किडनी खराब होने का इलाज क्या है और कैसे जाने की किडनी डैमेज है?

GoMedii

ज्यादातर लोगों की मौत किडनी फेल होने से होती है। डीएनए इंडिया में प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक भारत में हर साल किडनी फेल होने के 2 लाख नए मामले दर्ज होते हैं। इस रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि इनमें से सिर्फ 1 फीसदी लोगों का ही किडनी ट्रांसप्लांट हो पाता है। ये आंकड़े वाकई में काफी चौकाने वाले हैं और ये भी दिखाते हैं कि किडनी की इस बीमारी के बारे में लोग कितना कम जानते हैं।  ऐसे में जरूरी है कि लोगों को किडनी की बीमारी के बारे में जानकारी दी जाए, ताकि वे इसके प्रति जागरूक हो सकें और सही समय पर इसका उचित इलाज करा सकें।

 

 

किडनी खराब होना का इलाज क्या है? (What is the treatment for kidney failure in Hindi)

 

 

किडनी तब खराब हो जाते हैं जब वे शरीर में मौजूद रक्त से विषाक्त पदार्थों को पर्याप्त रूप से फ़िल्टर करने में सक्षम नहीं होती हैं। अगर किडनी ठीक से काम नहीं करती है तो शरीर में टॉक्सिन्स की मात्रा बढ़ जाती है और इससे संतुलन बिगड़ जाता है। ऐसे में आप बीमार पड़ सकते हैं, यहां तक कि आपकी जान को भी खतरा हो सकता है। अगर आप किडनी को स्वस्थ रखना चाहते हैं तो आपको पता होना चाहिए कि ऐसे कौन से लक्षण हैं जो बताते हैं कि आपकी किडनी ठीक से काम नहीं कर रही है या इसके पीछे क्या कारण हैं। इन्हें जानकर आप सही समय पर समस्या का समाधान कर सकते हैं।

किडनी की बीमारी के लिए इलाज आमतौर पर रोग के अंतर्निहित कारण को नियंत्रित करने पर केंद्रित होता है। इसका मतलब है कि आपका डॉक्टर आपके रक्तचाप, रक्त शर्करा और कोलेस्ट्रॉल के स्तर को बेहतर ढंग से प्रबंधित करने में आपकी मदद करेगा। वे किडनी खराब होने पर इलाज के लिए निम्न में से एक या अधिक विधियों का उपयोग कर सकते हैं।

 

दवाएं

आपका डॉक्टर पहले कुछ दवाओं के माध्यम से बीमारी को ठीक करने की कोशिश करेंगे यदि दवाओं से आराम नहीं मिलता है तो वह इलाज के अन्य विकल्प का सुझाव देंगे।

 

डायलिसिस 

डायलिसिस रक्त को छानने की एक कृत्रिम प्रक्रिया है। इसका उपयोग तब किया जाता है जब किडनी फेल हो गई हो या फेल होने के करीब हो। लेट-स्टेज किडनी डिजीज वाले कई लोगों को स्थायी रूप से या डोनर की किडनी मिलने तक डायलिसिस पर जाना चाहिए।

 

  • हीमोडायलिसिस

 

  • पेरिटोनियल डायलिसिस

 

किडनी ट्रांसप्लांट

किडनी ट्रांसप्लांट द्वारा किडनी खराब का सबसे अच्छा इलाज किया जाता है। ऐसे में किडनी ट्रांसप्लांट के खर्च को लेकर लोगों के मन में कई तरह के संदेह हैं। कुछ लोगों को यह ट्रांसप्लांट प्रक्रिया बहुत महंगी लग सकती है और इसलिए वे इसे करने से कतराते हैं, लेकिन अगर उन्हें पता है कि किडनी ट्रांसप्लांट एक किफायती प्रक्रिया है। किडनी खराब होने के बाद इसे ठीक करने का एक मात्र और आखिरी विकल्प किडनी ट्रांसप्लांट ही है।

यदि आप डायलिसिस या ट्रांसप्लांट नहीं कराना चाहते हैं, तो किडनी खराब के इलाज का अंतिम तरीका चिकित्सा प्रबंधन है। यह किडनी खराब होने के बाद आपके शरीर को काम करने में मदद करता है, लेकिन तभी तक जब तक आपका शरीर ठीक से काम करने में सक्षम है। यह किडनी खराब होने पर इलाज नहीं करता है और आपको लंबे समय तक जीवित नहीं रख सकता है।

 

 

कैसे जाने की किडनी डैमेज है? (How to know if there is kidney damage in Hindi)

 

अगर आपकी किडनी ठीक से काम नहीं कर रही है तो आपका शरीर आपको कुछ संकेत देने लगता है, जिसे पहचान कर आप इस समस्या को समझ सकते हैं और समय रहते इसका इलाज करवा सकते हैं। यहां हम किडनी खराब होने के कुछ सामान्य लक्षण बता रहे हैं:

 

  • सांस लेने में परेशानी

 

 

  • थकान और सोने में परेशानी होना

 

  • लगातार मतली

 

  • पेशाब में खून आना

 

 

  •  वजन बढ़ना

 

  • बढ़ा हुआ रक्तचाप

 

  • जल प्रतिधारण, विशेष रूप से पैरों, टखनों और पैरों में

 

  • आंखों के आसपास लगातार मुंहासे

 

  • अधिक बार पेशाब करने की आवश्यकता महसूस होना

 

  • शरीर से अतिरिक्त पानी निकालने में किडनी की विफलता के कारण भूख में कमी

 

 

किडनी के इलाज के लिए बेस्ट हॉस्पिटल (Best hospital for kidney treatment in Hindi)

 

 

यदि आप किडनी का इलाज कराना चाहते हैं तो आप हमारे द्वारा बताए गए इनमें से कोई भी हॉस्पिटल में अपना इलाज करवा सकते हैं:

 

किडनी के इलाज के लिए दिल्ली के बेस्ट अस्पताल

 

  • बीएलके-मैक्स सुपर स्पेशलिटी अस्पताल, राजिंदर नगर, दिल्ली

 

  • इंद्रप्रस्थ अपोलो अस्पताल, सरिता विहार, दिल्ली

 

  • फोर्टिस हार्ट अस्पताल, ओखला, दिल्ली

 

  • मैक्स सुपर स्पेशलिटी अस्पताल, साकेत, दिल्ली

 

किडनी के इलाज के लिए गुरुग्राम के बेस्ट अस्पताल

 

  • नारायण सुपरस्पेशलिटी अस्पताल, गुरुग्राम

 

  • मेदांता द मेडिसिटी, गुरुग्राम

 

  • फोर्टिस हेल्थकेयर लिमिटेड, गुरुग्राम

 

  • पारस अस्पताल, गुरुग्राम

 

किडनी के इलाज के लिए ग्रेटर नोएडा के बेस्ट अस्पताल

 

  • शारदा अस्पताल, ग्रेटर नोएडा

 

  • यथार्थ अस्पताल, ग्रेटर नोएडा

 

  • बकसन अस्पताल, ग्रेटर नोएडा

 

  • जेआर अस्पताल, ग्रेटर नोएडा

 

  • प्रकाश अस्पताल, ग्रेटर नोएडा

 

  • दिव्य अस्पताल, ग्रेटर नोएडा

 

  • शांति अस्पताल, ग्रेटर नोएडा

 

किडनी के इलाज के लिए मेरठ के बेस्ट अस्पताल

 

  • सुभारती अस्पताल, मेरठ

 

  • आनंद अस्पताल, मेरठ

 

किडनी के इलाज के लिए हापुड़ के बेस्ट अस्पताल

 

  • शारदा अस्पताल, हापुड़

 

  • जीएस अस्पताल, हापुड़

 

  • बकसन अस्पताल, हापुड़

 

  • जेआर अस्पताल, हापुड़

 

  • प्रकाश अस्पताल, हापुड़

 

किडनी के इलाज के लिए कोलकाता के सबसे अच्छे अस्पताल

 

  • रवींद्रनाथ टैगोर इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ कार्डिएक साइंस, मुकुंदपुर, कोलकाता

 

किडनी के इलाज के लिए बैंगलोर के सबसे अच्छे अस्पताल

 

  • फोर्टिस अस्पताल, बन्नेरगट्टा रोड, बैंगलोर

 

  • अपोलो अस्पताल, बैंगलोर

 

किडनी के इलाज के लिए मुंबई के सबसे अच्छे अस्पताल

 

  • नानावटी सुपर स्पेशलिटी अस्पताल, विले पार्ले वेस्ट, मुंबई

 

  • लीलावती अस्पताल और अनुसंधान केंद्र, बांद्रा, मुंबई

 

किडनी के इलाज के लिए हैदराबाद के सबसे अच्छे अस्पताल

 

  • ग्लेनीगल्स ग्लोबल हॉस्पिटल्स, लकडी का पूल, हैदराबाद

 

किडनी के इलाज के लिए चेन्नई के सबसे अच्छे अस्पताल

 

  • अपोलो प्रोटॉन कैंसर सेंटर, चेन्नई

 

किडनी के इलाज के लिए अहमदाबाद के सबसे अच्छे अस्पताल

 

  • केयर इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज, सोला, अहमदाबाद

 

यदि आप इनमें से कोई अस्पताल में इलाज करवाना चाहते हैं तो हमसे व्हाट्सएप (+91 9654030724) पर संपर्क कर सकते हैं।

 

 

किडनी खराब होने के प्रकार (types of kidney failure in Hindi)

 

किडनी खराब होने के मुख्यत दो प्रकार होते हैं।

 

  • एक्यूट किडनी: जब किसी व्यक्ति की किडनी में रक्त का प्रवाह ठीक से नहीं हो पाता है, तो उस स्थिति को एक्यूट किडनी कहा जाता है। तीव्र किडनी रोग का उपचार तभी संभव है जब रक्त प्रवाह कम हो।

 

  • क्रोनिक किडनी: किडनी फेल होने का एक अन्य प्रकार क्रोनिक किडनी है। क्रोनिक किडनी रोग तब होता है जब किसी व्यक्ति को चोट लग जाती है जिससे किडनी ठीक से काम नहीं कर पाती है। क्रोनिक किडनी डिजीज का इलाज किडनी ट्रांसप्लांट से ही संभव है।

 

 

किडनी खराब क्यों होती है? (Why kidney damage in Hindi)

 

 

अगर आप अपने शरीर में हो रहे बदलावों पर ध्यान देंगे तो समय रहते आप इस बीमारी की चपेट में आ सकते हैं।

 

  • मधुमेह: मधुमेह भी किडनी की विफलता का एक कारण है। इसलिए सबसे ज्यादा किडनी फेल्योर डायबिटीज से पीड़ित मरीजों में होता है।

 

  • हाई ब्लड प्रेशर होना: कई बार हाई ब्लड प्रेशर से पीड़ित लोगों में किडनी की यह बीमारी हो जाती है।

 

  • ल्यूपस डिजीज: ल्यूपस रोग किडनी की विफलता का कारण बन सकता है। इसलिए ल्यूपस से पीड़ित व्यक्ति को डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।

 

  • अनुवांशिक कारण होने के कारण: किडनी की विफलता उस व्यक्ति में अधिक आम है जिसका पारिवारिक इतिहास है।

 

  • यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन: किडनी की यह बीमारी यूरिन इन्फेक्शन से पीड़ित लोगों को हो सकती है। यूरिन इन्फेक्शन से पीड़ित व्यक्ति का इलाज सही तरीके से करना चाहिए ताकि कोई बीमारी न हो।

 

 

डॉक्टर खराब किडनी का पता लगाने के लिए टेस्ट का सुझाव देते हैं? (Tests to diagnose damaged kidney in Hindi)

 

अगर कोई व्यक्ति की किडनी खराब है तो डॉक्टर इसका पता लगाने के लिए कुछ टेस्ट  5 तरीकों से इससे छुटकारा पा सकता है:

 

  • ब्लड टेस्ट: कभी-कभी डॉक्टर किडनी की विफलता के इलाज के लिए रक्त परीक्षण कर सकते हैं। रक्त परीक्षण के माध्यम से डॉक्टर यह पता लगाने की कोशिश करते हैं कि बीमारी ने किसी व्यक्ति के रक्त को कितना प्रभावित किया है।

 

  • यूरिन टेस्ट: मूत्र में किडनी की विफलता के प्रभावों का पता लगाना भी इस किडनी की बीमारी का इलाज करने का एक और तरीका है। इस कारण किडनी फेल्योर का भी यूरिन टेस्ट से इलाज किया जाता है।

 

  • एमआरआई या सीटी स्कैन : किडनी की बेहतर तस्वीर लेने के लिए अक्सर एमआरआई या सीटी स्कैन किया जाता है। इन टेस्ट से डॉक्टर किडनी में मौजूद ब्लॉकेज को देख सकते हैं और फिर उसका बेहतर इलाज कर सकते हैं।

 

यदि आप खराब किडनी का इलाज कराना चाहते हैं या इससे सम्बंधित किसी भी समस्या का इलाज कराना चाहते हैं, या कोई सवाल पूछना चाहते हैं तो यहाँ क्लिक करें। इसके अलावा आप प्ले स्टोर से हमारा ऐप डाउनलोड करके डॉक्टर से डायरेक्ट कंसल्ट कर सकता हैं। आप हमसे  व्हाट्सएप (+91 9654030724) पर भी संपर्क कर सकते हैं। इसके अलावा आप हमारी सेवाओं के संबंध में हमें Connect@gomedii.com पर ईमेल भी कर सकते हैं। हमारी टीम जल्द से जल्द आपसे संपर्क करेगी।

 
Doctor Consutation Free of Cost=

Disclaimer: GoMedii  एक डिजिटल हेल्थ केयर प्लेटफार्म है जो हेल्थ केयर की सभी आवश्यकताओं और सुविधाओं को आपस में जोड़ता है। GoMedii अपने पाठकों के लिए स्वास्थ्य समाचार, हेल्थ टिप्स और हेल्थ से जुडी सभी जानकारी ब्लोग्स के माध्यम से पहुंचाता है जिसको हेल्थ एक्सपर्ट्स एवँ डॉक्टर्स से वेरिफाइड किया जाता है । GoMedii ब्लॉग में पब्लिश होने वाली सभी सूचनाओं और तथ्यों को पूरी तरह से डॉक्टरों और स्वास्थ्य विशेषज्ञों द्वारा जांच और सत्यापन किया जाता है, इसी प्रकार जानकारी के स्रोत की पुष्टि भी होती है।