलाज नहीं करा पा रहे हैं। अगर उन्हें इसकी जानकारी होती तो शायद उन्हें भी इस बीमारी से निजात मिल जाती। अगर आप भी इस जानकारी से वंचित हैं तो आप इस लेख को अवश्य पढ़ें।

 

 

किडनी स्टोन क्या है? (What is a kidney stone in Hindi)

 

गुर्दे की पथरी, जिसे नेफ्रोलिथियासिस भी कहा जाता है, खनिजों और लवणों से बनी होती है जो मुख्य रूप से गुर्दे में बनते हैं। यह समस्या कई कारणों से हो सकती है और अगर यह लंबे समय तक लाइलाज बनी रहे तो यह मूत्र मार्ग के उस हिस्से को प्रभावित कर सकती है जो किडनी से लेकर मूत्राशय तक जाता है।

 

 

किडनी स्टोन कितने प्रकार के होते हैं? (What are the types of kidney stones in Hindi)

 

कैल्शियम स्टोन: ज्यादातर किडनी स्टोन कैल्शियम स्टोन होते हैं, जो आमतौर पर कैल्शियम ऑक्सालेट के रूप में होते हैं। ऑक्सालेट एक प्राकृतिक रूप से पाया जाने वाला पदार्थ है जो भोजन में पाया जाता है और प्रतिदिन लीवर द्वारा निर्मित होता है। कुछ फलों और सब्जियों के साथ-साथ नट्स और चॉकलेट में भी उच्च मात्रा में ऑक्सालेट होता है।

 

डिस्चार्ज स्टोन: स्ट्रुवाइट स्टोन एक संक्रमण के कारण होते हैं, मुख्य रूप से मूत्र पथ में। ये पत्थर तेजी से बढ़ सकते हैं और काफी बड़े हो सकते हैं।

 

यूरिक एसिड स्टोन: ये पथरी उन लोगों में अधिक होती है जो पर्याप्त तरल पदार्थ का सेवन नहीं करते हैं या जो उच्च प्रोटीन आहार खाते हैं। महिलाओं की तुलना में पुरुषों में यूरिक एसिड स्टोन अधिक आम हैं, जिनके मूत्र में अधिक एसिड होता है।

 

सिस्टीन स्टोन: हालांकि, यह एक प्रकार का किडनी स्टोन है, जो बहुत कम लोगों में होता है। यह समस्या मुख्य रूप से उन लोगों में होती है, जिन्हें आनुवंशिक विकार है। सिस्टीन पत्थरों के मामले में, सिस्टीन नामक एक एसिड गुर्दे से मूत्र में रिसता है।

 

 

किडनी में स्टोन क्यों होता है? (Why do kidney stones occur in Hindi)

 

आजकल किडनी में स्टोन होना आम बात हो गई है। पथरी के लक्षण दिखाई देने पर तुरंत उसका इलाज कराना चाहिए। आइए जानते हैं किडनी स्टोन होने के क्या कारण होते हैं।

 

कम मात्रा में पानी पीना मुख्य कारणों में से एक है:

 

  • मूत्र में रासायनिक अधिकता

 

  • शरीर में खनिजों की कमी

 

 

 

  • जंक फूड का ज्यादा सेवन

 

 

गुर्दे की पथरी के लक्षण क्या है? (What are the symptoms of kidney stones in Hindi)

 

वैसे तो किडनी में पथरी होने से दर्द होता है, लेकिन इसके साथ और भी कई लक्षण होते हैं:

 

 

  • पीठ के निचले हिस्से, पेट में दर्द और ऐंठन

 

 

 

  • पेशाब करते वक़्त दर्द होना

 

  • बार-बार पेशाब जैसा लगना लेकिन पेशाब न आना

 

 

  • अधिक पसीना आना

 

 

गुर्दे की पथरी का इलाज कैसे करें? (How to treat kidney stones in Hindi)

 

 

गुर्दे की पथरी का कई तरह से इलाज किया जा सकता है, जिनमें से प्रमुख हैं:

 

देसी इलाज: किडनी स्टोन का इलाज भी कई घरेलू नुस्खों से किया जा सकता है। इस स्थिति में खूब पानी पीने और इसके साथ बार-बार पेशाब करने जाने से पथरी पेशाब के रास्ते निकल सकती है।

 

घरेलू नुस्खे अपनाएं: अगर इसके लक्षण हलके हैं तो कुछ घरेलू नुस्खों से भी पथरी का इलाज किया जा सकता है। इसमें नींबू के रस और जैतून के तेल का सेवन किया जा सकता है और सेब के सिरके का सेवन भी उपयोगी साबित हो सकता है।

 

दवाएं समय पर लेना: कभी-कभी दवाएं लेना भी गुर्दे की पथरी के इलाज में मददगार साबित हो सकता है लेकिन यह दवाएं डॉक्टर द्वारा ली जानी चाहिए। ये दवाएं शरीर में पथरी के विकास को रोकती हैं, जिससे इसका बेहतर इलाज हो सके।

 

थेरेपी: किडनी स्टोन में थेरेपी लेना भी फायदेमंद तरीका साबित हो सकता है क्योंकि इसका कोई साइड इफेक्ट नहीं होता है। इसके बावजूद लोगों को इलाज नहीं मिल पाता है क्योंकि उन्हें इसकी पूरी जानकारी नहीं होती है।

 

सर्जरी: जब स्टोन की बीमारी का किसी भी तरह से इलाज नहीं किया जा सकता है, तो डॉक्टर सर्जरी की सलाह देते हैं। इस स्थिति में किडनी स्टोन हटाने की सर्जरी सबसे प्रभावी सर्जरी है। इस प्रक्रिया में, गुर्दे की पथरी को शल्य चिकित्सा द्वारा हटा दिया जाता है।


Doctor Consutation Free of Cost=

Disclaimer: GoMedii  एक डिजिटल हेल्थ केयर प्लेटफार्म है जो हेल्थ केयर की सभी आवश्यकताओं और सुविधाओं को आपस में जोड़ता है। GoMedii अपने पाठकों के लिए स्वास्थ्य समाचार, हेल्थ टिप्स और हेल्थ से जुडी सभी जानकारी ब्लोग्स के माध्यम से पहुंचाता है जिसको हेल्थ एक्सपर्ट्स एवँ डॉक्टर्स से वेरिफाइड किया जाता है । GoMedii ब्लॉग में पब्लिश होने वाली सभी सूचनाओं और तथ्यों को पूरी तरह से डॉक्टरों और स्वास्थ्य विशेषज्ञों द्वारा जांच और सत्यापन किया जाता है, इसी प्रकार जानकारी के स्रोत की पुष्टि भी होती है।